भावनगर गुजरातः चुनाव में मिली जीत के जश्न में शामिल लोगों ने दलित पर किए तलवार से जानलेवा वार, पीड़ित की दर्दनाक मौत

गुजरातः चुनाव में मिली जीत के जश्न में शामिल लोगों ने दलित पर किए तलवार से जानलेवा वार, पीड़ित की दर्दनाक मौत

गुजरातः चुनाव में मिली जीत के जश्न में शामिल लोगों ने दलित पर किए तलवार से जानलेवा वार, पीड़ित की दर्दनाक मौत

भावनगर: गुजरात के भावनगर जिले से बेहद ही हैरतअंगेज खबर आ रही है, जहां सनोदर गांव में कांग्रेस प्रत्याशी की जीत के जश्न में शामिल कुछ लोगों ने एक दलित व्यक्ति की हत्या कर दी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राज्य में स्थानीय निकायों के लिए रविवार को हुए चुनावों के नतीजे मंगलवार को घोषित किए गए हैं. बताया जा रहा है कि किसी ने भीड़ पर पत्थर फेंके थे और भीड़ ने दलित के घर में घुसकर उस पर तलवार से वार किया था. 

उपचार के दौरान हुई पीड़ित की मौत

भावनगर एससी/एसटी प्रकोष्ठ के पुलिस उपाधीक्षक दिनेश कोडियाटर ने बताया है कि मृतक का नाम अमरभाई बोरिचा (50) था और वह घोघा तालुका के सनोदर का निवासी था. उन्होंने कहा है कि अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई है. हमले में घायल हुई बोरिचा की बेटी निर्मला ने संवाददाताओं से कहा है कि जीत के जश्न में आयोजित जुलुस का नेतृत्व वनराजसिंह गोहिल कर रहे थे.

मृतक की बेटी ने सुनाया हादसे का आंखों देखा हाल

गोहिल की पत्नी मनीषा घोघा तालुका पंचाचत में सनोदर सीट से कांग्रेस के टिकट पर विजयी हुई हैं. निर्मला ने कहा है कि गांव में एकमात्र हमारा परिवार ही दलित है. जब जुलूस जा रहा था, तब पत्थर फेंके गए और भीड़ हमारे घर में घुस आई तथा मेरे पिता और परिवार वालों को पीटा था. उन लोगों ने मेरे पिता पर तलवार से वार किया गया जिससे उनकी मौत हो गई है.

मामले की कार्यवाही जारी

निर्मला का कहना है कि मुझे भी इस घटना में चोट आई है. जिसके बाद उपाधीक्षक ने कहा है कि प्राथमिकी दर्ज कराने की प्रकिया जारी है. गौरतलब है कि जुलुस का नेतृत्व वनराजसिंह गोहिल कर रहे थे, जिनकी पत्नी मनीषा घोघा तालुका पंचाचत में सनोदर सीट से कांग्रेस के टिकट पर विजयी हुई थी. 

और पढ़ें