स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को WHO एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन की मिली बड़ी जिम्मेदारी

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को WHO एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन की मिली बड़ी जिम्मेदारी

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को WHO एग्जीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन की मिली बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली: कोरोना के खिलाफ दुनियाभर में जारी जंग के बीच भारत को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) में बड़ी जिम्मेदारी मिलने जा रही हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के 34 सदस्यीय एग्जीक्यूटिव बोर्ड के अगले चेयमैन होंगे. हर्षवर्धन जापान के डॉ. हिरोकी नकातानी की जगह लेंगे, जो WHO के 34 सदस्यों के बोर्ड के वर्तमान अध्यक्ष हैं.

ताकतवर होता जा रहा चक्रवात अम्फान, तट से सटे 8 राज्यों में तबाही की आशंका 

वर्ल्ड हेल्थ असेंबली से चुने जाते हैं बोर्ड के मेंबर:
194 देशों की विश्व स्वास्थ्य सभा द्वारा भारत को कार्यकारी बोर्ड में नियुक्त करने के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए और वर्ल्ड हेल्थ असेंबली में मंगलवार को भारत की ओर से दाखिल हर्षवर्धन के नाम का निर्विरोध चयन किया गया.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे 61 नए पॉजिटिव केस आए सामने, मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 5906   

भारत के पास चेयरमैन पद एक साल तक रहेगा:
बोर्ड की बैठक साल में दो बार होती है. डब्ल्यूएचओ बोर्ड में चेयरमैन का पद कई देशों के अलग-अलग ग्रुप में एक-एक साल के लिए मिलता है. कार्यकारी बोर्ड का मुख्य काम स्वास्थ्य असेंबली के फैसलों व पॉलिसी तैयार करने के लिए उचित सलाह देने का होता है. 

और पढ़ें