गुर्जर आंदोलन के रणनीतिकारों ने बनाया सुरक्षा चक्र

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/11 10:40

अलवर। गुर्जर आरक्षण आंदोलन का आज चौथा दिन है और आंदोलनकारी ट्रैक पर जमें हैं। देश की राजधानी से आर्थिक राजधानी तक जाने वाला यह ट्रैक पूरी तरह बंद है। सरकार से एक दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन पटरी पर बैठे आंदोलनकारियों की बात अभी पटरी पर नहीं आई है। ऐसे में आंदोलन की रणनीति कारों ने एक सुरक्षा चक्र बनाया है।

मलारना स्टेशन के पास ट्रैक पर बैठे गुर्जर आंदोलनकारी 2 दिन से अव्यवस्थित चल रहे माहौल को व्यवस्थित करने में लगे हैं। अब पहले हुए आंदोलनों की तरह ही यहां भी सुरक्षा चक्र बना लिया गया है। आसपास में गुर्जर बाहुल्य गांव हैं उनके पंच पटेलों की बैठकें हो गई हैं, और अलग अलग गांव को अलग-अलग जिम्मेदारी दी जा रही है। बीते दिन एक लोकल कमेटी का गठन हो गया है जिसका अध्यक्ष जगदीश मलारना को बनाया गया है। खुद एडवोकेट शैलेंद्र गुर्जर और भूरा भगत कमेटी के काम काज को देख रहे हैं । कमेटी में अलग अलग दल बनाए गए हैं कुल 150 सदस्य कमेटी में है और उन्हें 24 घंटे ट्रैक पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। कुछ लोगों को गर्म कपड़ों ,कुछ को खाना बनाने, कुछ को पानी की उपलब्धता और कुछ महिलाओं की आवाजाही आसान करने और कुछ लोगों की टीम असामाजिक तत्वों को रोकने के लिए लगाई गई है

हर रात्रि में पेट्रोलिंग के लिये एक गांव की ड्यूटी लगाई जाती है जैसे बीती रात श्यामली गांव के पास ये जिम्मेदारी रही। बीते दिन का खाना हरकेश सरपंच की ओर से दिया गया तो आज का खाना धनोटी गांव की ओर से दिया जाएगा। ऐसे ही हर दिन में एक गांव की जिम्मेदारी और रात्रि में दूसरेगांव की जिम्मेदारी दी जा रही है। आंदोलन के ट्रैक पर आने वालों की जांच होना भी शुरु हो गई है। साफ निर्देश हैं की मीडिया को जांच के बाद आने दिया जाए इसके अलावा कोई भी सरकारी अधिकारी और कर्मचारी यहां नही आ सके। साफ तौर पर रात्रि में खास सुरक्षा तंत्र को मजबूत किया गया है। गांवो में भी लोगों को कह दिया गया है कि पुलिस या प्रशासन के वाहनों को आंदोलन स्थल की ओर नहीं आने दिया जाए। सुरक्षा तंत्र में सबसे पहले रास्तों में आने वाले गांवो को जिम्मेदारी दी है। उसके बाद आंदोलन स्थल पर भी 50-50 युवाओं की टोलियां लगाई गई हैं।

आंदोलनकारी यहां की रणनीति भले ही बाहर न जाने देने की कोशिश में हों पर बाहर से आने वाली हर सूचना पर इनकी नजर है। हर आंदोलनकारी चाहता है कि अच्छी खबर आई और जल्द आये।

...अश्विनी यादव फर्स्ट इंडिया न्यूज मलारना स्टेशन

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

इस बार का चुनाव होगा - Money Game !

मोदी के साथ - RSS का हाथ !
नियमों की धज्जियां उड़ा रही है नोएडा अथॉरिटी
पायलट का गढ़, मोदी की दहाड़ | #BIG_FIGHT LIVE
पुलवामा हमले पर पाक का चौतरफा विरोध !
वर्ल्ड कप से OUT होगा पाकिस्तान !
PM Narendra Modi Conferred With Seoul Peace Prize
सहारनपुर की देवबंद में जैश के दो आतंकी गिरफ्तार