Live News »

अलवर गैंगरेप मामले में नेता प्रतिपक्ष ने बोला कांग्रेस सरकार पर बड़ा हमला

अलवर गैंगरेप मामले में नेता प्रतिपक्ष ने बोला कांग्रेस सरकार पर बड़ा हमला

उदयपुर। अलवर गैंगरेप मामले और प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था के मुद्धे पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया आज उदयपुर में मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्होंने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोला और नैतिकता के आधार पर सीएम से इस्तीफा देने की मांग की। 

अलवर गैंगरेप की घटना के बाद विपक्ष अब सरकार को पूरी तरह से घेरने के मूड़ में है और इस मुद्धे पर वो सरकार को बैक फूट पर करने की फिराक में हैं। इस को लेकर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया आज अपने गृह क्षेत्र उदयपुर में पत्रकारों से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्होने अलवर गैंगरेप को प्रदेश में लोकसभा चुनाव तक दबाए रखने पर सरकार पर जमकर निशाना साधा। 

कांग्रेस सरकार पर मामले को दबाने का आरोप
उन्होंने कहा कि इस तरह का कृत्य बिना किसी राजनैतिक दबाव के नहीं किया जा सकता है और कांग्रेस सरकार ने राजनीतिक नुकसान नहीं हो इसके लिए इस मामले को 6 मई तक दबाएं रखा। उन्होंने कहा कि सूबे के मुखिया के पास ही गृह मंत्रालय है। ऐसे में उन्हे नैतिकता के आधार पर अपना इस्तीफा दे देना चाहिए नहीं तो 23 मई को जनता खुद उनसे इस्तीफा ले लेंगी।

कांग्रेस सरकार में आपराधिक मामलों के आंकड़े पेश किए
कटारिया यही नहीं रूके उन्होंने मीडिया के सामने नई सरकार के कार्यकाल के दौरान बढ़े आपराधिक मामलों के आंकडे भी पेश किए। कटारिया ने आंकडे पेश करते हुए कहा कि डकैती, अपहरण, बलात्कार, नकबजनी महिला अत्याचार के मामले में  पिछले चार के मुकाबले बीते पांच महिनों में प्रदेश में 30 से 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई जो प्रदेश की खस्ताहाल कानून व्यवस्था को बया कर रही है। 

मामले को दबाने के लिए पुलिस पर दबाव बनाया
कटारिया ने कहा कि इस दौरान सबसे अधिक अपराध तो सूबे के मुखिया के गृह क्षेत्र जोधपुर में बढ़ा है और दूसरे नम्बर पर राजधानी जयपुर है। इस दौरान कटारिया ने कहा कि सीएम ने अलवर मामले पर अपनी चूप्पी तोड़ते हुए जो बयान दिया उसकी वो निंदा करते है। साथ ही उन्होंने कहा कि महज एसपी और थानाधिकारियों को एपीओ करने की कार्रवाई से यह मामला खत्म नहीं हो सकता है और इस मामले को दबाने के लिए पुलिस पर दबाव बनाने वालों की भूमिका को भी चिन्हित किया जाना चाहिए। 

....पंकज शर्मा फर्स्ट इंडिया न्यूज उदयपुर

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

उदयपुर: सोशल मीडीया पर कोरोना वायरस के संबध में फेक न्यूज चलाना शनिवार को 8 लोगों के लिए भारी पड गया. पुलिस ने फेक न्यूज वायरल करने और अफवाहों को फैलाकर माहौल खराब करने के मामले में 3 नाबालिगों समेत कुल 8 लोगो को गिरफ्तार किया हैं. गिरफ्तार किए गए लोगो में 3 ग्रुप एडमिन भी शामिल हैं. दरअसल जिले के ओगणा थाना इलाके में इन लोगो ने कोरोना वायरस संदिग्ध मिलने की फेक न्यूज वायरल की थी जिस पर जिला कलेक्टर आनंदी के आदेश पर पुलिस ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया. इस मौके पर पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई नें साफ किया है कि आमजन इस तरह की गलत और भ्रामक खबरों से बचे और इन्हे प्रसारित करने का माध्यम नहीं बनें.

