चित्तौड़गढ़ राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है

चित्तौड़गढ़: राज्यपाल कलराज मिश्र मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को  संबोधित करते हुए कहा कि सभी के मौलिक अधिकार है और इन मौलिक अधिकारों को लेकर अगर कहा जाए आपकी मौलिक जिम्मेदारी क्या है तो आप क्या सोचते है. उन्होंने कहा कि हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है. राज्यपाल मिश्र ने कहा कि मौलिक अधिकार के नाम पर जगह जगह हिंसा हो रहीं है. देश को क्षति पहुंचाई जा रही है, उन्होंने पूछा क्या यह मौलिक जिम्मेदारी का उलंघन नहीं है. 

पीएम मोदी ने प्रयागराज में बांटे उपकरण, कहा-नए भारत के निर्माण में हर दिव्यांग युवा-बच्चे की भागीदारी जरूरी

मेवाड़ यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह: 
राज्यपाल कलराज मिश्र शनिवार को चित्तौड़गढ़ के दौरे रहे है. राज्यपाल मिश्र ने चित्तौड़गढ़ के गंगरार में स्थित मेवाड़ यूनिवर्सिटी में आयोजित पांचवें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की. इससे पहले कलराज मिश्र शनिवार सुबह करीब 11.15 बजे मेवाड़ यूनिवर्सिटी में बने हैलीपेड़ पहुंचे. जहां से राज्यपाल कलराज मिश्र मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए रवाना हुए. राज्यपाल मिश्र ने मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह जाने से पहले दीक्षांत समारोह में परिधान भी पहने. 

संविधान की प्रस्तावना और आर्टिकल 51 पढ़ा:
दीक्षांत समारोह से पहले राज्यपाल कलराज मिश्र का मेवाड़ यूनिवर्सिटी के चैयरमेन, रजिस्ट्रार और डीन के साथ ग्रुप फोटो के साथ ही यूनिवर्सिटी के डीन सम्मान के साथ राज्यपाल मिश्र को दीक्षांत समारोह के मंच तक लेकर पहुंचे. जहां राष्ट्रगान के साथ दीक्षांत समारोह का शुभारंभ हुआ. इससे पहले राज्यपाल कलराज मिश्र ने सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जुलित कर माल्यार्पण किया.

कोरोना वायरस की वजह से शेयर बाजार को लगा झटका, निवेशकों को हुआ भारी नुकसान

इसके बाद राज्यपाल कलराज मिश्र ने संविधान की प्रस्तावना और आर्टिकल 51 पढ़ा और सभी ने दौहराया, दीक्षांत समारोह में विद्यार्थियों को डिग्रिया वितरित की गई. दीक्षांत समारोह को मेवाड़ यूनिवर्सिटी के चैयरमेन अशोक गदिया ने भी संबोधित किया. दीक्षांत समारोह में सांसद चंद्रप्रकाश जोशी, पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी भी मौजूद रहे.

और पढ़ें