Live News »

हाईकोर्ट खंडपीठ ने दो बच्चों को पिता के पास भेजा, मां द्वारा पेश की गई बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका को किया खारिज

हाईकोर्ट खंडपीठ ने दो बच्चों को पिता के पास भेजा, मां द्वारा पेश की गई बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका को किया खारिज

जोधपुर: अपने दो बच्चों को पिता से मुक्ति दिला कर अपने पास रखने के लिए परबतसर के निकट स्थित चारणवास गांव निवासी नंदराम की पत्नी ने हाईकोर्ट में एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पेश कर गुहार की कि उसके दोनों बच्चों को उसे सौंपा जाए और उसके पति की कैद से बच्चों को मुक्त कराया जाए. जिस पर इस मामले में सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट जस्टिस संदीप मेहता व जस्टिस अभय चतुर्वेदी की खंडपीठ ने प्राकृतिक न्याय का सिद्धांत अपनाते हुए इस मामले का निस्तारण कर दिया.

खंडपीठ ने बच्चों को पिता के साथ भेजने के आदेश दे दिए: 
बच्चों को खंडपीठ के मध्य बुलाकर खंडपीठ में कार्यरत कोर्ट मास्टर के पास लाया गया जहां कोर्ट मास्टर ने दोनों बच्चों को टॉफी दी. टॉफी देने के बाद बच्चों को स्वतंत्र छोड़ दिया गया बच्चों के सामने एक तरफ तरफ मां थी और एक तरफ पिता. खंडपीठ ने जब पाया कि बच्चों ने मां की तरफ देखा तक नहीं और वहां से सीधे वह अपने पिता के पास चले गए तब खंडपीठ ने बच्चों को पिता के साथ भेजने के आदेश दे दिए. अधिवक्ता महिपाल सिंह ने इस मामले में प्रार्थी नंदराम का पक्ष रखा. वहीं अतिरिक्त महाधिवक्ता फरजंद अली ने सरकार की ओर से पैरवी की. 

और पढ़ें

Most Related Stories

कलयुगी मां की शर्मनाक करतूत, 4 दिन की मासूम बच्ची को अस्पताल में छोड़ भागी 

कलयुगी मां की शर्मनाक करतूत, 4 दिन की मासूम बच्ची को अस्पताल में छोड़ भागी 

जोधपुर: जोधपुर शहर में एक बार फिर ममता को शर्मसार करने का मामला सामने आया है. उम्मेद अस्पताल में एक कलयुगी मां अपने 4 दिन की मासूम बेटी को छोड़कर भाग गई , हालांकि अस्पताल के वार्ड में भर्ती अन्य मरीज व हॉस्पिटल प्रशासन में बच्ची को अपने संरक्षण में लिया और उसका मेडिकल चेकअप करवाया.

मासूम बच्ची को किया लव कुश संस्थान के सुपुर्द:
2 दिन तक अस्पताल में ऑब्जरवेशन रखने के बाद मासूम बच्ची को लव कुश संस्थान के सुपुर्द किया गया है. उम्मेद अस्पताल के अधीक्षक डॉ रंजना देसाई ने बताया कि 17 सितंबर को एक महिला हॉस्पिटल के वार्ड में आई और  पलंग पर एक बच्ची को छोड़ दिया. उस महिला ने पास में खड़ी महिला को कुछ देर में वापस लौट कर आने की बात कही. करीब 1 घंटा बीत जाने के बावजूद भी वह महिला वापस नहीं आई और मासूम बच्ची का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था.

{related}

महिला की तलाश शुरू:
वार्ड में भर्ती अन्य महिला मरीजों ने अस्पताल प्रशासन को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने उस महिला की तलाश शुरू की. जब वह महिला कहीं नहीं मिली तो बच्चे को अस्पताल प्रशासन ने अपने संरक्षण में लिया और उसे दो दिन तक अस्पताल में रखा. बच्ची के पूर्ण स्वस्थ होने के बाद मासूम बच्ची को लव कुश संस्थान के सुपुर्द किया गया है.

