Live News »

हर्बल गुलाल ने आदिवासी महिलाओं के लिए खोले रोजगार के रास्ते

हर्बल गुलाल ने आदिवासी महिलाओं के लिए खोले रोजगार के रास्ते

वल्लभनगर(उदयपुर)। होली पर्व नजदीक आने के साथ ही बाजार में रंग-गुलाल की ब्रिकी शुरु हो गई। इस बीच वन विभाग ने पर्यावरण को अनुकूल रखने के लिए हर्बल गुलाल बनानी शुरु कर दी है। हर्बल गुलाल का निर्माण केवल उदयपुर शहर ही नहीं कर रहा। ग्रामीण क्षेत्रों में वन विभाग के विभिन्न नाकों पर हर्बल गुलाल बनने लगी है। ग्रामीण क्षेत्रों में वन विभाग की प्रेरणा से वन समितियों के तहत महिलाओं को स्वरोजगार व आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर्बल गुलाब बनाने का काम किया जा रहा है। हर्बल गुलाल प्राकृतिक रंगों से बनाई जाती है। इसमें किसी प्रकार का रासायनिक पदार्थों का उपयोग नहीं किया जाता है। जिससे त्वचा व आंखों को कोई नुकसान नहीं होता है। इस गुलाल की हर वर्ष मांग बढ़ती जा रही है। इसके चलते ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ रहे है।

भीण्डर रेंज के क्षेत्रीय वन अधिकारी सोमेश्वर त्रिवेदी ने बताया कि वन सुरक्षा एवं प्रबंध समिति उपला सेमलिया नाका सेमलिया रेंज भीण्डर तथा आकोला वन सुरक्षा समिति नाका कानोड़ में महिला स्वयं सहायता समुह द्वारा हर्बल गुलाल बनाई जा रही है। जिसमें महिलाएं पेड़ की फुल-पत्तियों से हर्बल गुलाल बनाई जा रही है। बाजार में हर्बल गुलाल की अच्छी खासी मांग होने से महिलाओं के लिए स्वरोजगार के लिए अच्छा कदम उठाया जा रहा है। समिति द्वारा हर्बल गुलाल को पैकेट में पैक करके बाजार में विक्रय के लिए भेज रहा है। 

कैसे बनती हैं हर्बल गुलाल
फाल्गुन में खिलने वाले नए फुलों, पत्तियों के साथ हरी घास, पालक सहित विभिन्न प्राकृतिक पुष्पों को एकत्रित करके सुखाया जाता है। जिसके बाद इन सभी को गर्म पानी में उबाला जाता हैं जिससे इनका रस व रंग निकलता है। उसके बाद उसमें आरारोट पाउडर मिलाकर घोल बनाया जाता है। इस गोल को ठंडा करके जमाया जाता है। गोल के सुखने के बाद गांइडर मशीन द्वारा बारीक पीसा जाता है। इसके बाद महीन हर्बल गुलाल को पैकिंग करके बाजार में विक्रय के लिए भेज दिया जाता है। इसमें गुलाब से गुलाबी, पलाश से केसरिया, हरियाली से हरी, अमलताश से पीली, चुकन्दर से बैंगनी पर्पल गुलाल बनाई जाती है।

...वल्लभनगर से अभिषेक श्रीमाली की रिपोर्ट

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कुल आंकड़ा पहुंचा 206, कोरोना की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों ने गंवाई जान

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कुल आंकड़ा पहुंचा 206, कोरोना की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों ने गंवाई जान

जयपुर: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढता जा रहा है. प्रदेश में कोरोना के संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 206 हो गई है. इनमें 45 लोग तब्लीगी जमात में शामिल होकर आये थे. वहीं प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 4 लोगों की मौत हो चुकी है. बीकानेर और झुंझुनूं जिले में नए मामले सामने आये है. यहां पर 25 वर्षीय युवक बीकानेर का तबलीगी जमाती, वहीं झुंझुनूं का केस, 40 वर्षीय नवलगढ़ निवासी पुरुष कोरोना पॉजिटिव पाया गया. शनिवार को प्रदेश में 25 नए पॉजिटिव मिले. 

ये है नए कोरोना के मामले:
बीकानेर में 4 दिन से पीबीएम अस्पताल में भर्ती 60 साल की महिला की सुबह 6 बजे मौत हो गई. सुबह 8 बजे महिला के कोरोना संक्रमित होने की रिपोर्ट आई. महिला यहां वेंटिलेर पर थी. पीडित महिला को बुखार और सांस लेने में परेशानी थी. प्रदेश के बांसवाड़ा जिले में पहली बार 2 पॉजिटिव मिले. 2 चूरू में संक्रमित तब्लीगी जमात से हैं. भीलवाड़ा के बांगड़ अस्पताल के ओपीडी में भर्ती एक मरीज भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया. झुंझुनू में 7 संक्रमित मिले, जो सभी तब्लीगी जमात से हैं. जोधपुर में 8 नए कोरोना संक्रमित केस सामने आये. वहीं, शाम को भरतपुर में भी दो पॉजिटिव मामले आये. वहीं टोंक और करौली में भी एक-एक मामला सामने आया. प्रदेश में शनिवार को कोरोना के केस आये है, जिनमें से 12 लोग तब्लीगी जमात में शामिल होकर आये थे. 

Lockdown: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुरू की सहयोग किचन, जरूरतमंदों के घर पहुंच रहा है भोजन

जयपुर में सबसे ज्यादा पॉजिटिव:
प्रदेश की राजधानी जयपुर में कोरोना पॉजिटिव मामले सबसे ज्यादा है, यहां पर कोरोना पॉजिटिव संक्रमित लोगों की संख्या 55 हो गई है. यहां पर कोरोना से बचाव के लिए पहले ही कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं अब प्रशासन ओर सतर्क हो गया है.वहीं बात करें भीलवाडा की तो यहां पर सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज थे. अब यहां पर मरीजों की संख्या स्थिर हो गई है. यहां पर 27 कोरोना पॉजिटिव मरीज है. वहीं 9 लोगों की जांच पहले कोरोना पॉजिटिव आई थी. अब उनकी शुक्रवार को जांच नेगेटिव आई है. 

जोधपुर में 45 मामले:
वहीं बात करें जोधपुर जिले की तो यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 45 हो गई है. इसमें 28 लोग ईरान से आये है. वहीं झुंझुनूं में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या 16 है. चूरू में 10 तो टोंक में 17 कोरोना पॉजिटिव मरीज है. 

अजमेर में 5 तो बीकानेर में 3
अब बात करते है अजमेर जिले की, तो यहां पर कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 5 है. वहीं बीकानेर में 3 कोरोना पॉजिटिव मिले है. प्रतापगढ़ में 2 पॉजिटिव, तो डूंगरपुर में 3 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले है. अलवर में  2 मामले सामने आये है, जबकि अलवर में एक व्यक्ति की मौत हो गई है. 

आईडीबीआई एटीएम लूट का असफल प्रयास, एटीएम में था 19 लाख का कैश

उदयपुर में 4 मामले सामने आये:
प्रदेश के उदयपुर जिले में कोरोना के 4 मामले सामने आये है. जबकि भरतपुर में 5 कोरोना पॉजिटिव है. बांसवाडा में 2 कोरोना पॉजिटिव है. वहीं दौसा में एक कोरोना पॉजिटिव है. तो धौलपुर, सीकर, करौली और पाली में 1-1 कोरोना संक्रमित मिला है.

उदयपुर में नये सामने आए 3 पॉजिटिव मरीजों में एक फीमेल नर्स, प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट

उदयपुर में नये सामने आए 3 पॉजिटिव मरीजों में एक फीमेल नर्स, प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट

उदयपुर: लेकसिटी उदयपुर में आज तीन और नए कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है. दरअसल यह तीनों ही पॉजिटिव मरीज उदयपुर के मल्लातलाई इलाके में कल सामने आए 16 वर्षीय कोरोना पॉज़िटिव युवक के रिश्तेदार हैं. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने 

नये सामने आए 3 पॉजिटिव मरीजों में से एक फीमेल नर्स:
इन तीन नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से एक महिला मरीज, उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय के स्वाइन फ्लू वार्ड की इंचार्ज फीमेल नर्स है. इस पूरे घटनाक्रम के सामने आने के बाद महाराणा भूपाल चिकित्सालय के चिकित्सकों और नर्सिंग स्टाफ सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को ज्यादा अलर्ट होकर काम करने के लिए कहा गया है. साथ ही स्वाइन फ्लू वार्ड में तैनात सभी चिकित्सा स्टाफ की स्क्रीनिंग के भी आदेश जारी किए गए हैं. 

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं 

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

उदयपुर: सोशल मीडीया पर कोरोना वायरस के संबध में फेक न्यूज चलाना शनिवार को 8 लोगों के लिए भारी पड गया. पुलिस ने फेक न्यूज वायरल करने और अफवाहों को फैलाकर माहौल खराब करने के मामले में 3 नाबालिगों समेत कुल 8 लोगो को गिरफ्तार किया हैं. गिरफ्तार किए गए लोगो में 3 ग्रुप एडमिन भी शामिल हैं. दरअसल जिले के ओगणा थाना इलाके में इन लोगो ने कोरोना वायरस संदिग्ध मिलने की फेक न्यूज वायरल की थी जिस पर जिला कलेक्टर आनंदी के आदेश पर पुलिस ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया. इस मौके पर पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई नें साफ किया है कि आमजन इस तरह की गलत और भ्रामक खबरों से बचे और इन्हे प्रसारित करने का माध्यम नहीं बनें.

CORONA: मिल गया कोरोना का तोड़, सुपर कंप्यूटर बना मददगार, दवा बनाने में मिलेगी मदद !

वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश, धंधे मे लिप्त 13 युवतियां गिरफ्तार 

वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश, धंधे मे लिप्त 13 युवतियां गिरफ्तार 

उदयपुर: प्रदेश के उदयपुर जिले में पुलिस ने मंगलवार को शहर के विभिन्न होटल्स और घरों से संचालित हो रहे वेश्यावृत्ति के रैकेट्स का पर्दाफाश किया. शहर पुलिस की करीब आधे दर्जन से ज्यादा टीमों ने 5 थाना क्षैत्रों में विभिन्न होटल्स और घरों में दबिश दी. पुलिस ने इस कार्यवाही में 10 होटल्स संचालकों और जिस्म फरोशी के धंधे मे लिप्त 13 युवतियों को गिरफ्तार किया हैं.

कोरोना वायरस से जुड़ी बड़ी राहत की खबर, कोरोना से पीडित रहे दो मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज

वेश्यावृत्ति के लिए उदयपुर लाई गई थी युवतियां:
गिरफ्तार की गई युवतीयां देश के विभिन्न राज्यों की रहने वाली हैं और वेश्यावृत्ति के लिए उदयपुर लाई गई थी. वहीं पकडे गए होटल्स संचालको में दो महिलाएं भी शामिल है, 0जो घरों से वेश्यावृत्ति करा रही थी. पुलिस ने गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों से कडी पूछताछ शुरु कर दी हैं. आपको बता दे कि पुलिस की टीमो नें शहर के भूपालपुरा, सुखेर, सवीना,प्रतापनगर और हिरणमगरी थाना इलाकों में इन कार्रवाईयों को अंजाम दिया हैं.

कोरोना को लेकर CMO में सर्वदलीय बैठक, सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की दी गई जानकारी

उदयपुर: नाबालिग लड़की को अगवा कर तीन दिन तक दुष्कर्म का आरोप

उदयपुर: नाबालिग लड़की को अगवा कर तीन दिन तक दुष्कर्म का आरोप

उदयपुर: जिले के सायरा थाना क्षेत्र के पाबा गांव में एक नाबालिग को बंधक बनाकर बलात्कार करने का मामला सामने आया है. इस संबंध में 4 दिन पहले सायरा थाने में रिपोर्ट देने के बावजूद पुलिस ने मामला तो छोड़ो पीड़िता का मेडिकल तक नहीं करवाया. सोमवार को उसकी हालत बिगड़ने पर परिजन उसे गोगुन्दा हॉस्पिटल ले गए जहां तहरीर के अभाव में चिकित्सक ने भी एक बार इलाज नहीं किया और हालत बिगड़ ज्यादा बिगड़ने पर उसे इंजेक्शन लगाकर उदयपुर एमबी अस्पताल रेफर कर दिया.

बारां में 16 लोगों को माना कोरोना संदिग्ध, जिला अस्पताल में बदली व्यवस्था 

तीन दिन तक बंधक बनाकर दुष्कर्म करने का आरोप:
वहीं देर रात पुलिस अधीक्षक ने पीड़िता के बयान लिए. पीड़िता ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि वह अपनी बहन के साथ 9 मार्च को होली के दिन खरीदारी करने सायरा गई थी. रात को लौटते समय बरावली गांव में मेरकाखेत निवासी किरण पुत्र प्रकाश उसका भतीजा कैलाश पुत्र हुसा गरासिया ने उन्हें रोककर जबरन उन्हें अपने घर ले गए वहां 3 दिन तक बंधक बनाकर रखा. इस दौरान कैलाश ने उसके साथ बलात्कार किया. 12 मार्च को आरोपी पीड़िता को उसके घर से थोड़ी दूर पर छोड़कर भाग गया. 

VIDEO: कोरोना वायरस के चलते निगम चुनाव टलने की आशंका...लेकिन जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारियां 

पुलिस पर मामले को गंभीरता नहीं लेने का आरोप:
पीड़िता के घर पहुंचने पर पीड़िता की हालत देखकर परिजन उसी दिन उसे सायरा थाने लेकर पहुंचे. परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दी लेकिन पुलिस ने उसे गंभीरता से नहीं लिया. उन्होंने पीड़िता का मेडिकल तक नही करवाया न मामले में कोई कार्रवाई की. आपको बता बता दें कि सायरा थाने क का लैंडलाइन फोन बरसों से खराब पड़ा है. इस थाना क्षेत्र से डोडा चूरा की जमकर तस्करी होती है.लेकिन अधिकारी लैंडलाइन फोन को सही नहीं करवाते हैं जिससे आमजन भी परेशान है. 

मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट पर गुलाबचंद कटारिया ने दी तीखी प्रतिक्रिया, राजस्थान के लिए कहा...

मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट पर गुलाबचंद कटारिया ने दी तीखी प्रतिक्रिया, राजस्थान के लिए कहा...

उदयपुर: मध्यप्रदेश में मचे सियासी संकट के बीच राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया नें बड़ी और तीखी प्रतिक्रिया दी है. कटारिया नें साफ किया कि मध्यप्रदेश के बाद दूसरा नंबर अब महाराष्ट्र का आने वाला हैं. कटारिया नें कहा कि जिस तरह से शिव सेना नें सत्ता सुख के लिए विचारधारा को ताक में रखा, उससे राष्ट्रवादी विचारधारा वाले समर्थक खुश नही हैं.

ज्योतिरादित्य के BJP ज्वॉइन करने पर राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे ने दी प्रतिक्रिया, कही ये बात 

संकट को देखने वाली लिस्ट में राजस्थान तीसरे नंबर पर:
कटारिया नें साफ किया कि राजस्थान ऐसे सियासी संकट को देखने वाली लिस्ट में तीसरे नबंर पर हैं. नेता प्रतिपक्ष नें कहा कि शाहीन बाग और देश विरोधी घटनाओं के बीच राष्ट्रवादी विचार रखने वाले नेता अगर ऐसे आगे आते हैं तो देश के लिए अच्छा हैं.

जयपुर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर के वार्डों की निकली आरक्षण लॉटरी, चुनाव को लेकर सियायत तेज 

उदयपुर: देर रात नाबालिग किशोरी की गोलियों से भूनकर हत्या

उदयपुर: देर रात नाबालिग किशोरी की गोलियों से भूनकर हत्या

उदयपुर: जिले के मांडवा थाना इलाके में देर रात एक नाबालिग किशोरी की दो युवकों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी. आरोपी युवकों ने किशोरी के सीने पर करीब 4 से 5 गोलियां दागी. देसी कट्टे से फायरिंग करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. पुलिस के मुताबिक आरोपी बुझा गांव के हैं. 

