रायपुर Chhattisgarh: कई जिलों में भारी बारिश, कई नदियों में उफान, आने वाले 24 घंटे में और बारिश के आसार

Chhattisgarh: कई जिलों में भारी बारिश, कई नदियों में उफान, आने वाले 24 घंटे में और बारिश के आसार

Chhattisgarh: कई जिलों में भारी बारिश, कई नदियों में उफान, आने वाले 24 घंटे में और बारिश के आसार

रायपुर: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में गत शनिवार शाम से ही बारिश हो रही है जिसकी वजह से महानदी, शिवनाथ और इंद्रावती जैसी कई नदियों का जलस्तर बढ़ गया है एवं निचले इलाकों में बसे गांवों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि शनिवार शाम से रविवार सुबह तक बलौदाबाजार में 82.4 मिलीमीटर बारिश हुई है जबकि दंतेवाड़ा में 63.1 मिमी, महासमुंद में 65.2 मिमी, जांजगीर-चंपा में 65.1 मिमी, बस्तर में 55.9 मिमी, रायगढ़ में 52.7 मिमी, नारायणपुर में 47.4 मिमी, बिलासपुर में 42.4 मिमी, रायपुर में 36.6 मिमी और बीजापुर में 36.5 मिमी बारिश दर्ज की गई है. अधिकारियों ने बताया कि कोरबा जिले में भारी बारिश की वजह से कई बरसाती नालों और नदियों में जलस्तर बढ़ने से कई सड़कें कट गई हैं जबकि दंतेवाड़ा जिले में बरसूर-चित्रकूट मार्ग, मंधार नदी का पानी सड़क पर पानी आने से बाधित हो गया है. अधिकारी ने बताया कि राज्य के धमतरी जिले में महानदी पर बने सबसे बड़े बांध रविशंकर सागर से रविवार सुबह 11,650 क्यूसेक (घन फीट प्रति सेकेंड) पानी छोड़ा गया.

उन्होंने बताया कि, ‘‘गत 48 घंटे के दौरान 120 से अधिक लोगों को बारिश से प्रभावित इलाकों से निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और राज्य पुलिस की टीमों को बचाव एवं राहत कार्य में लगाया गया है.’’ इस बीच, रायपुर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र ने रविवार दोपहर बताया कि अगले 24 घंटों के दौरान बस्तर,दंतेवाड़ा, नारायणपुर, कांकेर, गरियाबंद, धमतरी, बिलासपुर, कोरबा, महासमुंद, रायपुर, बलौदाबाजार और सुकमा में भारी बारिश के आसार हैं. राज्य के राजस्व विभाग के मुताबिक एक जून से शनिवार तक छत्तीसगढ़ में औसत 814.9 मिमी बारिश हुई है. वहीं सबसे अधिक 1814.9 मिमी बारिश बीजापुर जिले में हुई है जबकि सरगुजा जिले में इस अवधि में सबसे कम 330.7 मिमी बारिश हुई है. विभाग के मुताबिक एक जून से 13 अगस्त के राज्य में 64 लोगों की मौत बारिश संबंधी घटनाओं में हुई है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें