Live News »

गुरु पूर्णिमा: ये थे विश्व के 7 महान गुरु, अपने मार्गदर्शन से शिष्यों को भी बनाया महान

गुरु पूर्णिमा: ये थे विश्व के 7 महान गुरु, अपने मार्गदर्शन से शिष्यों को भी बनाया महान

जयपुर: गुरु पूर्णिमा का हिंदू धर्म में एक अलग ही महत्व होता है. इस दिन गुरुओं की पूजा की जाती है. आज ही के दिन महर्षि वेदव्यास का जन्म भी हुआ था, अतः इसे व्यास पूर्णिमा भी कहते हैं. पौराणिक काल से संबंधित ऐसी बहुत सी कथाएं सुनने को मिलती है जिससे यह पता चलता है कि किसी भी व्यक्ति को महान बनाने में गुरु का विशेष योगदान रहा है. गुरू के मार्गदर्शन के बिना शिष्य अधूरा रहता है. ऐसे में आज गुरु पूर्णिमा के अवसर पर हम आपको ऐसे 7 महान गरुओं के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने मार्गदर्शन ने अपने शिष्यों को महान बना दिया...

1. महर्षि वेदव्यास- धर्म ग्रंथों के अनुसार महर्षि वेदव्यास भगवान विष्णु के अवतार थे.  इनका पूरा नाम कृष्णद्वैपायन था. इन्होंने ने ही वेदों का विभाग किया. इसलिए इनका नाम वेदव्यास पड़ा. महाभारत जैसे श्रेष्ठ ग्रंथ की रचना भी महर्षि वेदव्यास ने ही की है. इनके पिता महर्षि पाराशर तथा माता सत्यवती थी. भारत भर में गुरु पूर्णिमा के दिन महर्षि व्यास की पूजा की जाती है.

2. परशुराम- परशुराम महान योद्धा व गुरु थे. ये जन्म से ब्राह्मण थे, लेकिन इनका स्वभाव क्षत्रियों जैसा था. धर्म ग्रंथों के अनुसार ये भगवान विष्णु के अंशावतार थे. इन्होंने भगवान शिव से अस्त्र-शस्त्र की शिक्षा प्राप्त की थी. इनके पिता का नाम जमदग्रि तथा माता का नाम रेणुका था. इनके पिता की हत्या कार्तवीर्य अर्जुन के पुत्रों ने की थी. अपने पिता की मृत्यु का बदला लेने के लिए इन्होंने कई बार धरती को क्षत्रिय विहीन कर दिया था. 

3. आदि गुरु शंकराचार्य- इनका जन्म केरल के कालंडी गांव में हुआ था. इनके पिता शिव गुरु और माता का नाम सुभद्र था. छोटी सी उम्र में ही आदि शंकराचार्य के ऊपर से पिता का साया उठ गया था. माता द्वारा उन्हें शिक्षा प्राप्ति के लिए गुरुकुल भेजा गया. गुरुकुल में उनके गुरुजन उनका ज्ञान देखकर हैरान रह गए. उन्हें विश्वास नहीं हुआ कि शंकराचार्य को पहले से ही सभी धर्मग्रथं, वेद, पुराण, उपनिषद का ज्ञान था. 

4. द्रोणाचार्य- द्रोणाचार्य द्वापरयुग के महान गुरु थे. द्रोणाचार्य महान धनुर्धर थे. उन्होंने ही कौरव व पांडवों को अस्त्र-शस्त्र की शिक्षा दी थी. महाभारत के अनुसार द्रोणाचार्य देवगुरु बृहस्पति के अंशावतार थे. इनके पिता का नाम महर्षि भरद्वाज था. एक दिन महर्षि भरद्वाज गंगा स्नान करने गए थे. वहां उन्होंने देखा कि घृताची नामक अप्सरा स्नान करके जल से निकल रही है. उसे देखकर उनके मन में काम-वासना जाग उठी और उनका वीर्य स्खलित होने लगा. तब उन्होंने उस वीर्य को द्रोण नामक यज्ञ पात्र में रख दिया. उसी से द्रोणाचार्य का जन्म हुआ. द्रोण ने सारे वेदों का अध्ययन किया. महर्षि भरद्वाज ने पहले ही आग्नेयास्त्र की शिक्षा अग्निवेश्य को दे दी थी. अपने गुरु भरद्वाज की आज्ञा से अग्निवेश्य ने द्रोणाचार्य को आग्नेयास्त्र की शिक्षा दी. द्रोणाचार्य का विवाह शरद्वान की पुत्री कृपी से हुआ था. इनके पुत्र का नाम अश्वत्थामा था. महान धनुर्धर अर्जुन इनका प्रिय शिष्य था. 

