चंडीगढ़ Haryana: पुलिस ने सोनीपत में 'खालिस्तान' आतंकियों से जुड़े 4 लोगों को किया गिरफ्तार, AK-47 समेत हथियार बरामद

Haryana: पुलिस ने सोनीपत में 'खालिस्तान' आतंकियों से जुड़े 4 लोगों को किया गिरफ्तार, AK-47 समेत हथियार बरामद

Haryana: पुलिस ने सोनीपत में 'खालिस्तान' आतंकियों से जुड़े 4 लोगों को किया गिरफ्तार, AK-47 समेत हथियार बरामद

चंडीगढ़: हरियाणा में खालिस्तान समर्थक आतंकवादी समूहों के इशारे पर काम करने के आरोप में शनिवार को चार लोगों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने कहा कि वे पंजाब और अन्य स्थानों पर निशाना बनाकर हत्याएं करने की योजना बना रहे है.

पुलिस ने कहा कि इनके पास से एके-47 व तीन पिस्तौल सहित अन्य हथियार बरामद हुए हैं.सभी हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले हैं. यहां जारी एक बयान में कहा गया है, "हरियाणा पुलिस की अपराध जांच एजेंसी (सीआईए) की टीम ने खालिस्तान समर्थक आतंकवादी समूह से जुड़े चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने सोनीपत जिले में उनके कब्जे से बड़ी संख्या में अवैध हथियार जब्त किए हैं.

हरियाणा पुलिस को पंजाब पुलिस और खुफिया एजेंसियों से संदिग्धों के बारे में कुछ जानकारी मिली:

आरोपी सोशल मीडिया के जरिए खालिस्तान टाइगर फोर्स और इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के संपर्क में थे. सोनीपत में, पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा ने संवाददाताओं से कहा कि हरियाणा पुलिस को पंजाब पुलिस और खुफिया एजेंसियों से संदिग्धों के बारे में कुछ जानकारी मिली थी, जो सोनीपत के रहने वाले हैं और उनका पिछला आपराधिक रिकॉर्ड है. उन्होंने कहा कि खालिस्तान समर्थक आतंकवादी समूह इन लोगों का इस्तेमाल कर पंजाब और अन्य जगहों पर निशाना बनाकर हत्याओं को अंजाम देने और आतंक का माहौल कायम करना चाहते थे. बयान में, हरियाणा पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि सीआईए टीम चार आरोपियों में से एक के खालिस्तान समर्थक आतंकवादियों के साथ कथित संबंधों की जांच कर रही थी.

प्रारंभिक जांच से पता चला है कि ये अवैध हथियार खालिस्तानी समर्थक आतंकवादियों द्वारा प्रदान किए गए थे जो विदेश में रहते हैं:

पुलिस को उसके घर में भारी मात्रा में हथियार रखे होने की गुप्त जानकारी मिली थी. इस पर कार्रवाई करते हुए टीम हरकत में आई और चारों लोगों को सोनीपत जिले के जुआन गांव से गिरफ्तार कर लिया. उनके खिलाफ सोनीपत के मोहना पुलिस स्टेशन में गैरकानूनी गतिविधि निवारण अधिनियम के प्रावधानों, शस्त्र अधिनियम और भारतीय दंड संहिता के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि ये अवैध हथियार खालिस्तानी समर्थक आतंकवादियों द्वारा प्रदान किए गए थे, जो विदेश में रहते हैं.

प्रवक्ता ने कहा कि आरोपियों ने पंजाब के उधमपुर कलां गांव में खालिस्तान समर्थक आतंकियों के इशारे पर अवतार सिंह नाम के शख्स की हत्या करने की बात स्वीकार की है. आगे की जांच जारी है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें