एचएफआई निदेशक ने भारत में हैंडबॉल के विकास को लेकर वैश्विक निकाय के अध्यक्ष से मुलाकात की

एचएफआई निदेशक ने भारत में हैंडबॉल के विकास को लेकर वैश्विक निकाय के अध्यक्ष से मुलाकात की

एचएफआई निदेशक ने भारत में हैंडबॉल के विकास को लेकर वैश्विक निकाय के अध्यक्ष से मुलाकात की

नई दिल्ली: भारतीय हैंडबॉल महासंघ (एचएफआई) के कार्यकारी निदेशक आनंदेश्वर पांडे ने अंतरराष्ट्रीय हैंडबॉल महासंघ (आईएचएफ) के अध्यक्ष हसन मुस्तफा से मुलाकात कर देश में इस खेल के विकास के लिए एक खाका तैयार करने के लिए कहा. तोक्यो ओलंपिक के दौरान हुई मुलाकात में इस बात पर चर्चा हुई कि आईएचएफ भारतीय खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन देने के लिए अपना समर्थन कैसे दे सकता है और किस तरह से स्थानीय कोचों और तकनीकी अधिकारियों को प्रशिक्षित करने के लिए शीर्ष विदेशी कोच और विशेषज्ञ प्रदान कर सकता है.

पांडे ने कहा कि आईएचएफ अध्यक्ष के साथ यह एक बहुत ही सार्थक बैठक थी. आईएचएफ देश में इस खेल को लोकप्रिय बनाने के लिए हमारा समर्थन करने को लेकर दिलचस्पी रखता है. हमने इस बात पर भी चर्चा की कि कैसे आईएचएफ इस खेल को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने के हमारे मिशन में मदद कर सकता है. हैंडबॉल हाल के दिनों में भारत में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है, खासकर प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) की शुरुआत के साथ. इसे खेलो इंडिया कार्यक्रम में भी शामिल किया गया है जिससे जमीनी स्तर पर और विकास हो सकेगा.

आईएचएफ ने लीग का समर्थन करने का भी वादा किया, जिससे भारत में हैंडबॉल के विकास को बढ़ावा देने और पेशेवर तौर पर अधिक खिलाड़ियों को आकर्षित करने की उम्मीद है. पीएचएल के शुरुआती सत्र का आयोजन ‘ब्लूस्पोर्ट एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड’ करेगा जो एचएफआई से आधिकारिक लाइसेंस धारक है. एचएफआई के तत्वावधान में दिसंबर-जनवरी में इसका आयोजन होने वाला था लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण इसे टाल दिया गया.

टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना (टॉप्स) के तहत खेल मंत्रालय द्वारा हैंडबॉल को प्राथमिकता वाले खेल के रूप में शामिल किया गया है और देश में फिलहाल इसके करीब 80,000 पंजीकृत खिलाड़ी हैं. (भाषा) 

और पढ़ें