5. आचार्य चाणक्य- आचार्य चाणक्य का नाम भी महान गुरुओं में लिया जाता है. आचार्य चाणक्य ने अपनी कूटनीति के बल पर एक अखंड भारत का निर्माण किया था. आचार्य चाणक्य का मूल नाम विष्णुगुप्त था. इन्हें कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है. इनके पिता का नाम चणक था, जो पाटलिपुत्र (वर्तमान पटना) में छात्रों को शिक्षा प्रदान करते थे. चाणक्य ने तक्षशिला में राजनीति व अर्थशास्त्र की शिक्षा प्राप्त की और वहीं आचार्य बनकर छात्रों को शिक्षा देने लगे. 

जब सिकंदर ने भारत पर आक्रमण किया तब आचार्य चाणक्य ने भारत के गणराज्यों को एकत्रित होकर उसके साथ युद्ध करने के लिए प्रेरित किया, लेकिन ये संभव न हो सका. तब चाणक्य ने संपूर्ण भारत वर्ष को एक राष्ट्र के रूप में संगठित करने के लिए कूटनीति का सहारा लिया और अपने अथक प्रयासों से चंद्रगुप्त मौर्य को भारत का एकछत्र सम्राट बनाया. आचार्य चाणक्य की नीतियां आज भी प्रासंगिक हैं. कौटिल्य का अर्थशास्त्र इनकी महान रचना है. 

6. श्री कृष्ण- श्री कृष्ण ने महाभारत के समय अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया था. जब अर्जुन युद्ध भूमि में हार मान गए थे और अपने सगे संबंधियों के सामने हथियार चलाने से मना कर दिया था, तब श्री कृष्ण ने ही अर्जुन को हिम्मत देकर जिंदगी का पाठ पढ़ाया था. 

7. ब्रह्मर्षि विश्वामित्र- ऋषि विश्वामित्र बड़े ही प्रतापी और तेजस्वी महापुरुष थे. ऋषि धर्म ग्रहण करने के पूर्व वे बड़े पराक्रमी और प्रजावत्सल राजा थे. धर्म ग्रंथों के अनुसार विश्वामित्र जन्म से क्षत्रिय थे, लेकिन इनकी घोर तपस्या से प्रसन्न भगवान ब्रह्मा ने इन्हें ब्रह्मर्षि का पद प्रदान किया. इनके पिता का नाम राजा गाधि था. राजा गाधि की पुत्री सत्यवती का विवाह महर्षि भृगु के पुत्र ऋचिक से हुआ था. विवाह के बाद सत्यवती ने अपने ससुर महर्षि भृगु से अपने व अपनी माता के लिए पुत्र की याचना की.

तब महर्षि भृगु ने सत्यवती को दो फल दिए और कहा कि ऋतु स्नान के बाद तुम गूलर के वृक्ष का तथा तुम्हारी माता पीपल के वृक्ष का आलिंगन करने के बाद ये फल खा लेना. किंतु सत्यवती व उनकी मां ने भूलवश इस काम में गलती कर दी. यह बात महर्षि भृगु को पता चल गई. तब उन्होंने सत्यवती से कहा कि तूने गलत वृक्ष का आलिंगन किया है. इसलिए तेरा पुत्र ब्राह्मण होने पर भी क्षत्रिय गुणों वाला रहेगा और तेरी माता का पुत्र क्षत्रिय होने पर भी ब्राह्मणों की तरह आचरण करेगा.

यही कारण था कि क्षत्रिय होने के बाद भी विश्वामित्र ने ब्रह्मर्षि का पद प्राप्त किया. अपने यज्ञ को पूर्ण करने के लिए ऋषि विश्वामित्र श्रीराम व लक्ष्मण को अपने साथ वन में ले गए थे, जहां उन्होंने श्रीराम को अनेक दिव्यास्त्र प्रदान किए थे. रामचरितमानस के अनुसार भगवान श्रीराम को सीता स्वयंवर में ऋषि विश्वामित्र ही लेकर गए थे. 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

Horoscope Today, 20 September 2020: आज का दिन इन राशि वालों के लिए है शुभ, मिलेगी सफलता

Horoscope Today, 20 September 2020: आज का दिन इन राशि वालों के लिए है शुभ, मिलेगी सफलता

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं.  

मेष( Aries): रविवार के बावजूद आज के दिन आपको आराम करने के लिए दिल गवाही नहीं देगा. हो सकता है सुबह-सबेरे ही कोई ऐसा भूलाभटका काम आपको याद आ जाए जिसके लिए आप अपना पूरा दिन समर्पित कर सकते हैं. बिजनस अथवा कारोबार के सिलसिले में किसी व्यक्ति विशेष से सांयकाल के समय मिल लेना बेहतर रहेगा.
 