आबकारी लाइसेंस आवेदन प्रक्रिया संपन्न, कल सुबह 11बजे जिला मुख्यालयों पर निकाली जाएगी लॉटरी 

परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े: 
मामले की जानकारी मिलते ही मांडवा थाना पुलिस के अलावा आसपास के थाना क्षेत्रों से भी पुलिस अधिकारी और पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा. पुलिस ने शव को मोर्चरी में शिफ्ट करा दिया है. पुलिस के आला अधिकारी और भारी पुलिस जाब्ता मौके पर तैनात है. हालांकि अभी तक किशोरी के परिजनों ने शव नहीं उठाया है और वे आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं. बताया जा रहा है कि 13 वर्षीय किशोरी काली कक्षा 10वीं की छात्रा थी. 

अंधविश्वास के चलते 4 माह के मासूम को गर्म सलाखों से दागा, हालत गंभीर 

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

Holi festival 2020: हर्बल गुलाल और बिंदास होकर खेलिए होली, यहां पर महिलाओं ने बनाया प्राकृतिक गुलाल

कोटड़ा(उदयपुर): उदयपुर जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र कोटड़ा में राजीविका से जुड़ी महिलाएं अभी हर्बल गुलाल बनाने में लगी हुई है. होली के त्योहार को देखते हुए इन महिलाओं ने रोजाना एक क्विंटल से अधिक हर्बल गुलाल बनाया. इस गुलाल को बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. कोटड़ा तहसील के गोगरुद में राजीविका महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड की महिलाएं आगामी होली के त्योहार को लेकर फूलों से हर्बल गुलाल बना रही है.

holi Festival 2020: यहां जलाई जाती है उदयपुर संभाग की सबसे ऊंची होली, बेटी की तरह दी जाती है विदाई

स्वंय सहायता समूह की साठ महिलाये पिछले माह 27 फरवरी से यह हर्बल गुलाल बना रही है और प्रतिदिन एक क्विंटल से अधिक मात्रा में गुलाल का निर्माण कर रही है. वर्तमान में यह महिलाएं एक हजार किलो से अधिक गुलाल का निर्माण कर चुकी है. इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये प्रति किलो की दर से बेचा जा रहा है. महिलाओं द्वारा बनाये गए इस गुलाल की डिमांड हिमाचल प्रदेश,दिल्ली,कोलकाता,बिहार,महाराष्ट्र सहित राजस्थान के विभिन्न जिलों से आ चुकी है. 

ऐसे बनता है हर्बल गुलाल..
हर्बल गुलाल बनाने के लिए महिलाएं आस पास के जंगल से पलाश के फूल,रजके के पत्ते व अन्य फूलों की पत्तियां इकट्ठा करके लाती है. इसके बाद इनको साफ पानी से धोया जाता है और पानी में उबाला जाता है. इस मिश्रण को छानकर ठंडा करते है फिर इनमें अरारोट मिलाकर सुखाया जाता है और गुलाल का स्वरूप दिया जाता है. तीन दिन की इस प्रक्रिया में एक दिन फूल व पत्तियां बीनने में लगता है दूसरे दिन इन्हें पानी मे उबालकर तैयार करने में और तीसरा दिन इसे सुखाने में. यह गुलाल पूर्णतः प्राकृतिक होता है जो कि शरीर पर किसी प्रकार का नुकसान नही पहुंचाता है, जबकि बाजार में मिलने वाला गुलाल केमिकल युक्त होता है जो कि शरीर के लिए हानिकारक होता है.

बीकानेर में होली मनाने का अंदाज सबसे अलग, चंग की थाप पर रसिये गा रहे हैं फाल्गुनी गीत 

गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो:
स्वय सहायता समूह द्वारा बनाए गए इस गुलाल की लागत सौ रुपये प्रति किलो  आती है. वहीं इस गुलाल को समिति द्वारा बाजार में दो सौ रुपये किलो की दर से बेचा जा रहा है. इस प्रकार प्रति किलो सौ रुपये की आय होती है. यह आय प्रगति महिला सर्वांगीण सहकारी समिति लिमिटेड गोगरुद में जमा होगी, जिसे सभी सदस्यों में समान भाग में विभाजित कर दिया जाएगा. वहीं फूल बीनने वाली महिलाओं को ढाई सौ से तीन सौ रुपए तक मजदूरी दी जाती है.

Open Covid-19