जैसलमेर में टिड्डी का टेरर, जून-जुलाई और अगस्त में पाक से बड़े टिड्डी हमले की चेतावनी

जैसलमेर में टिड्डी का टेरर, जून-जुलाई और अगस्त में पाक से बड़े टिड्डी हमले की चेतावनी

जैसलमेर: भारत पाक सीमा से सटे सरहदी जिले में जैसलमेर में एक बार फिर टिड्डी के हमले होने शुरू हो गए जिससे एक बार फिर से टिड्डी को लेकर चिंता सताने लगी है की पिछले साल की भाति इस बार भी कहर ना बरपा दें. एक तरफ इस बार देश में कोरोना के कहर बरपाया हुआ है वहीं दूसरी तरफ टिड्डी दल फिर से अटैक कर रहे हैं. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना मौतों का दोहरा शतक ! पिछले 12 घंटे में 2 मौतें, 171 नए पॉजिटिव आए सामने

टिड्डी दल के हमले ने किसानों की चिंता को बढ़ा दिया: 
सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तान की सीमा से सटे इलाकों में टिड्डियों की आफत ने एक बार पुनः दस्तक दी है. जैसलमेर सीमा क्षेत्र धनाना की ओर से गत रविवार को आए टिड्डी दल का जैसलमेर एयरपोर्ट मार्ग पर पड़ा उड़ा ले जाने के बाद सफाया किया इसी दल से अलग हुए एक छोटे दल लाणेला गांव के पास पड़ाव किया था वहां भी उन नियंत्रण की कार्रवाई करने का दावा सरकारी तंत्र की ओर से किया है. टिड्डी चेतावनी संगठन के राजेश कुमार ने बताया जैसलमेर एयरपोर्ट मार्ग पर 3 गुना 4 किलोमीटर की लंबाई वाले दल पर नियंत्रण के लिए लगातार प्रयास किए गए , वहीं रामदेवरा ग्राम पंचायत टिड्डी दल के हमले ने किसानों की चिंता को बढ़ा दिया क्षेत्र में पेड़ पौधे वनस्पति किसानों के खेतों में खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं फिर की ढाणी के आसपास क्षेत्र में करीब 3 किलोमीटर की परिधि में बताया कि आसमान में उड़ता नजर आया.

पुलिसवाले ने ही की पुलिसवाले से ठगी, खुद का वीडियो बनाकर किया सोशल मीडिया पर वायरल 

टिड्डी अटैक से सरकार और जिला प्रसाशन चिंतित:
जैसलमेर में लगातार टिड्डी अटैक से सरकार और जिला प्रसाशन चिंतित है. राजस्थान में प्रवेश करने से पहले टिड्डियों के ये दल पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी भारी तबाही मचा चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र के फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन के मुताबिक, चार करोड़ की संख्या वाला टिड्डियों का एक दल 35 हजार लोगों के लिए पर्याप्त खाद्य को समाप्त कर सकता है. विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि जून में यह स्थिति और गंभीर हो सकती है. इस बार टिड्डी के कहर को खत्म करने के लिए विभाग दवरा पुख्ता इंतजाम किये है.

और पढ़ें