वृष(Taurus):
आज के दिन आप खुद में सहनशीलता और दूसरों की मदद करने का जज्बा पैदा करने में कामयाब हो सकते हैं. इसी कारण आपके जीवन में पहले से अधिक जगमगाहट और रोशनी आ सकती है जिसके आगे आपकी सहनशीलता और उदार मनोवृति झलक रही हो. वैसे भी आपके अन्दर लोकप्रियता और समाज सेवा के कई गुण मौजूद हैं जिनके बल पर लोग अपने आपको श्रेष्ठ साबित करते हैं.

{related}

मिथुन(Gemini): आज के दिन आप किसी पुराने सम्बन्ध का नवीनीकरण कर सकते हैं. कुछ व्यक्तिगत और सामाजिक उत्तरदायित्व भी आपको पूरे करने होंगे. दोपहर के बाद किसी पारिवारिक समारोह या उत्सव में शामिल होना पड़ सकता है. वैसे भी आजकल त्यौहारों के मौसम चल रहे हैं. अत: दिल खोलकर इनके साथ अपने को भी जोड़ लें। एक नई ताकत आपके अन्दर आ सकती है.

कर्क(Cancer): कोई प्रियजन या नजदीकी दोस्त आज आपको बहसबाजी या विवाद में उलझा सकता है. यदि आप अपने मिजाज को सन्तुलित नहीं रखेंगे तो बहसबाजी या आरोप-प्रत्यारोप बढ़ सकते हैं. ऐसा वातावरण आपकी छुट्टी को खराब ही करेगा. अत: पहले से ही यह सोचकर चलें कि आपका इनसे ज्यादा लगाव नहीं है.

सिंह(Leo): आज आपके फुर्सत और आराम क्षणों को कोई प्रियजन खराब कर सकता है. हो सकता है उसकी जरूरत और मांग को पूरा करने के लिए आपको अपनी जेब भी ढीली करनी पड़े. यदि आप उसे कुछ लेन-देन के फेर में डाल देंगे तो फिर आगे चलकर उससे पीछा छुड़ाना भारी पड़ेगा. हालात देखकर काम करें.

कन्या(Virgo): आज के दिन यदि आप अपने विरूद्ध कोई बात किसी से सुनते हैं तो उस पर अधिक गौर नहीं करें. उस व्यक्ति का भी विश्वास न करें जो आपको एक नई मुसीबत में डालने की कोशिश कर रहा है. कूटनीति और चाटूकारिता के परिणाम कभी-कभी बहुत गंभीर भी हो जाते हैं. यदि आप किसी अच्छे खान-पान की तलाश कर रहे हैं तो नजदीकी क्लब या रेस्तरां में जाना बेहतर होगा.

तुला(Libra): अपने घर-परिवार और जीवन शैली को अच्छे स्तर पर लाने में आप सदैव प्रयत्नशील रहे हैं. आज के दिन भी आपको किसी पुराने मसले पर फिर से विचार करके अपने घर की साज-सज्जा और डेकोरेशन को दुरूस्त करनी होगी. अपने द्वारा किए गए महत्वपूर्ण कार्य को नियमित रूप से अमल करने में दूसरों की मदद ले सकते हैं.

वृश्चिक(Scorpio): आज के दिन का पूरा समय आपको अपनी दैहिक यानी शारीरिक इच्छा की पूर्ति करने में व्यतीत होगा. विपरीत योनि का कोई वरिष्ठ व्यक्ति आपसे प्रेम या प्यार का निवेदन कर सकता है. यदि आपके अन्दर कुछ रोमांस पैदा हो रहा तो सम्बन्ध आगे बढ़ाने में आप खुले दिल से तैयार हो सकते हैं. ऐसे सम्बन्ध आपके लिए भी टॉनिक का काम करेंगे.

धनु(Sagittarius): वक्त पर कोई महत्वपूर्ण काम पूरा कर लेना आपके लिए हमेशा ही जरूरी होता है. अवकाश के दिन भी आप कुछ न कुछ ऐसे काम को अंजाम दे देते हैं जो आगे चलकर आपको राहत और फुर्सत के क्षण दे देता है. अपने चल और अचल सम्पत्ति का रखरखाव करने में आपका रविवार बखूबी इस्तेमाल हो जाएगा.

मकर(Capricorn): किसी हाई प्रोफाइल व्यक्ति के सम्पर्क से आपकी प्रगति और उन्नति की संभावनाएं बहुत ही मजबूत हो रही हैं. आज के दिन भी आपको ऐसे सम्पर्कों पर कुछ पानी और डाल देना चाहिए यानी कि इन पर अपनी तरफ से उपहार और भेंट आदि देकर आगे के लिए छिटपुट लाभ मार्ग भी खोजने चाहिए.

