VIDEO: राजस्थान में बस माफिया के सामने बेबस सिस्टम !

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/25 07:11

करौली। जिले में जिम्मेदार अधिकारियों की अंधेर गर्दी और मिलीभगत का शर्मनाक नमूना सामने आया है। जिम्मेदारों की लापरवाही से ऐसी निजी बसें करौली से दिल्ली तक दौड़ रही हैं, जिनका ना रजिस्ट्रेशन है, ना फिटनेस और ना बीमा। सैकड़ों लोगों की जान जोखिम में डालकर दौड़ने वाली बस की स्थिति का खुलासा बीती रात करौली से दिल्ली जा रही एक निजी कोच बस को हिंडौन में चेकिंग के लिए रोकने के दौरान हुआ। 

इस निजी कोच बस का ना तो पंजीयन था ना बीमा और ना फिटनेस। लापरवाही की हद उस समय उजागर हुई जब बस के नंबर की मोबाइल एप में चेकिंग की गई तो नंबर उत्तर प्रदेश के एक ट्रक के निकले। यह हालात देख मौके पर मौजूद लोग भी अचंभित रह गए। इतना ही नहीं परिवहन निरीक्षक ने जब बस चेकिंग के लिए रोका तो बस के चालक परिचालक झगड़ने और मारपीट को उतारू हो गए। हालात बिगड़ते देख हिंडौन कोतवाली पुलिस को सूचना दी गई और पुलिस की पहुंचने पर बस को जप्त करने की कार्रवाई हो सकी। 

बस को तो जप्त कर लिया गया लेकिन उसमें सवार यात्री गंतव्य तक पहुंचने के लिए इधर-उधर भटकते नजर आए। बस जप्त कर ली गई लेकिन सवाल यह खड़े हुए हैं कि आखिर यह बस कई महीनों से करौली से दिल्ली तक कैसे दौड़ रही है। इसके अलावा अन्य करौली से राजस्थान के अन्य बड़े शहरों सहित समीपवर्ती राज्यों के लिए भी निजी कोच बस धड़ल्ले से दौड़ रही हैं। जिनके रूट परमिट सहित अन्य कागजात संदिग्ध ही नजर आते हैं। इन हालातों को देख लोगों का कहना है कि जिम्मेदारों को नियम कानून या यात्रियों की जान की परवाह नहीं उन्हें तो अपनी जेब भरने से मतलब है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in