Gujjar Reservation:आरक्षण के मसले पर बैठक में तीन मांगें मानने की घोषणा

Gujjar Reservation:आरक्षण के मसले पर बैठक में तीन मांगें मानने की घोषणा

जयपुर: गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर गुरुवार को मंत्री अशोक चांदना के सरकारी आवास पर हुई बैठक में गुर्जर समाज की तीन मांगें मानने की घोषणा की गई. इस बैठक में मंत्री अशोक चांदना के अलावा मंत्री रघु शर्मा, प्रमुख सचिव गृह अभय कुमार और गायत्री राठौड़ मौजूद थे.

तीन मांगों को मानने की घोषणा कीः
जानकारी के अनुसार सरकारी आवास पर हुई बैठक के बाद  मंत्री अशोक चांदना और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने पत्रकार वार्ता में बताया कि गुर्जर नेताओं की तीन मांगों को माना गया है, जिनमें 1252 लोगों को नियमित पे स्केल देने, आंदोलन के दौरान जिन 3 गुर्जर समाज के लोगों को गोली लगी थी उनके परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने और गुर्जर समाज को 9वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए केन्द्र को फिर पत्र लिखना आदि शामिल हैं. हालाकि अभी तक  गुर्जर समाज के नेताओं की तरफ से मामले को लेकर कोई प्रतिक्रया नहीं आई है.

रघु शर्मा ने कहा-सरकार और कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगाः
उधर गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि बैंसला के मांग पत्र के हर बिंदु पर ध्यान में रखा गया है और सरकार कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगा. मंत्री रघु शर्मा ने बैंसला से अपील की है कि सरकार ने उनकी लगभग सभी मांगें पूरी कर दी है और अब आंदोलन करने का कोई कारण नजर नहीं आ रहा है. मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार के समय गुर्जरों पर गोलियां चलाई गई थी, लेकिन मौजूदा गहलोत सरकार ने उन पर लाठीचार्ज तक नहीं किया.उन्होंने कहा कि गुर्जर समाज की मांगों को लेकर हमारी सरकार तुरन्त कार्यवाही कर रही है, लेकिन केंद्र सरकार बीजेपी की है और प्रदेश में सभी सांसद भी उनके है. ऐसे में बीजेपी के सांसद भी केंद्र पर दबाव बनाए, जिससे 9वीं सूची में उनको भी शामिल किया जा सके.

और पढ़ें