कुंभ(Aquarius ): अपने काम को निकालने के लिए आपको युक्ति, कूटनीति और उदारतापूर्वक दान-पुण्य करने का मौका भी निकालना होगा. आज के दिन भी कुछ ऐसी ही आध्यात्मिक प्रेरणा आपको धन-व्यय करने में तत्पर बना सकती है. यदि आप अपने परिजनों के साथ कहीं पर कोई मनोरंजन या मौजमस्ती करना चाहें तो भी दिन का उत्तरार्ध भाग अनुकूल साबित होगा.

मीन(Pisces): आज के दिन आपको पूरी तरह आराम और विश्राम करना होगा. अच्छा समय हमेशा ही एक ही रूप लेकर नहीं आता है. वक्त के मिजाज में बदलाव होते रहते हैं यदि आप भी इसी बदलाव से प्रभावित हो रहे हैं तो आपको सन्तोष और सुख की अनुभूति मिलनी चाहिए. यदि आप और भी अच्छा वक्त देखना चाहें तो इंतजार करना होगा.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

20 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

20 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

शुभ मास- प्रथम आश्विनी (अधिक ) शुक्ल पक्ष: 
शुभ तिथि चतुर्थी रिक्ता संज्ञक तिथि रात्रि  2 बजकर 27 मिनट तक तत्पश्चात पंचमी तिथि रहेगी. चतुर्थी तिथि में अग्नि,विषादिक असद कार्य,शत्रु मर्दन,इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है. शुभ और मांगलिक कार्य वर्जित है. चतुर्थी तिथि में जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान ,भाग्यवान ,पराक्रमी  होते है.

शुभ नक्षत्र स्वाति नक्षत्र रात्रि 10 बजकर 52 मिनट तक तत्पश्चात विशाखा नक्षत्र रहेगा.स्वाति नक्षत्र मे यदि तिथि शुभ हो तो यात्रा,विवाह, गृह प्रवेश, मांगलिक कार्य  इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है. स्वाति नक्षत्र मे जन्मा जातक मेघावी,विलासप्रिय ,धनवान, बुद्धिमान होता है.  

चन्द्रमा-सम्पूर्ण दिन ‎तुला  राशि में संचार करेगा.
व्रतोत्सव -  चतुर्थी  व्रत

राहुकाल -सायंकाल 4.30 बजे से 6 बजे तक

दिशाशूल - रविवार को पश्चिम दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से घी-दलिया खा कर निकले.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Horoscope Today, 18 September 2020: आज इन राशियों के लिए बन रहा है शुभ योग, करे ये उपाय

Horoscope Today, 18 September 2020: आज इन राशियों के लिए बन रहा है शुभ योग, करे ये उपाय

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं.  

{related}

मेष( Aries): आज आपका दिन मध्यम रहेगा। दफ्तर और घर में आज खुद को कड़वी या जरूरत से ज्यादा बात सुनने के लिए तैयार रखें. समय के प्रवाह के साथ रहें, जो जैसा होता है, होने दें. अपनी भावनाओं को, अपने मन में आते शब्दों को नियंत्रण में रखें. आज के दिन कि सफलता के लिये केले के पौधे के पास शुद्ध घी का दीपक जलाये.  

वृष(Taurus): आज का दिन शुभ फल देने वाला रहेगा. भाग्य का साथ मिलेगा. मेहनत करना पड़ सकती है,  लेकिन काम अच्छा रहेगा. रुका धन मिलने में थोड़ा टाइम और लग सकता है. पारिवारिक सुख व संतोष रहेगा. व्यापार में प्रगति के योग हैं. आज के दिन की सफलता के लिए छोटी कन्या के चरण छू कर दिन की शुरुआत करे. 

मिथुन(Gemini): नए विचारों और नई दृष्टि की जरूरत आप महसूस कर सकते हैं. आज कुछ नया करें, जो भी करेंगे आपको परेशान नहीं होना पड़ेगा. आज आप मेहनत से सफलता प्राप्त करेंगे. किस्मत का साथ मिलेगा. धन लाभ होगा. आज के दिन की सफलता के लिए छोटी कन्या को लिखने की सामग्री भेंट करें. 

कर्क(Cancer): आज के सितारे आपके लिए शुभ रहेंगे. आज दृढ़ निश्चय व बुद्धि के  कौशल से सारे काम बनते रहेंगे. आज व्यापार और कार्यक्षेत्र में मनोनुकूल लाभ होगा. आज आप दूसरों के साथ विवाद-झंझट या झगड़े में फंसने से बचें. आज के दिन की सफलता के लिए भगवान गणेश जी को दूर्वा चढ़ा कर दिन की शुरुआत करे.  