CORONA: मिल गया कोरोना का तोड़, सुपर कंप्यूटर बना मददगार, दवा बनाने में मिलेगी मदद !

वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश, धंधे मे लिप्त 13 युवतियां गिरफ्तार 

वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश, धंधे मे लिप्त 13 युवतियां गिरफ्तार 

उदयपुर: प्रदेश के उदयपुर जिले में पुलिस ने मंगलवार को शहर के विभिन्न होटल्स और घरों से संचालित हो रहे वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश किया. शहर पुलिस की करीब आधे दर्जन से ज्यादा टीमों ने 5 थाना क्षैत्रों में विभिन्न होटल्स और घरों में दबिश दी. पुलिस ने इस कार्यवाही में 10 होटल्स संचालकों और जिस्म फरोशी के धंधे मे लिप्त 13 युवतियों को गिरफ्तार किया हैं.

कोरोना वायरस से जुड़ी बड़ी राहत की खबर, कोरोना से पीडित रहे दो मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज

वेश्यावृत्ति के लिए उदयपुर लाई गई थी युवतियां:
गिरफ्तार की गई युवतीयां देश के विभिन्न राज्यों की रहने वाली हैं और वेश्यावृत्ति के लिए उदयपुर लाई गई थी. वहीं पकडे गए होटल्स संचालको में दो महिलाएं भी शामिल है, 0जो घरों से वेश्यावृत्ति करा रही थी. पुलिस ने गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों से कडी पूछताछ शुरु कर दी हैं. आपको बता दे कि पुलिस की टीमो नें शहर के भूपालपुरा, सुखेर, सवीना,प्रतापनगर और हिरणमगरी थाना इलाकों में इन कार्रवाईयों को अंजाम दिया हैं.

कोरोना को लेकर CMO में सर्वदलीय बैठक, सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की दी गई जानकारी

उदयपुर: नाबालिग लड़की को अगवा कर तीन दिन तक दुष्कर्म का आरोप

उदयपुर: नाबालिग लड़की को अगवा कर तीन दिन तक दुष्कर्म का आरोप

उदयपुर: जिले के सायरा थाना क्षेत्र के पाबा गांव में एक नाबालिग को बंधक बनाकर बलात्कार करने का मामला सामने आया है. इस संबंध में 4 दिन पहले सायरा थाने में रिपोर्ट देने के बावजूद पुलिस ने मामला तो छोड़ो पीड़िता का मेडिकल तक नहीं करवाया. सोमवार को उसकी हालत बिगड़ने पर परिजन उसे गोगुन्दा हॉस्पिटल ले गए जहां तहरीर के अभाव में चिकित्सक ने भी एक बार इलाज नहीं किया और हालत बिगड़ ज्यादा बिगड़ने पर उसे इंजेक्शन लगाकर उदयपुर एमबी अस्पताल रेफर कर दिया.

बारां में 16 लोगों को माना कोरोना संदिग्ध, जिला अस्पताल में बदली व्यवस्था 

तीन दिन तक बंधक बनाकर दुष्कर्म करने का आरोप:
वहीं देर रात पुलिस अधीक्षक ने पीड़िता के बयान लिए. पीड़िता ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि वह अपनी बहन के साथ 9 मार्च को होली के दिन खरीदारी करने सायरा गई थी. रात को लौटते समय बरावली गांव में मेरकाखेत निवासी किरण पुत्र प्रकाश उसका भतीजा कैलाश पुत्र हुसा गरासिया ने उन्हें रोककर जबरन उन्हें अपने घर ले गए वहां 3 दिन तक बंधक बनाकर रखा. इस दौरान कैलाश ने उसके साथ बलात्कार किया. 12 मार्च को आरोपी पीड़िता को उसके घर से थोड़ी दूर पर छोड़कर भाग गया. 

VIDEO: कोरोना वायरस के चलते निगम चुनाव टलने की आशंका...लेकिन जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारियां 

पुलिस पर मामले को गंभीरता नहीं लेने का आरोप:
पीड़िता के घर पहुंचने पर पीड़िता की हालत देखकर परिजन उसी दिन उसे सायरा थाने लेकर पहुंचे. परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दी लेकिन पुलिस ने उसे गंभीरता से नहीं लिया. उन्होंने पीड़िता का मेडिकल तक नही करवाया न मामले में कोई कार्रवाई की. आपको बता बता दें कि सायरा थाने क का लैंडलाइन फोन बरसों से खराब पड़ा है. इस थाना क्षेत्र से डोडा चूरा की जमकर तस्करी होती है.लेकिन अधिकारी लैंडलाइन फोन को सही नहीं करवाते हैं जिससे आमजन भी परेशान है. 

मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट पर गुलाबचंद कटारिया ने दी तीखी प्रतिक्रिया, राजस्थान के लिए कहा...

मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट पर गुलाबचंद कटारिया ने दी तीखी प्रतिक्रिया, राजस्थान के लिए कहा...

उदयपुर: मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट के बीच राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया नें बड़ी और तीखी प्रतिक्रिया दी है. कटारिया नें साफ किया कि मध्यप्रदेश के बाद दूसरा नंबर अब महाराष्ट्र का आने वाला हैं. कटारिया नें कहा कि जिस तरह से शिव सेना नें सत्ता सुख के लिए विचारधारा को ताक में रखा, उससे राष्ट्रवादी विचारधारा वाले समर्थक खुश नही हैं.

ज्योतिरादित्य के BJP ज्वॉइन करने पर राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे ने दी प्रतिक्रिया, कही ये बात 

संकट को देखने वाली लिस्ट में राजस्थान तीसरे नंबर पर:
कटारिया नें साफ किया कि राजस्थान ऐसे सियासी संकट को देखने वाली लिस्ट में तीसरे नबंर पर हैं. नेता प्रतिपक्ष नें कहा कि शाहीन बाग और देश विरोधी घटनाओं के बीच राष्ट्रवादी विचार रखने वाले नेता अगर ऐसे आगे आते हैं तो देश के लिए अच्छा हैं.

जयपुर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर के वार्डों की निकली आरक्षण लॉटरी, चुनाव को लेकर सियायत तेज 

उदयपुर: देर रात नाबालिग किशोरी की गोलियों से भूनकर हत्या

उदयपुर: देर रात नाबालिग किशोरी की गोलियों से भूनकर हत्या

उदयपुर: जिले के मांडवा थाना इलाके में देर रात एक नाबालिग किशोरी की दो युवकों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी. आरोपी युवकों ने किशोरी के सीने पर करीब 4 से 5 गोलियां दागी. देसी कट्टे से फायरिंग करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. पुलिस के मुताबिक आरोपी बुझा गांव के हैं. 

आबकारी लाइसेंस आवेदन प्रक्रिया संपन्न, कल सुबह 11बजे जिला मुख्यालयों पर निकाली जाएगी लॉटरी 

परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े: 
मामले की जानकारी मिलते ही मांडवा थाना पुलिस के अलावा आसपास के थाना क्षेत्रों से भी पुलिस अधिकारी और पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा. पुलिस ने शव को मोर्चरी में शिफ्ट करा दिया है. पुलिस के आला अधिकारी और भारी पुलिस जाब्ता मौके पर तैनात है. हालांकि अभी तक किशोरी के परिजनों ने शव नहीं उठाया है और वे आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं. बताया जा रहा है कि 13 वर्षीय किशोरी काली कक्षा 10वीं की छात्रा थी. 

अंधविश्वास के चलते 4 माह के मासूम को गर्म सलाखों से दागा, हालत गंभीर 

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

कोटड़ा(उदयपुर): उदयपुर जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र कोटड़ा में राजीविका से जुड़ी महिलाएं अभी हर्बल गुलाल बनाने में लगी हुई है. होली के त्योहार को देखते हुए इन महिलाओं ने रोजाना एक क्विंटल से अधिक हर्बल गुलाल बनाया. इस गुलाल को बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. कोटड़ा तहसील के गोगरुद में राजीविका महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड की महिलाएं आगामी होली के त्योहार को लेकर फूलों से हर्बल गुलाल बना रही है.

holi Festival 2020: यहां जलाई जाती है उदयपुर संभाग की सबसे ऊंची होली, बेटी की तरह दी जाती है विदाई

स्वंय सहायता समूह की साठ महिलाये पिछले माह 27 फरवरी से यह हर्बल गुलाल बना रही है और प्रतिदिन एक क्विंटल से अधिक मात्रा में गुलाल का निर्माण कर रही है. वर्तमान में यह महिलाएं एक हजार किलो से अधिक गुलाल का निर्माण कर चुकी है. इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये प्रति किलो की दर से बेचा जा रहा है. महिलाओं द्वारा बनाये गए इस गुलाल की डिमांड हिमाचल प्रदेश,दिल्ली,कोलकाता,बिहार,महाराष्ट्र सहित राजस्थान के विभिन्न जिलों से आ चुकी है. 

ऐसे बनता है हर्बल गुलाल..
हर्बल गुलाल बनाने के लिए महिलाएं आस पास के जंगल से पलाश के फूल,रजके के पत्ते व अन्य फूलों की पत्तियां इकट्ठा करके लाती है. इसके बाद इनको साफ पानी से धोया जाता है और पानी में उबाला जाता है. इस मिश्रण को छानकर ठंडा करते है फिर इनमें अरारोट मिलाकर सुखाया जाता है और गुलाल का स्वरूप दिया जाता है. तीन दिन की इस प्रक्रिया में एक दिन फूल व पत्तियां बीनने में लगता है दूसरे दिन इन्हें पानी मे उबालकर तैयार करने में और तीसरा दिन इसे सुखाने में. यह गुलाल पूर्णतः प्राकृतिक होता है जो कि शरीर पर किसी प्रकार का नुकसान नही पहुंचाता है, जबकि बाजार में मिलने वाला गुलाल केमिकल युक्त होता है जो कि शरीर के लिए हानिकारक होता है.

बीकानेर में होली मनाने का अंदाज सबसे अलग, चंग की थाप पर रसिये गा रहे हैं फाल्गुनी गीत 

गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो:
स्वय सहायता समूह द्वारा बनाए गए इस गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो  आती है. वहीं इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. इस प्रकार प्रति किलो सौ रुपये की आय होती है. यह आय प्रगति महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड गोगरुद में जमा होगी, जिसे सभी सदस्यों में समान भाग में विभाजित कर दिया जाएगा. वहीं फूल बीनने वाली महिलाओं को ढाई सौ से तीन सौ रुपए तक मजदूरी दी जाती है.

उदयपुर: दो गुटों में आपसी विवाद के चलते दंपति की हत्या, 3 आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर: दो गुटों में आपसी विवाद के चलते दंपति की हत्या, 3 आरोपी गिरफ्तार

उदयपुर: आपसी रंजिश के चलते सोमवार को उदयपुर के खेरवाड़ा में दो गुटों में विवाद हो गया है. जिसमें दंपति की हत्या कर दी गई है. दो गुटों में आपसी  रंजिश के चलते चाकू और तलवारों से हमला किया गया है. जिसमें पति-पत्नी को उतारा मौत के घाट उतार दिया गया. सूचना मिलने पर ऋषभदेव थाना पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. यह मामला ऋषभदेव थाना क्षेत्र के घोड़ी गांव का है. जहां पर दो गुटों में विवाद हुआ. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. 

इटली में कोरोना का जबरदस्त कहर, एक ही दिन में हुई 133 की मौत, मृतकों की संख्या पहुंची 366

holi Festival 2020: यहां जलाई जाती है उदयपुर संभाग की सबसे ऊंची होली, बेटी की तरह दी जाती है विदाई

holi Festival 2020: यहां जलाई जाती है उदयपुर संभाग की सबसे ऊंची होली, बेटी की तरह दी जाती है विदाई

उदयपुर: पूरे भारत में होली का पर्व बेहद ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है. यह त्यौहार हर रंग में रंगों के साथ साथ खुशियों को भी लेकर आया है.इस पर्व को देशवासी अपने अलग अलग अंदाज में मना रहे हैं. कुछ इसी तरह होली के पर्व को मनाने की अनूठी परम्पराए राजस्थान के मेवाड़ में भी देखने को मिली है.

