जयपुर Heavy Rain in Rajasthan: कई ज‍िलों में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, कोटा में स्कूल-कॉलेज बंद; जानें अपडेट

Heavy Rain in Rajasthan: कई ज‍िलों में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, कोटा में स्कूल-कॉलेज बंद; जानें अपडेट

जयपुर: राजस्‍थान के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी के बीच पिछले 24 घंटों के दौरान भारी से अति भारी बारिश (Heavy Rain in Rajasthan) के कारण कोटा शहर और आसपास के क्षेत्रों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. कोटा बैराज (Kota Barrage) से 14 गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है. रविवार रात हुई बारिश और बैराज से छोड़े गए पानी के कारण कोटा में निचले इलाके पानी में डूब गए हैं. बैराज से अब तक 2.76 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है.

मौसम विभाग के अनुसार, सोमवार को सुबह साढ़े आठ बजे के 24 घंटों के दौरान राज्‍य के झालावाड़, कोटा, बूंदी, बारां, चित्तौड़गढ़, सवाई माधोपुर, दौसा व करौली जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश व कहीं-कहीं अतिभारी बारिश दर्ज की गई है. कोटा व झालावाड़ जिलों में एक दो स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश दर्ज हुई है. सर्वाधिक 234 मिलीमीटर बारिश डग, झालावाड़ में हुई जबकि कोटा शहर में 224 म‍िलीमीटर बरसात दर्ज की गई है.

बारिश के कारण चंबल नदी पर बने कोटा बैराज में पानी की आवक बढ़ी:
कोटा जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि राणा प्रताप सागर बांध (चित्तौड़गढ़) और जवाहर सागर बांध (कोटा) के जलग्रहण क्षेत्र में लगातार बारिश के कारण चंबल नदी पर बने कोटा बैराज में पानी की आवक बढ़ी है. बीती रात बैराज के 19 में से 13 गेट पानी छोड़ने के लिए खोल दिए गए. गेट खोलने से पहले आसपास के इलाकों में चेतावनी जारी गई. एक अधिकारी ने बताया कि पानी छोड़े जाने के बाद से कई निचले इलाके पानी में डूबे हुए हैं.

सरकारी और निजी स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई:
जलस्तर क्योंकि बढ़ रहा है, इसलिए आज और गेट खोले जाएंगे. शहर में सोमवार को सरकारी और निजी स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई और मौसम की स्थिति के कारण कोचिंग संस्थान भी बंद हैं. तलवंडी जैसे इलाकों में लोगों को आने-जाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और घरों में पानी घुस गया है. पुराना कोटा, बजरंग नगर, जवाहर नगर, स्टेशन रोड, बालाजी नगर आदि की कॉलोनियां जलमग्न हो गईं. अधिकारियों के अनुसार हालात को देखते हुए जरूरत पड़ने पर निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है.

अगर जरूरत पड़ी तो आज सभी 19 गेट खोल दिए जाएंगे:
एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार को बैराज के 14 गेटों से 2.76 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है. बीती रात 13 गेट खोले गए और आज एक और गेट खोला गया. कुल चार लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जाना है और अगर जरूरत पड़ी तो आज सभी 19 गेट खोल दिए जाएंगे. जिला कलेक्टर ओपी बुनकर ने सोमवार सुबह नयापुरा कच्ची बस्‍ती सहित निचले इलाकों में क्षेत्र का दौरा किया. उन्होंने भारी बारिश की चेतावनी और बैराज से पानी छोड़े जाने के मद्देनजर सभी व्यवस्थाओं को तैयार रखने के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए.

पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वी राजस्थान में व्यापक बारिश हुई:
कोटा और झालावाड़ के अलावा बूंदी, बारां, चित्तौड़गढ़, सवाई माधोपुर, दौसा और करौली के कई इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश दर्ज की गई है. पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वी राजस्थान में व्यापक बारिश हुई है. मौसम विभाग ने सोमवार को पूर्वी राजस्थान में छिटपुट स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा और पश्चिमी राजस्थान में छिटपुट स्थानों पर भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है. राजधानी जयपुर में भी कल शाम से ही रुक-रुक कर बारिश हो रही है. 

और पढ़ें