जोधपुर में पुस्तकालय भर्ती परीक्षा में पकड़ा मुन्नाभाई, ब्लूटूथ के जरिये नकल करते हुए पाया गया परीक्षार्थी

जोधपुर में पुस्तकालय भर्ती परीक्षा में पकड़ा मुन्नाभाई, ब्लूटूथ के जरिये नकल करते हुए पाया गया परीक्षार्थी

जोधपुर: प्रदेश में आज पुस्तकालय भर्ती परीक्षा में ब्लूटूथ के जरिये नकल करते परीक्षार्थी पकड़ा गया. JNVU रजिस्ट्रार चंचल वर्मा और पुलिस मौके पर पहुंची. परीक्षार्थी नकल करते वरुण भारती स्कूल में पकड़ा गया. नकल करने वाले परीक्षार्थी का नाम श्रीराम विश्नोई है. फिलहाल परीक्षार्थी को दूसरी कॉपी दी गई. परीक्षा खत्म होने के बाद मुकदमा दर्ज होने की कार्रवाई होगी.  

पेपर आउट गिरोह सक्रिय होने की खबर आई थी सामने:
आपको बता दें कि पुस्तकालय अध्यक्ष ग्रेड थर्ड सीधी भर्ती-2018 परीक्षा के एक दिन पहले पेपर आउट गिरोह सक्रिय हो गए थे. जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया पर पेपर आउट करने का ऑडियो वायरल हो रहा था. परीक्षा से 5 घंटे पहले 13 लाख रुपए में पेपर देने की बात कही जा रही थी. जयपुर और जोधपुर में पेपर आउट गिरोह सक्रिय हो रहे हेै. परीक्षा से पहले 3 लाख रुपए देने की बात हो रही है. तो वहीं अंतिम सिलेक्शन के बाद 10 लाख रुपए देने की बात हो रही है. दिसंबर 2019 में पहले भी पेपर आउट होने के चलते यह परीक्षा रद्द हुई थी. 

{related}

आज आयोजित हुई परीक्षा:
पुस्तकालय अध्यक्ष ग्रेड थर्ड सीधी भर्ती परीक्षा-2018 का आयोजन शनिवार को हुआ. यह परीक्षा प्रदेश के 23 जिलों में आयोजित हुई. सुबह 11 बजे से 2 बजे तक परीक्षा आयोजित हुई. परीक्षा को लेकर कोरोना गाइड लाइन अनुसरण के निर्देश दिए. बिना मास्क के किसी परीक्षार्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. परीक्षार्थियों की तापमान जांच और हाथ सैनिटाइज की व्यवस्था की गई. 

बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण और हत्या मामला: SC-ST कोर्ट में किया गया आरोपी महिपाल मदेरणा को पेश

बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण और हत्या मामला: SC-ST कोर्ट में किया गया आरोपी महिपाल मदेरणा को पेश

जोधपुर: बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण व हत्या के मामले में आरोपी महिपाल मदेरणा के सोमवार को ट्रायल कोर्ट में मुलजिम बयान हुए. वहीं बहुचर्चित काकानी हिरण शिकार मामले में हुई सुनवाई के बाद फिल्म अभिनेता सलमान खान को 28 सितंबर को कोर्ट में हाजिर होने के आदेश दिए गए हैं. मुलजिम बयान के दौरान पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा को करीब 450 प्रश्नों के उत्तर देने पड़े.

450 प्रश्नों पर हुए मुल्जिम के बयान:
भंवरी देवी अपहरण हत्या के मामले में एससी एसटी कोर्ट में सुनवाई चल रही है. हाईकोर्ट के निर्देश पर सोमवार को ट्रायल कोर्ट में आरोपी पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के मुल्जिम बयान पूरे किए गए. बहस के दौरान सीबीआई के अधिवक्ता ने पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा से करीब 450 प्रश्न पूछे जिनका उन्होंने जवाब दिए. 

{related}

19 सितंबर को होगी मामले में फिर से सुनवाई:
वहीं महिपाल मदेरणा के अधिवक्ता ने उनका बचाव करते हुए कहा कि महिपाल मदेरणा कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है ऐसे में उन्हें अनावश्यक रूप से मानसिक तनाव देना उनके स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है.करीब 3 घंटे तक मुलजिम बयान पूरे होने के बाद महिपाल मदेरणा को वापस जोधपुर सेंट्रल जेल ले जाया गया. वहीं अब इस मामले में 19 सितंबर को अगली सुनवाई होगी, जिसमें मामले में दूसरे आरोपी शहाबुद्दीन के बयान मुलजिम बयान लिए जाएंगे.