यहां कहीं तो बारूद की होली खेली जाती है तो कही अपनी संस्कृति और परंपरा के अनुरूप पर्व को मनाया जाता है ऐसी ही एक अनूठी होली का दहन उदयपुर के सेमारी तहसील के धनकवाड़ा ग्राम पंचायत में स्थित डेढ़ किलोमीटर ऊंचे करकेला धाम पहाड़ पर. जहां धार्मिक स्थल करकेला धूणी और मंदिर में  भी है. लोक मान्यताओं के मुताबिक होलीका इसी क्षेत्र की रहने वाली थी और जहां आज पहाड पर होली जलती है उसी स्थान पर वह भक्तराज प्रहलाद को अपनी गोद में लेकर आग में बैठी थी. 

बीकानेर में होली मनाने का अंदाज सबसे अलग, चंग की थाप पर रसिये गा रहे हैं फाल्गुनी गीत 

होलीका जल गई और भक्त प्रह्लाद बच गए:
भगवान विष्णु की माया के चलते होलीका जल गई और भक्त प्रह्लाद बच गए. ग्रामीण आदिवासी  मान्यताओं के मुताबिक  होलीका इस क्षेत्र की बेटी कहलाई इस लिए आसपास गांवों से हजारों की संख्या में हर वर्ग के लोग बेटी को विदाई का श्रीफल भेंट कर विदा करते है. आसपास के कई गांवों और आदिवासी पालों के लोग यहां नारियल व कपडा(ब्लाउजपीस) यहां होली के स्थान पर भेट करते है. इसी मान्यता के कारण करकेला धाम पर सैंकडों सालों से नारियल की होली का दहन किया जा रहा है. करकेला धाम क्षेत्र की प्रसिद्ध धूणी है, व गुफा है. 

होली के दर्शन से ही हो जाते है सभी दुख दर्द दूर:
पूर्णिमा के दिन हजारों श्रद्धालु दर्शनों के लिए पहूंचते है. लोगों में मान्यता है कि करकेला धाम की होली के दर्शन से ही सभी दुख दर्द दूर हो जाते है. नारियलों की होली के दहन के दौरान स्थानीय लोग जहां होली की परिक्रमा कर मन्नत मांगते है. वहीं सलूम्बर , सेमारी , सराड़ा ,खेरवाड़ा सहित अन्य जगह के श्रद्धालुगण करकेला होली के दर्शन कर पूर्णिमा का व्रत खोलते है. करीब डेढ किलोमीटर ऊंचाई पर आसपास के बारह गांवों के ढोल और कुण्डी अपनी लय जमाते है जिनकी ताल पर युवा,बुजुर्ग हाथों में लाठियां,तलवारों के साथ  जमकर गैर खेलते वहीं युवतियां लेजिम पर अपनी ताल जमाती है.  

देशवासियों पर चढ़ा होली के रंगों का खुमार, होलिका दहन आज

महिलाओं से अभद्रता करने वालों के खिलाफ कडे नियम:
यहां लोगों में सेवा की भावना एसी कि डेढ किलोमीटर पहाडी पर श्रद्धालुओं के लिए सिर पर पानी उठाकर ले जाते है, क्याकिं पहाड पर पीने के पानी की व्यवस्था नहीं है. आदिवासियों की प्रसिद्ध होलियों में से एक करकेला होली में आसपास की एक दर्जन से अधिक पालों के लोग शामिल होते है. यहां शराब पीकर पहूंचना,झगडा करना और महिलाओं से अभद्रता करने वालों के खिलाफ कडे नियमों के तहत सामाजिक व आर्थिक दण्ड दिया जाता है. यहां के पुजारी और  पालों के मुखिया( गमेती) मिलकर ग्रामीणों की सहमति से निर्णय लेते है. यह होली सेमारी और रिषभदेव दो तहसीलों की सीमा रेखा पर है. सराडा, सलूम्बर,सेमारी और रिषभदेव क्षेत्र में सबसे पहले होलीका दहन करकेला पर ही होता है इसके बाद अन्य गांवों में होली जलाई जाती है, हजारों की संख्या में आदिवासी पालों व ग्रामीण क्षेत्र के लोग इस अद्भूत दृश्य का आनन्द लेते है. 

...अनिल वैष्णव फर्स्ट इंडिया न्यूज़ उदयपुर

Open Covid-19