मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में शुक्रवार सुबह भादों में इंद्रदेव मेहरबान हुए. जयपुर में मूसलाधार बारिश की वजह से कई इलाके जलमग्न हो गए. हालात बाढ़ जैसे हो गए. कई जगहों पर पेड टूट कर गिर गए, तो कहीं पर सडकों पर भारी पानी जमा होने की वजह से बस डिवाइडर पर चढ गई. वाहन चालकों को काफी समस्याओं का सामना करना  पडा. जोरदार बारिश से शहरभर की सड़कें पानी में डूब गई, कई कॉलोनियों व निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं. जयपुर में बारिश इतनी तेजी से आई कि लोगों को संभलने का मौका ही नहीं मिला. लोगों ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड यहां तक कि एटीएम में पनाह ली. 

परकोटा में भी सड़कों पर भरे पानी से जनजीवन को प्रभावित:
मानसून की सक्रियता कई जगह अब आफत बनती दिखाई दी. गुरुवार को सुबह से ही राजधानी में झमाझम बारिश का दौर जारी है. वहीं प्रदेश के कई जिलों में होने वाली बारिश ने जनजीवन अस्त - व्यस्त कर दिया है. जयपुर के कुछ इलाकों की रोड पर बारिश के पानी का तेज बहाव इतना दिखा कि लोग उसमें बहने लगे. जैसे तैसे लोगों ने अपने लोगों को बचाया. राजधानी जयपुर की सड़कों पर लबालब पानी भर गया है. तेज बारिश ने लोगों को जहां- के तहां ही स्थिर कर दिया है. राजस्थान विधानसभा से लेकर स्टेच्यु ले जाने वाली रोड पर भी भारी जल जमाव की स्थिति हो गई है. दिल्ली की ओर से जाने वाले जल महल क्षेत्र में भी बारिश का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल रहे हैं. यहां कई इलाकों में पानी भर गया, जिससे दुपहिया और चौपहिया वाहन डूबते से नजर आए. परकोटा में भी सड़कों पर भरे पानी से जनजीवन को प्रभावित किया.

जोधपुर में जघन्य हत्याकांड का हुआ खुलासा, पुलिस ने पत्नी सीमा सहित 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

मौसम विभाग की चेतावनी:
मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के कई जिलों में अगले कुछ दिनों में तेज बारिश का दौर जारी रहेगा. अजमेर, भीलवाड़ा और राजसमंद में रेड अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग ने शुक्रवार को प्रदेश के 3 जिलों में अत्यधिक भारी बरसात का रेड अलर्ट और 23 जिलों में भारी बरसात का ऑरेंज-यलो अलर्ट जारी किया है. पूर्वी राजस्थान में कई जगहों पर भारी से अत्यधिक भारी बरसात हो सकती है और विभाग ने इसे लेकर रेड अलर्ट भी जारी किया है. 14 से 17 अगस्त तक अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़ढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर, चूरू, नागौर, पाली और जालौर में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है.

मूसलाधार बरसात से बिजली तंत्र को काफी नुकसान:
जयपुर में  मूसलाधार बरसात से बिजली तंत्र को काफी नुकसान हुआ है. जामडोली पुराना घाट समेत आसपास के इलाकों में 37 बिजली के पोल गिरे. मालवीय नगर में दो ट्रांसफार्मर भी पानी भराव के चलते गिरे. इसके अलावा विभिन्न जगहों पर 14 बिजली के पोल-2 ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हुए. 5 जगहों पर RMU से सप्लाई बाधित हुई. सिटी सर्किल के अधीक्षण अभियंता एसके राजपूत स्थिति पर नजर बनाए हुए. इलाके बार बिजली आपूर्ति का पल पल का फीडबैक ले रहे है. फिलहाल एहतियातन शहर में 28 बिजली फीडरों पर सप्लाई बंद कर रखी है.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

और पढ़ें