'पुरानी रंजिश के चलते हुई पार्षद हरवीर सहारण की हत्या': आईजी दिनेश एम.एन.

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/09/26 05:47

रावतसर (हनुमानगढ़)। हनुमानगढ़ के रावतसर पालिका अध्यक्ष नीलम सहारण के पति हरवीर सहारण की हत्या का आईजी ने प्रेस वार्ता कर खुलासा कर दिया है। आईजी दिनेश एमएन ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि, "एसडीएम कोर्ट में हरवीर सहारण की निर्मम हत्या करने वाले रामनिवास, महिला व हत्या करवाने वाले हनुमानगढ़ के केंद्रीय सहकारी बैंक चेयरमैन महेंद्र पूनिया को भी गिरफ्तार कर लिया गया है, साथ में जिन लोगों ने इस हत्याकांड में मदद की थी उन 3 लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है" इस हत्याकांड में कुल 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।" 

दिनेश एम.एन.ने कहा कि, "सहकारी बैंक चेयरमैन महेंद्र पूनिया ने इस हत्या का षड्यंत्र रचा था और करीब 20 लाख रुपए में सौदा तय हुआ था। इसके चलते रामनिवास महला जिसने हरियाणा के क्षेत्र के शूटर मनजीत को भी सुपारी दी, जो की हत्या कांड में शामिल था उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। जहां रामनिवास महला को चूरू जिले से गिरफ्तार किया गया वहीं महेंद्र पूनिया को श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ से गिरफ्तार किया गया है। इस घटना में बताया गया कि महेंद्र पूनिया की हरवीर सहारण से पुरानी रंजिश थी साथ ही रामनिवास की भी हरवीर सहारण से रंजिश थी, जिसके चलते इस घटनाक्रम को अंजाम दिया गया। फिलहाल अभी पूछताछ जारी है उम्मीद है कि इस हत्याकांड में कुछ और नाम भी सामने आ सकते है।"

आईजी ने कहा कि ,"नोहर विधायक अभिषेक मटोरिया का इस मामले में कोई नाम नहीं है बाकी अभियुक्तों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इस मामले का पटाक्षेप कर दिया है इस मामले पर निगरानी रखे हुए थे। जिसके चलते पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 24 घंटों में मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार किया, उसके बाद षड्यंत्रकारी महेंद्र पूनिया को भी गिरफ्तार कर लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए ही पुलिस ने इस मर्डर का खुलासा कर दिया है। इस मामले में उस गाड़ी को भी बरामद कर लिया जिस गाड़ी पर हत्यारे सवार होकर रावतसर की एसडीम कोर्ट में पहुंचे थे।" 

वहीं आईजी ने कहा कि, "पूछताछ में पता चला है कि 2015 में नीलम सहारण के रावतसर नगरपालिका के चेयरमैन बनने के बाद रामचंद्र रामनिवास महला के कब्जाशुदा प्लाटों पर हरवीर सहारण द्वारा नगर पालिका रावतसर की भूमि होने के बोर्ड लगाए गए थे। तब रामनिवास महला ने महेंद्र पूनिया से संपर्क कर उसका विरोध किया गया था और धरने प्रदर्शन किए गए थे, जिसके दौरान हरवीर सहारण द्वारा लोगों के सामने महेंद्र पूनिया को थप्पड़ मारा गया। इस बात की भी रंजिश रामनिवास महला रखता था। इस घटना को लेकर महेंद्र पूर्णिया भी हरवीर सहारण के खिलाफ था और उससे रंजिश रखने लगा था। फिलहाल मुख्य पांच आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है बाकी पूछताछ चल रही है।"

रावतसर से संवाददाता कपिल की खबर

संबंधित खबरें भी पढ़े : 
पार्षद हरवीर सहारण हत्याकांड के चलते रावतसर में तनावपूर्ण स्थिति 
कोर्ट परिसर में घुसकर पार्षद के सीने में दागी 6 गोलियां, मौत 
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in