सिंह(Leo):  आज आप जीवन की गति में तेजी आती महसूस करेंगे. अपने लक्ष्यों के लिए आप बेहद उत्सुक हो सकते हैं और समय भी आपके पक्ष में ही रहेगा. जहां, जैसा प्रयास करेंगे, थोड़ी अतिरिक्त कोशिश के बाद सफल हो जाएंगे. हाथ आई चीज उंगलियों के बीच से फिसल भी जाती है. आज के दिन की सफलता के लिए माता के मन्दिर में चुनरी और श्रृंगार सामग्री चढ़ाये. 

कन्या(Virgo): पैसों की स्थिति में सुधार आने की संभावना बहुत अच्छी है और जल्द ही आपको धन कमाने के नए अवसर मिलेंगे. आज आपकी विनम्रता और आपकी व्यवहार कुशलता शुभ फल देगी. पैसा कमाने में कोई शॉर्टकट नहीं ले अन्यथा उलझ सकते हैं. आज के दिन की सफलता के लिए किसी जरूरतमंद को दवाईओ का दान करे. 

तुला(Libra): आज का दिन आपके लिये ज्यादा शुभ परिणाम देने वाला नही रहेगा.  रोजमर्रा के काम पूरे होने में कठीनाई आ सकती हैं. कामकाज में टेंशन रहेगा. आप अपने काम से ही सरोकार रखें, और स्वयं को प्रसन्न बनाए रखने की भी कोशिश करें. अति आत्मविश्वास से आज बचे. आज के दिन की सफलता के लिए माता के मंदिर मे छोटी कन्याओं को नारियल और दक्षिणा भेंट करे. 

वृश्चिक(Scorpio): आज आप समझदारी से काम लें, तो नौकरी-धंधे में बड़ी तरक्की का रास्ता खुल सकता है. हर क्षेत्र में सम्मान मिलेगा. दिनचर्या व्यस्त एवं व्यवस्थित रहेगी. व्यापार में लाभदायी अनुबंध होंगे. स्वास्थ्य पर आज ध्यान देना जरुरी रहेगा. बोलते समय आज काफी सावधानी बरतने की जरूरत है. आपके मुख से निकली कोई गलत बात आपके लिए बड़ी समस्या खड़ी कर सकती है. आज के दिन की सफलता के लिए गणेश मंदिर मे लड्डू का भोग लगाये. 

धनु(Sagittarius): आज का दिन आपको राहत देगा. अटका पैसा मिलेगा. व्यापार अच्छा चलेगा. आज आपकी दैनिक आय बढ़ेगी. दिन भर व्यस्तता रहेगी. अधिकारी आपकी बातों को महत्व देगें. कार्यक्षेत्र में मान सम्मान मिलेगा. मौसमी बिमारिओ से बचना ठीक रहेगा. आज किसी को उधार देने की भूल न करें आपका पैसा बहुत ही मुश्किल से वापस आएगा. आज के दिन की सफलता के लिए बैल को गुड और हरा चारा खिलाये. 

मकर(Capricorn): आज का दिन काफी प्रॉडक्टिव है. आज आप नौकरी-व्यापार क्षेत्र मे सफलता प्राप्त होगी. पिछले दिनों से चली आ रही समस्याएं कम होंगी. नौकरी में हालात सुधरेंगे. जोखिम के काम आज टाल दें. आज ज्यादा आक्रामक या उग्र ना हो, विवाद हो सकता है. आज के दिन कि सफलता के लिये चीटियों को आटा खिलाये. 

कुंभ(Aquarius): आज आपके दिन की शुरुआत अच्छी रहेगी. आपकी सकारात्मकता समय को भी सकारात्मक बनाए रखेगी. वरिष्ठ अधिकारियों से सम्बन्ध अच्छे रहेंगे.  नौकरी-व्यापार के क्षेत्र मे आज सफलता मिलेगी. अपने इरादों का जिक्र किसी से न करें. आज के दिन कि सफलता के लिये शिव मंदिर मे माँ गौरी को चुनरी अर्पण करे. 

मीन(Pisces): आज का दिन आपके लिए शुभ रहेगा. खुद पर भरोसा करें और आगे बढ़कर सारे काम करे. योजनाओं में सफलता मिलेगी. क्रोध आज आपका दुश्मन हैं. इसे काबू में रखें, फिर देखें कि कैसे छोटी-छोटी सफलताएं आपको आगे से आगे बढ़ाती ले जाएंगी. आज के दिन की सफलता के लिए किसी ग़रीब कन्या को मीठा परांठा खिलाये. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

18 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

18 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

{related}

शुभ मास- प्रथम आश्विनी (अधिक) शुक्ल पक्ष  
शुभ तिथि प्रतिपदा नन्दा संज्ञक तिथि दोपहर 12 बजकर 51 मिनट तक तत्पश्चात द्वितीय तिथि रहेगी. अधिक मास कि प्रतिपदा तिथि को देवी पूजन कार्यो को छोड़ कर सभी शुभ कार्यो वर्जित माने गए हैं. प्रतिपदा तिथि मे जन्मे जातक धनवान, बुद्धिवान, सुखी,धर्मपरायण होते हैं. 

