नई दिल्ली कोविड-19 से निपटने में भारत की रणनीति विकेंद्रित, लेकिन एकीकृत तंत्र रही : हर्षवर्धन

कोविड-19 से निपटने में भारत की रणनीति विकेंद्रित, लेकिन एकीकृत तंत्र रही : हर्षवर्धन

कोविड-19 से निपटने में भारत की रणनीति विकेंद्रित, लेकिन एकीकृत तंत्र रही : हर्षवर्धन

नई दिल्लीः कोविड-19 से निपटने की भारत की रणनीति विकेंद्रित लेकिन एकीकृत तंत्र रही, जिसके तहत सभी के लिए सार्वभौमिक, सुलभ, न्यायसंगत और सस्ती स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की गई. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को यह बात कही.

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ब्रिक्स देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के सम्मेलन को किया संबोधितः
ब्रिक्स (ब्राजील,रूस,भारत,चीन,दक्षिण अफ्रीका) देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 से निपटने में भारत का दृष्टिकोण पूर्वनिर्धारित, सक्रिय और श्रेणीबद्ध था. उन्होंने कहा कि वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर शुरुआती दौर में ही यात्रियों की जांच एवं पृथक-वास शुरू किया गया और लॉकडाउन लागू करना एवं निषिद्ध जोन बनाकर अपने अस्पतालों एवं स्वास्थ्यकर्मियों पर पड़ने वाले बोझ को कम करने जैसे प्रभावी कदम उठाए गए. साथ ही चरणबद्ध, सर्तकतापूर्ण और जिम्मेवार तरीके से अर्थव्यवस्था को दोबारा खोला गया.

केंद्र सरकार पूर्ण निगरानी एवं मूल्याकंन के साथ चलाया अभियान,  राज्य सरकारों का भी मिला पूरा सहयोगः
हर्षवर्धन ने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार ने इस अभियान को पूर्ण निगरानी एवं मूल्याकंन के साथ चलाया और दूसरी तरफ संकट से निपटने के लिए राज्य सरकारों को भी पूरा सहयोग प्रदान किया. राज्य सरकारों ने भी महामारी से निपटने की अपनी विभिन्न रणनीतियों को अपनाया. उन्होंने कहा कि कोविड-19 से निपटने के पीछे हमारा विकेंद्रित लेकिन एकीकृत तंत्र रहा, जिसके तहत सभी के लिए सार्वभौमिक, सुलभ, न्यायसंगत और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना सुनिश्चित किया गया. 

कोरोना महामारी प्रबंधन में हमने कई तकनीकी नवाचारों का भी उपयोगः
हर्षवर्धन ने कहा कि देश की बड़ी आबादी को ध्यान में रखते हुए भारत ने अपनी प्रतिक्रिया को व्यवस्थित किया है. उन्होंने कहा कि महामारी प्रबंधन में हमने कई तकनीकी नवाचारों का भी उपयोग किया. आरोग्य सेतु एवं 'इतिहास' जैसे ऐप, संक्रमित के संपर्क में आए लोगों का तत्काल पता लगाने और निगरानी में काफी मददगार साबित हुए. हर्षवर्धन के अनुसार, साथ ही अग्रिम मोर्चे के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए प्रशिक्षण मॉड्यूल के तौर पर आईगॉट पोर्टल (एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण) भी लॉन्च किया गया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें