Live News »

मुस्लिमों को 5 एकड़ जमीन देने का विरोध, हिंदू महासभा भी दायर करेगी रिव्यू पिटिशन

मुस्लिमों को 5 एकड़ जमीन देने का विरोध, हिंदू महासभा भी दायर करेगी रिव्यू पिटिशन

नई दिल्ली: अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर हिंदू महासभा भी पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी. हिंदू महासभा की यह याचिका मुस्लिम पक्षकारों को 5 एकड़ जमीन दिए जाने के खिलाफ है. साथ ही हिंदू पक्षकारों पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को लेकर विचार करने को कहेगी.

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले को लेकर मुस्लिम पक्ष की तरफ से पुनर्विचार याचिका दाखिल की जा रही है. आज 4 पुनर्विचार याचिकाएं दायर की जाएंगी. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से मिसबाहुद्दीन, मौलाना हसबुल्ला, हाजी महबूब और रिजवान अहमद द्वारा पुनर्विचार याचिकाएं दायर की जाएंगी. वहीं भारतीय पीस पार्टी की ओर से पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी गई है. 

बता दें कि नवंबर में सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में फैसला सुनाया था. जिसके अनुसार विवादित जमीन रामलला को दे दी जाए और मुस्लिमों को किसी दूसरी जगह 5 एकड़ जमीन दी जाए. लेकिन फैसले के खिलाफ सुन्नी वक्फ बोर्ड ने पुनर्विचार याचिका दाखिल करने से इनकार कर दिया है. वहीं जमीयत उलेमा हिन्द ने इस मामले से जुड़े एक पक्ष के साथ मिलकर याचिका दाखिल की है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

राजस्थान के सियासी संकट को लेकर हाईकोर्ट से बड़ी खबर, पायलट गुट की याचिका डिविजन बेंच-1 में रैफर

जयपुर: राजस्थान सियासी संकट को लेकर हाईकोर्ट से बड़ी खबर मिली है, अब सचिन पायलट गुट की ओर से दायर याचिका डबल बेंच 1 में रेफर कर दी गई है. आपको बता दें कि सचिन पायलट की याचिका पर दोबारा सुनवाई शुरू हुई. जस्टिस सतीश कुमार शर्मा की सिंगल बैंच में सुनवाई हुई. पायलट कैंप की ओर से संशोधित याचिका पेश की गई. पायलट कैंप की वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे पैरवी कर रहे है. एडवोकेट साल्वे ने कहा कि संशोधन स्वीकार किया जा सकता है.

शाम 7:30 बजे हो सकती है सुनवाई:
संशोधन याचिका पर हरीश साल्वे-अभिषेक मनु सिंघवी के बीच बहस शुरू हुई. अभिषेक मनु सिंघवी ने याचिका का विरोध करते हुए कहा कि बिना आधार के याचिका को कैसे स्वीकार किया जा सकता है. महाधिवक्ता एमएस सिंघवी ने याचिका का विरोध किया. अपराह्न 4.15 बजे अर्जी दायर की कैसे सुनवाई की जा सकती है? याचिका को स्वीकर करते हुए मामला डिविजन बैंच-1 में रैफर कर दिया गया. डिविजन बैंच आज शाम 7:30 बजे याचिका पर सुनवाई कर सकती है. 

कांकाणी हिरण शिकार मामला: फिल्म अभिनेता सलमान की अपील पर टली सुनवाई

टल गई थी सुनवाई:
इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष के नोटिस के खिलाफ दायर याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई फिलहाल टल गई थी. अभिषेक मनु सिंघवी ने गहलोत सरकार की ओर से पैरवी की. एडवोकेट हरीश साल्वे के तर्क को अभिषेक मनु सिंघवी ने नकारा. कहा कि अमेंडमेंट की अर्जी अभी तक पेश नहीं हुई. हाईकोर्ट में मामले की सुनवाई समाप्त हुई. एडवोकेट हरीश साल्वे को अमेंडमेंट अर्जी पेश करने का समय दिया गया. आपको बता दें कि राजस्थान का सियासी संकट राजस्थान हाईकोर्ट पहुंच गया है. पायलट कैंप की ओर से हाईकोर्ट में याचिका पर दायर की गई है. 

विधायकों को जारी नोटिस की संवैधानिक वैधता नहीं :
जिस पर जस्टिस सतीश कुमार शर्मा की अदालत में सुनवाई हुई. मुख्य सचेतक डॉ.महेश जोशी की ओर से अजीत भंडारी ने पक्ष रखा. पायलट की ओर से एडवोकेट हरीश साल्वे ने बहस करते हुए कहा कि सदन से बाहर हुई कार्यवाही के लिए स्पीकर नोटिस जारी नहीं कर सकते है. विधायकों को जारी नोटिस की संवैधानिक वैधता नहीं है. 

अमेंडमेंट अर्जी पेश करने का दिया समय:
नोटिस को किया जाए रद्द और अवैधानिक घोषित किया जाये. इस मामले पर सुनवाई पूरी हुई. हरीश साल्वे को अमेंडमेंट अर्जी पेश करने का समय दिया है. पायलट और अन्य की ओर याचिका में संशोधन की बात की गई. आज शाम या कल फिर सुनवाई हो सकती है. मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांति समय और तारीख तय करेंगे. खंडपीठ में याचिका को पेश करना चाहते है. 

सावन में हुए मेघ मेहरबान, जयपुर के कई इलाकों में झमाझम बारिश, तापमान में गिरावट

मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास बोले, वोटों के दम पर चुनी सरकार को नोटों के दम पर गिराना चाहते है

मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास बोले, वोटों के दम पर चुनी सरकार को नोटों के दम पर गिराना चाहते है

जयपुर: राजस्थान में सियासी सं​कट के बीच मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने गुरुवार दोपहर को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जिसमें खाचरियावास ने एक बार फिर से ​बीजेपी निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि राजस्थान के वोट से चुनी हुई सरकार है. कांग्रेस के निशान पर जीते लोग भाजपा के साथ मिलकर शपथ लेना चाहते है. बागी विधायक जयपुर में रहकर अपनी बात उठाते. AICC में जाकर अपनी बात कहते. वोटों के दम पर चुनी सरकार को नोटों के दम पर गिराना चाहते है. 

राजस्थान हाईकोर्ट में सचिन पायलट कैंप की याचिका दायर, दोपहर 3 बजे होगी ​हाईकोर्ट में सुनवाई

विधानसभा नियम कायदे से चलती है:
मध्य प्रदेश जैसा एक्ट राजस्थान में करने की कोशिश की. अब नम्बर गेम कम है तो प्लानिंग दूसरी की जा रही है. मंत्री प्रताप सिंह ने कहा कि विधानसभा स्पीकर को सब अधिकार है. विधानसभा नियम कायदे से चलती है. पायलट ग्रुप द्वारा कोर्ट में जाने पर की बात पर उन्होंने कहा कि डर पैदा होने पर अब बागी कदम उठा रहे है. पार्टी का व्हिप मानना पड़ेगा. सरकार गिराने की कोशिश में विपक्ष जुटा है. हमारे बागियों के प्रति अचानक प्रेम जाग गया. 

2 BTP और 1 CPI विधायक के मानेसर पहुंचने की खबर, जानिए क्या बोले पूरे घटनाक्रम पर विधायक

2 BTP और 1 CPI विधायक के मानेसर पहुंचने की खबर, जानिए क्या बोले पूरे घटनाक्रम पर विधायक

जयपुर: राजस्थान सियासी संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस पर नए नए खुलासे भी हो रहे है. ताजा मामला 2 BTP और 1 CPI विधायक के मानेसर पहुंचने की खबर सामने आई है, लेकिन BTP के दोनों विधायकों ने खबर को भ्रामक बताया. BTP विधायक रामप्रसाद ने कहा कि हम दोनों विधायक कांग्रेस के साथ है. 

Rajasthan Political Crisis: पायलट कैंप के विधायक आज विधानसभा अध्यक्ष के नोटिस को दे सकते हैं चुनौती

बलवान पूनिया ने भी खुद को जयपुर में बताया:
हमारे को लेकर चलाई जा रही खबरें पूरी तरह से गलत है. हम दिल्ली नहीं पहुंचे हैं,जयपुर में ही है,हम कांग्रेस के साथ है. BTP विधायक राजकुमार रोत ने खुद को बताया खुद को चौरासी में. दोनों विधायकों ने फोन पर जयपुर आने बात की कही. CPI विधायक बलवान पूनिया ने भी खुद को जयपुर में बताया.