उत्तर फाल्गुनी " ध्रुव व उर्ध्वमुख " संज्ञक प्रातः 7  बजकर 28 मिनट तक तत्पश्चात हस्त नक्षत्र  रहेगा. उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र मे विवाह गृह प्रवेश, यज्ञोपवीत, इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते हैं. उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र मे जन्मा जातक विलासप्रिय, निपुण, धनवान, बुद्धिमान होता है.

चन्द्रमा - सम्पूर्ण दिन कन्या राशि में संचार करेगा.

व्रतोत्सव - आश्विन अधिक मास प्रारंभ

राहुकाल - प्रातः 10.30 बजे से 12 बजे तक

दिशाशूल - शुक्रवार को पश्चिम दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से जौ खा कर निकले.

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से पूर्वाह्न 10.50 तक लाभ, अमृत का, दोपहर 12.21 मिनट से  1.52 तक शुभ का ,सायं 4.54 से सूर्यास्त तक चर का चौघड़िया

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Horoscope Today, 17 September 2020: आज इन राशि वालों का बदलेगा भाग्य, करे ये उपाय

Horoscope Today, 17 September 2020: आज इन राशि वालों का बदलेगा भाग्य, करे ये उपाय

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं.  

{related}

मेष (Aries): आज आपके लिए दिन अच्छा है. अपने दिन को सफ़ल बनाने के लिए आपको टाइम मैनेजमेंट का फंडा अपनाना पड़ेगा. सोचे हुए काम आज ही पूरे कर लें तो आपके लिए अच्छा होगा. आज के दिन की सफलता के लिए लाल चन्दन का तिलक लगा कर घर से निकले. 

वृष ( Taurus): आज आप अपने कामकाज में बहुत हद तक सफल हो सकते हैं. पिछले कुछ दिनों से कोई उलझी हुई जटिल स्थिति आज पूरी तरफ सुलझ सकती है.  जल्दबाजी के कारण भी नुकसान हो सकता है. आज के दिन की सफलता के लिए विष्णु मंदिर  मे दूध का दान करें. 

मिथुन ( Gemini): आज कारोबार में व्यस्तता बढ़ सकती है. अधिकारी आपकी बातों को तवज्जो देंगे. कार्यक्षेत्र में मान सम्मान के योग हैं. स्टूडेंट्स के लिए समय अच्छा रहेगा. आज के  दिन की सफलता के लिए प्रातः पितरों के नाम का घी का दीपक जलाये.  

कर्क ( Cancer):  आज कामकाज में किसी तरह का संदेह हो तो ऐसे काम न करें. आपको कई मामलों की जिम्मेदारी संभालनी पड़ सकती हैं और उनकी चिंता भी करनी होगी. दूसरों पर तानाकशी से बचें।आज के दिन की सफलता के लिए विष्णु मंदिर में कमल पुष्प अर्पण करे. 

सिंह ( Leo): आज कई दिनों से चला आ रहा तनाव खत्म होने के योग हैं. अधूरे और रुके हुए काम निपटाने के लिए दिन ठीक है. रोजमर्रा के कामकाज से फायदा हो सकता है. सामाजिक कामों में आपको सफलता मिल सकती है. आज के दिन की सफलता के लिए आज के दिन अनाथाश्रम मे फलों का दान करें. 

कन्या ( Virgo): आज आपका दिन मिश्रित फल देने वाला रहेगा. आपके कामों में दूसरे लोगों की दखल अंदाजी हो सकती है. कुछ काम अधूरे रह सकते हैं. जरूरत से ज्यादा खर्च करने से बचें. आज के दिन की सफलता के लिए बिल्वपत्र के पेड़ में जल चढ़ाएं. 

तुला ( Libra): आज अपने कार्य में तेजी लाएं. आगे बढ़ने के लिए आपको एक से ज्यादा मौके मिलने की संभावना है. आज की जिम्मेदारी कल पर न छोड़ें. आय और व्यय का संतुलन बनाकर चलें. आज के दिन की सफलता के लिए छत पर या घर के बाहर पशु-पक्षियों के लिए पीने का पानी रखें. 

वृश्चिक ( Scorpio): आज गंभीरता से की गई चर्चा से कुछ खास मामले सुलझने के योग हैं. कार्यक्षेत्र में आप बहुत हद तक सफल हो सकते हैं. किसी काम में संकोच न करें.  आप बोलचाल में संयम रखने की कोशिश करें. आज के दिन की सफलता के लिए बंदरो को केले खिलाये. 