बहुचर्चित हिरण शिकार प्रकरण: सलमान खान को आगामी पेशी पर कोर्ट में पेश होने के आदेश, 28 सितंबर को होना होगा पेश 

बहुचर्चित हिरण शिकार प्रकरण: सलमान खान को आगामी पेशी पर कोर्ट में पेश होने के आदेश, 28 सितंबर को होना होगा पेश 

जोधपुर: बहुचर्चित हिरण शिकार मामले में सीजेएम ग्रामीण कोर्ट द्वारा सलमान खान को सजा सुनाई जाने के विरुद्ध सलमान की ओर से दायर अपील एवं आर्म्स एक्ट मामले में सलमान खान को बरी किए जाने के विरुद्ध राज्य सरकार की ओर से दायर अपील पर जिला एवं सत्र न्यायालय जोधपुर जिला में सोमवार को सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान जिला एवं सत्र न्यायाधीश जोधपुर ग्रामीण ने अगली सुनवाई के दौरान सलमान खान को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के आदेश दिए हैं. इस मामले पर 28 सितंबर को मामले की अगली सुनवाई होगी.

कोर्ट ने सुनाई थी 5 साल की सजा:
फिल्म अभिनेता सलमान खान पर आर्म्स एक्ट का एक मामला दर्ज किया गया था जिस पर सीजेएम ग्रामीण कोर्ट ने सलमान खान को बरी कर दिया था. सीजेएम ग्रामीण कोर्ट के फैसले के खिलाफ राज्य सरकार ने जिला न्यायालय जोधपुर जिला में अपील दायर की थी, इस मामले पर आज डीजे कोर्ट जोधपुर ग्रामीण में सुनवाई होनी थी, वहीं काकानी हिरण शिकार मामले में सीजेएम ग्रामीण कोर्ट ने सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाई थी.

{related}

28 सितंबर को सलमान को होना होगा कोर्ट में हाजिर:
इस सजा के विरुद्ध सलमान खान की ओर से जिला एवं सेशन न्यायालय जोधपुर जिला में अपील दायर की गई थी. इस मामले पर भी आज सुनवाई हुई. जिला एवं सत्र न्यायाधीश जोधपुर ग्रामीण राजेंद्र कासवाल ने आरोपी सलमान खान के उपस्थित नहीं होने पर पूछा जिस पर सलमान के अधिवक्ता हस्तीमल सारस्वत ने हाजिरी माफी का प्रार्थना पत्र लगाया और कोरोना के संक्रमण के चलते उपस्थित नहीं होने के बात कही, जिसके बाद डीजे ग्रामीण में अगली सुनवाई पर सलमान खान के व्यक्तिगत उपस्थित होने के आदेश दिए हैं. 28 सितंबर को होने वाली सुनवाई में सलमान खान को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होना पड़ेगा.

जोधपुर: 6 लाख से अधिक नशीली टेबलेट सहित 384 सिरप बरामद, कोर्ट ने दो आरोपियों को भेजा जेल, दो रिमांड पर

जोधपुर: नारकोटिक्स ब्यूरो की जोधपुर टीम ने पिछले कई दिनों से लगातार मिल रही नशीली टेबलेट के कारोबार की सूचनाओं के आधार पर बड़ी कार्यवाही को जोधपुर में अंजाम दिया है. एनसीबी की टीम को छह लाख से अधिक प्रतिबंधित टेबलेट और 384 बॉटल्स सिरप बरामद करने में कामयाबी मिली है. गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों में से दो को जेल भेजने के आदेश हुए हैं जबकि दो को रिमांड पर लिया गया है पूछताछ में कई अहम सुराग मिलने की संभावना है.

ब्यूरो के अधिकारी उगम दान और वीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में बड़ी कामयाबी:  
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीमें राजस्थान के अलग-अलग क्षेत्रों में वैसे तो लगातार सक्रिय है ही लेकिन राजस्थान के दूसरे बड़े जिले जोधपुर में जब ब्यूरो की टीम को पता लगा कि कई नौजवान प्रतिबंधित नशीली टेबलेट का बड़ा कारोबार यहां चला रहे हैं तो ऐसे में कई दिनों से आगे से आगे सूचनाएं जुटाने के बाद 24 घंटे में की गई कार्रवाई का नतीजा रहा कि ब्यूरो के अधिकारी उगम दान और वीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. एनसीबी की टीम को छह लाख से अधिक प्रतिबंधित टेबलेट और 384 बॉटल्स सिरप बरामद करने में कामयाबी मिली है.

