अब महामहिम राज्यपाल नोहर की गाय का पियेंगे दूध

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/03 01:18

नोहर(हनुमानगढ़)। महामहिम राज्यपाल नोहर की गाय का दूध पियेंगे। जी हां, नोहर के पशु अनुसंधान केंद्र से राठी नस्ल की तैयार की हुई गाय सोमवार को राजभवन में भेजी जाएगी।

मिली जानकारी के अनुसार राठी नस्ल गाय का दूध स्वास्थ्य के लिए बेहद गुणकारी होता है। इसमें फेंट भी नहीं होता। इसी गुणवत्ता को देखते हुए वर्ष 2008 में नोहर के नस्ल सुधार केंद्र से राठी गाय राजभवन में भेजना का सिलसिला शुरू हुआ।

इस संबंध में पशु अनुसंधान केंद्र के पशु चिकित्सक डॉ. अदरीश भाटी ने बताया कि वर्ष 2016 में 363 नंबर गाय यहां से राज भवन भेजी गई। इसके बाद वर्ष 2017 में 450 और वर्ष 2018-19 यानि इस बार 411 नंबर गाय महामहिम राज्यपाल के लिए भेजी जाएगी।

उन्होंने बताया कि कल्याणसिंह के राज्यपाल बनने के बाद राठी गाय की मांग राज भवन में अधिक बढ़ी है। इस गाय का दूध बेदह गुणकारी होता है। खासकर बच्चों के लिए अधिक पौष्टिक होता है।

राज भवन से जारी हुए नई गाय के आदेश
महामहिम के लिए राठी नस्ल की गाय भेजने के आदेश हालही में राज भवन से जारी हुए हैं। मिली जानकारी के अनुसार आदेशों में बताया गया है कि पूर्व यहां जो राठी गाय थी उसने दूध देना कम कर दिया है। क्योंकि हाल ही में उसने एक अंधे बछड़े को जन्म दिया था। बछड़े के साथ ठीक से नहीं रिझने के कारण गाय ने दूध देना कम कर दिया। इस कारण राज भवन में दूसरी गाय मांगी गई है। 

नोहर में प्रदेश का एकमात्र केंद्र
राठी नस्ल तैयार करने का नोहर प्रदेश में एकमात्र केंद्र हैं। हालांकि बीकानेर के पास भी राठी नस्ल सुधार केंद्र हैं, लेकिन वहां कई प्रजातियां तैयारी की जाती है। नोहर में केवल राठी नस्ल पर अनुसंधान कर तैयार की जाती है। यहां प्राकृतिक तरीके राठी नस्ल को तैयार किया जाता है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in