Live News »

गुलाबो ने पुष्कर मेले में नृत्य की प्रस्तुति देकर विदेशी पर्यटकों को किया अभिभूत
गुलाबो ने पुष्कर मेले में नृत्य की प्रस्तुति देकर विदेशी पर्यटकों को किया अभिभूत

पुष्कर(अजमेर): राजस्थान का गौरवमयी इतिहास है. सदियों पुरानी परंपराएं आज भी यहां अपने मूल रूप में हैं. अपनी आन बान और शान के लिए पहचाने जाने वाले इस प्रदेश की नृत्य परंपराएं भी पूरी दुनियां में लोकप्रिय हैं. हम बात कर रहे है आज फेमस सपेरा डांसर गुलाबो की जी हां यह वही गुलाबो है. गुलाबो की कहानी काफी डराने वाली है. पैदा होते ही इन्हें दफना दिया गया था. पर नियति को तो कुछ और ही मंजूर था. गुलाबो ने ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कालबेलिया नृत्य को पहचान दिलाई. कम लोगों को पता होगा कि इस कलाकार को पैदा होते ही समाज की महिलाओं ने जमीन में गाड़ दिया था. अपनी मौसी की बदौलत उन्हें एक नया जीवन मिला.

गुलाबो ने 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का संदेश दिया: 
जिस समाज की रीति-रिवाजों के चलते उन्हें पैदा होने के बाद जमीन में गाड़ दिया गया था उसी ने अपने सपेरे समाज को दुनिया में पहचान दिलाई. पुष्कर मेले में आई आयोजित कार्यक्रम में आई गुलाबो देसी विदेशी पर्यटकों को राजस्थानी सांस्कृति से रूबरू करवाने के लिए प्रख्यात कालबेलिया नृत्यांगना गुलाबो ने नृत्य की प्रस्तुति देकर विदेशी पर्यटकों को अभिभूत कर दिया. कार्यक्रम के दौरान गुलाबो ने एक से बढ़कर एक नृत्य की प्रस्तुतियां देकर खूब तालियां बटोरी. कार्यक्रम के दौरान गुलाबो ने संबोधित करते हुए 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का संदेश दिया. उन्होंने यह भी कहा कि मैं पुष्कर से निकली हूं जो कालबेलिया नृत्य को देश विदेश तक पहुंचाने के कार्य में लगी हुई हूं. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in