धनु ( Sagittarius): आज छोटी-छोटी समस्याएं चलती रहेंगी. कार्यक्षेत्र में लगातार मेहनत करनी पड़ सकती है. स्टूडेंट्स तनाव में रहेंगे. कॉन्फिडेंस की कमी भी हो सकती है. नए विकल्पों पर विचार करने में संकोच न करें. आज के दिन की सफलता के लिए भगवान शिव की आरधना करके दिन की शुरुआत करें. 

मकर ( Capricorn): आज अपने सोचने का तरीका थोड़ा बदल ले तो दिन अच्छा बीत सकता है. आपकी इनकम और खर्चा  बराबर रहेगा. कुछ नया और कुछ अलग करने की कोशिश कर सकते हैं. आज दिन की सफलता के लिए छोटी कन्या को बिस्कुट का पैकेट का दान करें. 

कुंभ ( Aquarius): आज होने वाले ज्यादातर फैसले आपके ही फेवर में होने के योग हैं. बड़ों के साथ अच्छा व्यवहार करें. स्टूडेंट्स को मेहनत करनी होगी अच्छे रिजल्ट के लिए. आज के दिन की सफलता के लिए श्री हनुमान जी मंदिर मे एक मीठा पान चढ़ाये. 

मीन ( Pisces): आज जो भी काम सामने आए, उसमें आप अपनी पूरी शक्ति लगा दें.  इसके अच्छे नतीजे मिलेंगे. फैसले लेने के लिए और योजनाओं पर काम शुरू करने के लिए बहुत अच्छा दिन है. आज आप अपने आपको डिस्टर्ब न होने दें. आज के  दिन की सफलता के लिए किसी भूखे आदमी पपीते का दान करें.   

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

17 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

17 सितंबर 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

{related}

शुभ मास- आश्विनी (शुद्ध) कृष्ण पक्ष  
शुभ तिथि अमावस्या तिथि दोपहर 4 बजकर 30 मिनट बजे तक तत्पश्चात शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि आरम्भ. अमावस्या  तिथि मे शुभ और मांगलिक कार्य वर्जित माने गये है पर स्नान, दान व श्राद्ध इत्यादि कार्य किये जा सकते हैं. अमावस्या तिथि मे जन्मे जातक अशांत मन के, धनवान, बुद्धिवान, साहसी, धर्मपरायण होते हैं

पूर्वा फाल्गुनी "उग्र व अधोमुख " संज्ञक नक्षत् प्रातः  9 बजकर 30  मिनट तक  रहेगा.  पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र मे विवाह आदि मांगलिक कार्य,बोरिंग कार्य इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते हैं. पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र मे जन्मा जातक शौकीन होते हैं. 
चन्द्रमा - दोपहर 3-07 तक सिंह राशि में तत्पश्चात कन्या राशि में संचार करेगा  

व्रतोत्सव - सर्व पितृ अमावस्या, देव पितृ कार्य अमावस्या

राहुकाल - दोपहर 1.30 बजे से 3 बजे तक                              

दिशाशूल - गुरुवार को दक्षिण दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से दही खा कर निकले. 

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से प्रातः 7.48 मिनट तक शुभ का, प्रातः 10.50 से दोपहर 3.24 मिनट तक चर, लाभ, अमृत का और सायं 4.55 से सूर्यास्त तक शुभ का चौघड़िया

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Horoscope Today, 16 September 2020: आज का दिन इन राशि वालों के लिए है शुभ, मिलेगी सफलता

Horoscope Today, 16 September 2020: आज का दिन इन राशि वालों के लिए है शुभ, मिलेगी सफलता

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं.  

{related} 

मेष (Aries) :- आज किसी काम में लगातारअसफलता मिलने से मन में उदासी रहेगी. वरिष्ठ और परिवार के सदस्य आपकी खिलाफत कर सकते हैं. चलते-फिरते भी किसी नए बवाल में उलझने से आपको व्यर्थ का लांछन  झेलना पड़ सकता है. 

वृष(Taurus):- आपका स्वास्थ्य आज सुधार की ओरअग्रसर हो रहा है. हो सकता है इसी वजह से आपकोअपने कामकाज में उत्साह बनाए रखने में मदद मिले. यदि आप अपने समय का सही उपयोग करेंगे तो निर्धारित लक्ष्य के नजदीक पहुंचने में देर नहीं लगेगी.  

मिथुन(Gemini):- किसी सार्वजनिक घटना या घोषणा से आपकी सुख-शांति में व्यवधान पड़ सकता है. अचानक ही कुछ विपरीत परिस्थितियां पैदा होने से आपका आत्मविश्वास विचलित हो सकता है. 

