बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय को चुनौती प्रकरण में आज हाईकोर्ट में सुनवाई रही अधूरी, कल दोपहर 2 बजे फिर होगी सुनवाई

बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय को चुनौती प्रकरण में आज हाईकोर्ट में सुनवाई रही अधूरी, कल दोपहर 2 बजे फिर होगी सुनवाई

बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय को चुनौती प्रकरण में आज हाईकोर्ट में सुनवाई रही अधूरी, कल दोपहर 2 बजे फिर होगी सुनवाई

जयपुर: बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय को चुनौती के प्रकरण में मदन दिलावर की याचिका पर आज राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. जस्टिस महेंद्र गोयल की एकलपीठ में हुई सुनवाई में कोर्ट ने शेड्यूल 10 के पैरा 4 को लेकर जुड़ा कोई आदेश पेश करने को कहा. इसके साथ ही पूछा कि क्या सुप्रीम कोर्ट से जुड़ा कोई आदेश है? पैरा 4 के तहत विधायकों के मर्जर को लेकर वर्णन है. ऐसे में आज हाईकोर्ट में प्रकरण पर सुनवाई अधूरी रही है. अब कल दोपहर 2 बजे हाईकोर्ट में प्रकरण पर फिर सुनवाई होगी. 

राजभवन और राज्य सरकार के बीच और बढ़े टकराव के हालात! राजभवन ने एक बार फिर लौटाया राज्य सरकार का प्रस्ताव 

साल्वे कहा कि बसपा के विधायकों का विलय पूरी तरह से अमान्य:
आज हुई सुनवाई में दिलावर की दोनों याचिकाओं के साथ बसपा की ओर से दायर याचिका को भी मेंशन किया गया. वहीं भाजपा नेता मदन दिलावर ने एक याचिका विड्रॉ भी की. दिलावर ने कम्युनिकेशन को चुनौती देने वाली याचिका को विड्रॉ किया. बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय पर वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने आज फिर वर्चुअल पैरवी की. साल्वे कहा कि बसपा के विधायकों का विलय पूरी तरह से अमान्य है. उन्होंने तर्क दिया कि बसपा एक राष्ट्रीय पार्टी है उसका राज्य स्तर पर विलय कैसे मंजूर हो सकता है. इस पर कोर्ट ने साल्वे से पूछा कि आपकी याचिका तकनीकी आधार पर 28 जुलाई को खारिज हुई है. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि केस में अभी कोई मैरिट नहीं है. वहीं सतीश मिश्रा ने बसपा की ओर से बहस की. इस पर जज ने पूछा कि क्या स्पीकर ने इस मामले में मैरिट पर निर्णय किया है. 

बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौति दी: 
बता दें कि विधायक मदन दिलावर ने इस बार दो नयी याचिकाएं दायर कर राजस्थान हाईकोर्ट में बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौति दी है. विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष की गयी शिकायत मामले में दायर याचिका को सोमवार को ही हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था. हाईकोर्ट ने अपने आदेश में मदन दिलावर को नयी याचिका दायर करने की छूट दी थी. अदालत के आदेश की आज प्रति मिलने के साथ मदन दिलावर ने अपने अधिवक्ता आशीष शर्मा के जरिए ये याचिकाए दायर की है. 

पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने संभाला पदभार, सीएम गहलोत ने कहा- मजबूरी में होटल में जाना पड़ा 

बसपा ने भी विलय के खिलाफ याचिका दाखिल की:
वहीं बसपा ने भी राजस्थान हाई कोर्ट में छह विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ याचिका दाखिल की. याचिका में स्पीकर के 18 सितंबर 2019 के आदेश को चुनौती दी गई है. ऐसे में कोर्ट ने अब बसपा की याचिका को मदन दिलावर की याचिका के साथ टैग किया.

और पढ़ें