हरियाणा ने यमुना में 16,000 क्यूसेक पानी छोड़ा, दिल्ली में जल संकट दूर होगा: राघव चड्ढा

हरियाणा ने यमुना में 16,000 क्यूसेक पानी छोड़ा, दिल्ली में जल संकट दूर होगा: राघव चड्ढा

हरियाणा ने यमुना में 16,000 क्यूसेक पानी छोड़ा, दिल्ली में जल संकट दूर होगा: राघव चड्ढा

नई दिल्ली: दिल्ली जल बोर्ड (DJB) के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा कि हरियाणा सरकार ने यमुनानगर जिले के हथनीकुंड बैराज से 16,000 क्यूसेक पानी यमुना नदी में छोड़ा है और अब राष्ट्रीय राजधानी में जल संकट दूर हो जाएगा.

उन्होंने कहा कि डीजेबी के सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने और पड़ोसी राज्य के अधिकारियों के साथ कई दौर की वार्ता के बाद हरियाणा ने दिल्ली के हिस्से का पानी छोड़ा है. सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 1996 में हरियाणा सरकार एवं अन्य राज्यों को यमुना का पानी साझा करने को कहा था ताकि दिल्ली में पेयजल की कमी नहीं हो, जल बोर्ड ने हरियाणा सरकार को दिल्ली के हिस्से का पानी जारी करने का निर्देश देने के लिए रविवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. 

राघव चड्ढा ने कहा कि हरियाणा सरकार ने मंगलवार को 16,000 क्यूसेक पानी छोड़ा है जोकि अगले तीन से चार दिन में दिल्ली पहुंच जाएगा. इसके बाद दिल्ली में जल संकट दूर हो जाएगा और लोगों को पीने का स्वच्छ पानी मिल सकेगा. हमने हरियाणा सरकार पर दबाव बनाने का प्रयास किया हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की और पड़ोसी राज्य के अधिकारियों के साथ कई दौर की वार्ता की. सोर्स भाषा
 

और पढ़ें