कर्क(Cancer):- आपको आज मन में उदासी और आशान्ति का समावेश रहेगा. बार-बार किसी न किसी कारण आपको अपने परिजनों और मित्रों से उपेक्षा और विरोध का सामना करना होगा.   

सिंह(Leo):- आज आपके स्वाभाविक उत्साह और पराक्रम में वृद्धि हो रही है. आपको अपने प्रयासों में लगातार ही सफलता भी मिलती जा रही है. यदि किसी संस्था या संगठन के प्रतिनिधि हैं तो आपको कुछ जिम्मेदारी भी सौंपी जा सकती हैं.  

कन्या(Virgo):-  जिन लोगों ने आपके लिए रूकावट खड़ी की है उनको पहचानना आपके लिए जरूरी होगा. तभी आपको आगे की चिन्ता कम होगी. लेकिन दूसरों की तरफ ध्यान आकर्षित होने से आपका काम रूक सकता है. 

तुला(Libra):- किसी मोटे लाभ के लिए आज आपके मन में काफी चिन्ता और उत्सुकता रहेगी. हो सकता है कुछ बाधाओं की वजह से अभी इस काम को पूरा करने में कुछ समय और लग जाए. 

वृश्चिक(Scorpio):- आपके जीवन उतार-चढ़ाव बहुत जल्दी-जल्दी आते हैं. आज भी कुछ ऐसा ही संकेत आपको मिल रहे हैं. विचलित होने की जरूरत नहीं लेकिन थोड़ा इन्तजार जरूर करना होगा. 

धनु(Sagittarius):- आज आपको अपनी शारीरिक और मानसिक इच्छापूर्ति का सुख मिलेगा. दीर्घकालीन योजनाओं और परियोजनाओं में आपकी भागीदारी न केवल आपके यश और ख्याति को बढ़ाएगी बल्कि धन लाभ भी करवाएगी. 

मकर(Capricorn):- बहुत समय से चल रहा कोई विवाद या मामला आज अचानक ही समाप्त होने जा रहा है. आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र में आपकी भागीदारी एक नया विकल्प बन सकती है.  

कुंभ(Aquarius):- कई दिनों से कोई अवरूद्ध लाभ आपको मिलने में देर लग रही है. आज के दिन आपके पास कोई ऐसी खबर आ रही है जो आपके लिए आगे चलकर लम्बी दौड़ का घोड़ा साबित हो. 

मीन(Pisces):- आज का दिन आपके लिए मनोकामना पूर्ति करने में सहायक हो रहा है. अपने कामकाज में तल्लीन रहेंगे तोआगे का समय आपके लिए धन-समृद्धि से भरपूर हो जाएगा. मन की चिन्ताएं भी कम होंगी और नजदीकी लोगों पर भी अच्छा असर पड़ेगा. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

16 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

16 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

{related}

शुभ मास- आश्विनी (शुद्ध) कृष्ण पक्ष  
शुभ तिथि चतुर्दशी रिक्ता संज्ञक तिथि सांय 7 बजकर 58 मिनट तक तत्पश्चात अमावस्या तिथि रहेगी. चतुर्दशी तिथि को अग्नि विषादिक कार्य, उग्र कार्य, बंधन इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते हैं. चतुर्दशी तिथि में जन्मे जातक धर्मात्मा, धनवान, बुद्धिवान,भाग्यवान, पराक्रमी होते हैं. 

मघा"उग्र व अधोमुख " संज्ञक नक्षत्र दोपहर 12 बज कर 21 मिनट तक तत्पश्चात पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र रहेगा. मघा नक्षत्र मे विवाह आदि मांगलिक कार्य, बोरिंग कार्य इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते हैं. मघा नक्षत्र मे जन्मा जातक साहसी, धनवान होता हैं. मघा नक्षत्र गंड मूल नक्षत्र माना जाता है. इस नक्षत्र मे जन्मे जातक की गंड मूल शांति हवन 27 दिन बाद पुनः इसी नक्षत्र के दिन करा लेनी चाहिए.

चन्द्रमा - सम्पूर्ण दिन सिंह राशि में संचार करेगा  

व्रतोत्सव -  चौदस का श्राद्ध

राहुकाल - दोपहर 12 बजे से 1.30 बजे तक

दिशाशूल - बुधवार को उत्त्तर दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से गुड़, धनिया खा कर निकले. 

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से प्रातः 9.19  तक लाभ अमृत का, प्रातः 10.50 मिनट से दोपहर 12.22  मिनट तक शुभ और दोपहर 3.24 मिनट से सूर्यास्त तक चर, लाभ का चौघड़िया.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Open Covid-19