{related} 

कोर्ट ने दो आरोपियों को भेजा जेल, दो रिमांड पर:
आरोपियों से गहन पड़ताल के बाद कुछ और सुराग भी मिलने की बात सामने आ रही है. चारों आरोपियों को एनसीबी की टीम द्वारा महात्मा गांधी अस्पताल में मेडिकल कराने के बाद आज कोर्ट नंबर 5 में पेश किया गया जहां नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की ओर से अधिवक्ता किशन सिंह नाहर ने पैरवी की और न्यायालय ने दो आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए. जबकि दो आरोपियों को रिमांड पर लिया गया है. मीडिया से बातचीत करते हुए अधिवक्ता किशन सिंह नाहर ने बताया कि,आज जो चार आरोपियों को पेश किया गया उसमें मोहित कुमार और संदीप कुमार को तो न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए तो वहीं हनुमान व सामेश्वर को दो दिन का एनसीबी रिमांड दिया गया है. इन दोनों से पूछताछ के बाद फिर कोर्ट में पेश किया जाएगा. 

नहाते समय खींच ली फोटो, वायरल करने की धमकी देकर रिश्ते में लगने वाले देवर ने भाभी से किया रेप

नहाते समय खींच ली फोटो, वायरल करने की धमकी देकर रिश्ते में लगने वाले देवर ने भाभी से किया रेप

जोधपुर: जिले के प्रताप नगर इलाके में एक देवर भाभी के अश्लील फोटो और वीडियो बनाकर तीन साल तक दुष्कर्म करता रहा. इसके बाद आरोपी महिला को खुद से शादी करने का दबाव बनाने लगा. जिसके बाद परेशान महिला ने थाने में मामला दर्ज करवाकर मदद की गुहार लगाई.  

देवर ने भाभी के नहाते समय कुछ अश्लील फोटो खींच लिए: 
शहर में महिलाओं के साथ यौन शोषण और अत्याचार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. ऐसा ही एक और मामला जोधपुर के प्रताप नगर पुलिस थाने में दर्ज हुआ है जहां एक देवर ने भाभी के नहाते समय कुछ अश्लील फोटो खींच लिए. आरोपी देवर फोटो वायरल करने की धमकी देकर पीड़ित महिला के साथ तीन साल तक दुष्कर्म करता रहा. तीन साल के बाद आरोपी भाभी को खुद से शादी करने के लिए दबाव बनाने लगा जिसके बाद परेशान होकर महिला ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है.

{related} 

फोटो वायरल करने की धमकी देकर यौन शोषण करता रहा:
प्रताप नगर पुलिस थाने के सब इंस्पेक्टर ने बताया कि पुलिस थाने में एक महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई है. रिपोर्ट के मुताबिक, रिश्ते में लगने वाले देवर ने उसके नहाते वक्त कुछ फोटो ले लिए थे आरोपी फोटो वायरल करने की धमकी देकर 3 साल तक यौन शोषण करता रहा. महिला के विरोध करने पर आरोपी अश्लील वीडियो मीडिया में वायरल करने की धमकी देता रहा. 

बेहोशी के बाद दुष्कर्म कर उसका वीडियो बनाया:
रिपोर्ट में महिला ने बताया कि उसके देवर ने उसे जबरन कुछ नशीली गोलियां भी खिलाई और बेहोशी के बाद दुष्कर्म कर उसका वीडियो बनाया था. साथ ही कुछ समय बाद जबरन शादी करने का आरोपी दबाव भी बनाने लगा. महिला ने शादी करने से जब मना किया तो युवक ने महिला को वीडियो सार्वजनिक करने की धमकी दी जिसके पश्चात महिला अपने पीहर चली गई. महिला ने जोधपुर जिले के प्रताप नगर पुलिस थाने में पहुंचकर इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज कराई है. पुलिस ने आईटी एक्ट सहित दुष्कर्म की अलग-अलग धाराओं में मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू की है. बुधवार को पुलिस ने पीड़ित महिला का मेडिकल भी करवाया है. 

बिजली विभाग की लापरवाही! सराड़ा में एक पीड़ित के मीटर में वास्तविक रीडिंग 76 यूनिट, बिल थमाया 15 लाख का  

 बिजली विभाग की लापरवाही! सराड़ा में एक पीड़ित के मीटर में वास्तविक रीडिंग 76 यूनिट, बिल थमाया 15 लाख का  

सराड़ा (उदयपुर): राजस्थान के बिजली महकमे में बिलों को लेकर सामने आ रही विसंगतियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं. हर रोज कोई न कोई भारी लापरवाही उजागर हो रही है. पहली बार ऐसा हो रहा है कि लोग इन समस्याओं को लेकर मीडिया के सामने आने की भी हिम्मत जुटा रहे हैं. वर्ना अब तक यह सोचकर कि आगे परेशानी न हो, इसके चलते लोग शिकायतों को अपने स्तर पर ही सुलझाने के लिए संबंधित अधिकारियों के हाथ-पैर जोड़ते रहे हैं.

थाणा गांव के नाहर सिंह को थमाया 15 लाख का बिल:
उदयपुर जिले में बुधवार को बिना कनेक्शन के ही बिल थमा दिए जाने का मामला उजागर हुआ था, गुरुवार को एक मामला ऐसा सामने आया है, जिसके घर में सिर्फ बिजली विभाग ने मीटर लगाया है और उससे सिर्फ एक बल्ब जुड़ा है जो नियमानुसार मीटर लगाने के साथ विभागीय ठेकेदार मीटर चैक करने के लिए लगाता है. इस एक बल्ब ने 15 लाख रुपए की बिजली का उपभोग कर लिया है. यह मामला है थाणा गांव के रणजीत सिंह पुत्र नाहर सिंह का. छह माह पहले इसके घर के बाहर लगे खम्भे पर मीटर टंगा और घर तक लाइन खींचकर प्रावधान के मुताबिक एक बोर्ड और बल्ब लगा दिया गया.

{related}

अकेले रहने वाले पीड़ित के मीटर में वास्तविक रीडिंग 76 यूनिट ही:
कच्चे मकान में अकेले रहने वाले रणजीत के इस मीटर में अभी 76 यूनिट नजर आ रहे हैं. बस बिल में यूनिट लाखों में हैं और बिल भी लाखों का थमा दिया गया है. सवाल यह है कि यदि बिजली महकमे के कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर में कोई समस्या आई है तो महकमा सार्वजनिक रूप से यह स्वीकारोक्ति क्यों नहीं कर रहा है. जहां गड़बड़ी लाखों और करोड़ों में हुई है, वहां तो मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन जहां उपभोक्ताओं के हजार-दस हजार रुपए बढ़ कर आए हैं, उनकी तो सुनवाई ही नहीं हो रही है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए अनिल वैष्णव की रिपोर्ट

VIDEO: पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ अत्याचार जारी, 87 परिवारों का धर्म परिवर्तन करवाने का वीडियो हो रहा वायरल

जोधपुर: पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ धर्म परिवर्तन के नाम पर होने वाले अत्याचार के चलते जहां धार्मिक वीजा पर पाक हिंदू भारत पहुंच रहे है तो वहीं आज भी लगातार धर्म परिवर्तन का खेल पाकिस्तान में जारी है. सिंध पाकिस्तान के जिला ठठा का एक वीडियो फर्स्ट इंडिया न्यूज के हाथ लगा है जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें एक मौलवी द्वारा 87 परिवार जिनमें लगभग 5 हजार से अधिक सदस्य है जिनका धर्मपरिवर्तन करने की बात कही जा रही है.

पाकिस्तान में यह आम बात:  
इस बारे में सीमांत लोक संगठन के वॉलिंटियर प्रेमचंद ने कहा कि पाकिस्तान में यह आम बात है. वहां आए दिन बहु बेटियों के साथ गलत व्यवहार और धर्मपरिवर्तन करना आम बात है. इन 87 परिवारों के साथ भी बंदूक की नौक पर उनका धर्मपरिवर्तन किया जा रहा है जो बिल्कुल गलत है. कल ही एक विवाहिता कविता नामक लडकी का सिंध से अपहरण हुआ था जिसका धर्मपरवर्तन करके किसी मुस्लिम लड़के से उसका विवाह कर दिया गया.

{related} 

हिंदुओं के साथ वहां काफी गलत व्यवहार होता है:
उन्होंने कहा कि हिंदुओं के साथ वहां काफी गलत व्यवहार होता है. हिंदुओं का कत्ल तक कर दिया जाता है मगर कोई कानूनी कार्यवाही तक नहीं होती. ऐसे में मेरी सरकार से गुहार है कि पाकिस्तान की सरकार पर प्रेशर बनाया जाए ताकि इस तरह हिंदुओं पर अत्याचार बंद हो सके.

Open Covid-19