नई दिल्ली दिल्ली और पंजाब सरकार के बीच स्वास्थ्य और शिक्षा को लेकर समझौता

दिल्ली और पंजाब सरकार के बीच स्वास्थ्य और शिक्षा को लेकर समझौता

दिल्ली और पंजाब सरकार के बीच स्वास्थ्य और शिक्षा को लेकर समझौता

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के उनके समकक्ष भगवंत मान ने बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा के बुनियादी ढांचे और सुविधाओं को मजबूत बनाने के लिए ‘ज्ञान आदान-प्रदान समझौते’ पर मंगलवार को हस्ताक्षर किए.

मान ने बताया कि पंजाब में 117 स्कूल और मोहल्ला क्लीनिक की स्थापना की जाएगी. मान ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और बिजली सेवाएं मुहैया कराना उनकी सरकार की प्राथमिकता है और पंजाब इस संबंध में दिल्ली से सीख सकता है, जहां इन क्षेत्रों में बहुत काम किया गया है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली भी खेती के बारे में पंजाब से सीख सकता है. केजरीवाल ने कहा कि अगर हर राज्य दूसरे राज्यों के अच्छे कामों से सीखना शुरू कर दे, तो भारत का विकास होगा. मान के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा यह कहना गलत होगा कि केवल हम अच्छा काम कर रहे हैं. देशभर में कई स्थानों पर अच्छा काम हो रहा है, लेकिन दलों तथा राज्यों के विभाजन के कारण उनसे कुछ भी नहीं सीखा गया.

अगर कोई कहता है कि दिल्ली सरकार फिनलैंड से चलाई जा रही है तो यह बेवकूफी होगी: 

विपक्ष के आरोपों के बारे में कि पंजाब में आप सरकार पर दिल्ली से शासन किया जा रहा है पर केजरीवाल ने कहा, 'मनीष सिसोदिया ने शिक्षा प्रणाली के बारे में जानने के लिए यूरोप और फिनलैंड का दौरा किया. अगर कोई कहता है कि दिल्ली सरकार फिनलैंड से चलाई जा रही है तो यह बेवकूफी होगी. केजरीवाल ने कहा कि हाल ही में, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन ने दिल्ली का दौरा किया. ऐसे में यह आरोप नहीं लगाया जा सकता है कि तमिलनाडु सरकार दिल्ली से चलाई जा रही है. सतलुज-यमुना लिंक नहर मुद्दे के बारे में पूछे जाने पर, केजरीवाल ने कहा कि केंद्र, पंजाब, हरियाणा और अदालतों सहित सभी हितधारकों को इसे हल करने के लिए एक साथ आने की जरूरत है.

उनकी सरकार पंजाब में उद्योगों को भी बढ़ावा देगी और रोजगार सृजन का खाका तैयार करेगी: 

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने दो दिवसीय यात्रा के दौरान दिल्ली के स्कूलों, अस्पतालों और मोहल्ला क्लीनिकों का दौरा किया और उनकी सरकार पंजाब में इन सुविधाओं को अगले स्तर तक ले जाएगी.

मान ने कहा कि हम पंजाब के सुनहरे भविष्य के लिए काम करेंगे. सिडनी, मेलबर्न, वैंकूवर, टोरंटो, लंदन और कैलिफोर्निया से बहुत सारे एनआरआई स्कूलों और गांवों को गोद लेने के लिये कह रहे हैं क्योंकि उन्हें अब विश्वास है कि उनका पैसा सही जगह खर्च किया जाएगा. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पंजाब में उद्योगों को भी बढ़ावा देगी और रोजगार सृजन का खाका तैयार करेगी. सोर्स-भाषा  
 

और पढ़ें