close ads


केजरीवाल स्वीकार नहीं कर रहे, दिल्ली की बेहद खराब वायु गुणवत्ता आंतरिक कारणों से : हारून युसूफ

केजरीवाल स्वीकार नहीं कर रहे, दिल्ली की बेहद खराब वायु गुणवत्ता आंतरिक कारणों से : हारून युसूफ

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस के नेता हारून यूसुफ ने शनिवार को दावा किया कि पड़ोसी राज्यों में पराली नहीं जलाए जाने के बावजूद शहर की वायु गुणवत्ता के ‘बेहद खराब’ श्रेणी में बने रहने के पीछे आंतरिक कारण हैं जिसे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्वीकार करने से इनकार कर रहे हैं.

यूसुफ ने कहा- पराली नहीं जलने के बावजूद दिल्ली में वायू प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी, जिसका कारण केजरीवाल स्वीकार करने को राजी नहींः
शीला दीक्षित की सरकार में प्रदेश के परिवहन मंत्री रह चुके यूसुफ ने एक संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि कांग्रेस सरकार ने एक स्वच्छ व हरित दिल्ली बनाई थी जो अब “आप के शासन में बेहद प्रदूषित” हो गई है. उन्होंने कहा कि पराली नहीं जलने के बावजूद दिल्ली में वायू प्रदूषण ‘बेहद खराब’ श्रेणी में रहती है जिसका कारण आंतरिक है जिसे केजरीवाल स्वीकार करने को राजी नहीं हैं. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली की वायु गुणवत्ता शनिवार को “गंभीर” श्रेणी में पहुंच गई और हवा की धीमी गति के कारण “स्थानीय रूप से निर्मित” प्रदूषकों को एकत्र होने का मौका मिला.

यूसुफ ने कहा- केजरीवाल सरकार दिल्ली की हवा के ‘बेहद खराब’ श्रेणी में होने के लिए पराली जलाए जाने की दलील नहीं दे सकतीः
हारून यूसुफ ने कहा कि किसान केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के लिए यहां हैं ऐसे में केजरीवाल सरकार दिल्ली की हवा के ‘बेहद खराब’ श्रेणी में होने के लिए पराली जलाए जाने की दलील नहीं दे सकती.  हारून यूसुफ के आरोपों पर फिलहाल आम आदमी पार्टी या सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें