भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर हरीश मीणा ने दिखाए बगावती तेवर

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/13 11:18

कुराबड़(उदयपुर)। उदयपुर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट की दौड़ में शामिल हरीश मीणा को टिकट नही मिलने पर पार्टी से बगावत कर अब निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला किया है। जावर ग्राम पंचायत के सरपंच पद पर बने हुए हरीश पैसे से वकील है और लगभग 16 से अधिक ग्राम पंचायतों में अच्छी पैठ और पकड़ बना रखी है जिसकी वजह से क्षेत्र के युवा हरीश मीणा के साथ खड़े हुए । 
दिल्ली से टिकट कटने के बाद कल जब हवाई जहाज से दिल्ली से लौटे तो मायूस हरीश की मायुसी कार्यकताओं को देखी नही गयी और महाराणा एयरपोर्ट पर भाव भरा स्वागत करके एक सुर में बोल दिया कि अबकी बार हरीश मीणा । 

जनता सेना से बन सकते है प्रत्याशी 
हरीश मीणा को भाजपा से टिकट नही मिलने के बाद अब जनता सेना से उम्मीदवार बन सकते है । मेवाड़ की सभी सीटों पर तीसरे मोर्चे के रूप में बने जनता सेना सुप्रीमो रणधीर सिंह भिंडर ने ऐलान भी किया कि प्रत्येक सीट पर उनकी पार्टी का उम्मीदवार खड़ा करेगी । ऐसे में देखा जा रहा है कि हरीश समर्थक रणधीर सिंह से सम्पर्क साधे हुए है और सूत्रों की माने तो लगभग हरीश मीणा को जनता सेना से टिकट मिलना तय है । जनता सेना उदयपुर ग्रामीण से तीसरे मोर्चे के रूप में चुनाव लड़ेगा जो यहाँ पर भाजपा के फूल सिंह मीणा के लिए एक चुनौती होगी । 

विशाल सम्मेलन में होगा निर्णय 
हरीश समर्थकों ने बताया कि मंगलवार को बड़बड़ेश्वर महादेव मंदिर पर भाजपा से बागी हुए हरीश मीणा आज विशाल सम्मेलन आयोजित कर रहे है । कार्यकर्ताओं की राय शुमारी के बाद चुनाव लड़ने का ऐलान करेंगे । यही से लगभग 16 पंचायतों के सरपंच और पार्टी समर्थकों द्वारा भाजपा छोड़कर जनता सेना का दामन थामने का भी कार्यक्रम हो सकता है । 

बगावत का कारण 
भाजपा में वर्तमान विधायक फूलसिंह मीणा का जोरदार विरोध देखा जा रहा है । क्योंकि इस सीट पर सभी भाजपा के उम्मीदवार लड़े वो बाहरी ही लड़े यही वजह रही कि स्थानीय कार्यकताओ में एक ही मांग रही वी है स्थानीय प्रत्याशी जो यही का होकर इसी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़े।

बताया गया कि उदयपुर ग्रामीण विधानसभा के गठन के बाद यहां भाजपा के बाहरी प्रत्याशी ही जीत का परचम लहराया । विधानसभा गठन के बाद गिर्वा की बड़ी ऊंदरी ग्राम पंचायत से केशूभाई ने जीत की जो स्थानीय रहे । बाकी सभी मेवाड़ और वागड़ के साथ साथ भोमट के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की जिसमे चुन्नीलाल गरासिया वर्ष 1993 ओर 1998 में यहां से  विधायक रहे जो डूंगरपुर के सागवाड़ा के समीप रहने वाले है। जबकि वर्ष 2003 में प्रतापगढ़ के धरियावद की  वन्दना मीणा ने जीत हासिल की और  2008 में भी वन्दना ने इस सीट से टिकिट लड़ा लेकिन जीत हासिल नही कर पाई । वही वर्तमान में जनजाति मंत्री नन्द लाल मीणा भी इस सीट पर जीते है और वर्ष 2013 में भीलवाड़ा के जहाजपुर निवासी हाल मुकाम उदयपुर शहर जो बीते 40 वर्षो से रह रहे है और टिकिट लेकर 13764 हजार वोटो की रिकार्ड जीत हासिल कर जीत का परचम लहराया । अब देखना है कमल का फूल पिछली बार खिलाने वाले फूल सिंह पुनः वापसी करते है या जनता सेना की कड़ाही से लगा तड़का खुशबू के रंग बिखेरेगा ।

नारायण मेघवाल फर्स्ट इंडिया न्यूज
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

यूपी के भदोही में बीजेपी की \'विजय संकल्प\' सभा

योगी आदित्यनाथ से प्रियंका गाँधी के 4 सवाल
राहुल गांधी का राजस्थान दौरा, 2 चुनावी रैलियों को करेंगे संबोधित
कंगाली, गरीबी, दरिद्रता से मुक्ति दिलवाने वाले महा चमत्कारी उपाय
11 बजे की सुपर फ़ास्ट खबरें | INDIA 360
दीया का राजनीतिक भविष्य ?, राज्यपाल ने ये क्या कह दिया ? #ElectionExpress2019
दिल्ली में गिरफ्तार हुआ आईएसआई एजेंट | Breaking
KESARI WEEKEND BOX OFFICE COLLECTION | FIRST INDIA NEWS^