खबरें व भ्रामक और असत्य:
कहा कि मैं गांधीनगर निवास पर हूं, मेरा साथी विधायक डूंगरगढ़ में है. मेरे बारे में जो भी खबरें व भ्रामक और असत्य है. इससे पहले जयपुर होटल फेयरमाउंट में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और दिल्ली से आए पार्टी पदाधिकारियों के बीच चर्चा की है. विधानसभा से जारी हुए नोटिस को लेकर मंथन चल रहा है. 19 विधायकों को दिए नोटिस की कल अवधि पूरी हो रही है. पायलट खेमे के संभावित स्टैंड को लेकर पार्टी पदाधिकारियों में चर्चा की गई.

श्रीगंगानगर: अंतर्राष्ट्रीय सीमा के नजदीक मिला पाकिस्तानी गुब्बारा, गुब्बारे पर अंग्रेजी और उर्दू में लिखा...

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 32,695 नए मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 10 लाख के करीब

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 32,695 नए मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 10 लाख के करीब

नई दिल्ली: दुनियाभर के साथ भारत में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 10 लाख के करीब पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 32,695 नए मामले सामने आए हैं और 606 लोगों की मौत हुई है. इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 9,68,876 हो गई है. जिनमें से 3,31,146 सक्रिय मामले हैं, 6,12,815 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 24,915 लोगों की मौत हो चुकी है. 

ट्विटर्स पर हैकर्स का सबसे बड़ा हमला, ओबामा, बिल गेट्स, जेफ बेजोस समेत कई बड़ी हस्तियों अकाउंट हुआ हैक 

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में: 
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र में एक लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. 

Rajasthan Political Crisis: बीजेपी को सचिन पायलट के खुले तौर पर फैसला लेने का इंतजार, बनाई रणनीति 

भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश:
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. भारत, अमेरिका, ब्राजील और रूस में कुल मिलाकर इस समय 72 लाख से अधिक केस हैं. यह दुनिया के कुल केस का 53% से ज्यादा है. सबसे ज्यादा 35.80 लाख केस अमेरिका में हैं. ब्राजील में बुधवार देर रात तक 19.40 लाख केस हो चुके थे. भारत 9.68 लाख और रूस 7.46 लाख केस के साथ क्रमश: तीसरे और चौथे नंबर पर हैं. पेरू 3.33 लाख केस के साथ पांचवें नंबर पर है. दुनिया में अब तक 1.36 करोड़ केस आ चुके हैं. 


 

मध्यप्रदेश: गुना में किसान दंपति को पीटने का वीडियो आया सामने, कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरा

मध्यप्रदेश: गुना में किसान दंपति को पीटने का वीडियो आया सामने, कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरा

भोपाल: अतिक्रमण हटाने गई पुलिस ने मध्य प्रदेश के गुना में मंगलवार को किसान दंपति की लाठियों से पिटाई कर दी. इसके बाद दंपति ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुना जिले के कलेक्टर और एसपी को तुरंत हटाने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही घटना की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. 

घटना का वीडियो देखकर व्यथित हूं:
वहीं सूबे के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने घटना का वीडियो जारी करते हुए कहा कि गुना के कैंट थाना क्षेत्र की घटना का वीडियो देखकर व्यथित हूं. इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं से बचा जाना चाहिए. मुख्यमंत्री ने तत्काल अधिकारियों को उच्चस्तरीय जांच के निर्देश दिए हैं. भोपाल से जांच दल मौके पर जाकर पूरी घटना की जांच करेगा. इसके बाद जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई करेंगे. 

कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरा: 
दूसरी ओर इस घटना पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि शिवराज सरकार प्रदेश को कहां ले जा रही है? ये कैसा जंगल राज है? गुना में कैंट थाना क्षेत्र में एक दलित किसान दंपत्ति पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों द्वारा इस तरह बर्बरता पूर्ण लाठीचार्ज. 

उन्होंने कहा कि यदि पीड़ित युवक का जमीन संबंधी कोई शासकीय विवाद है, तो भी उसे कानूनन हल किया जा सकता है, लेकिन इस तरह कानून हाथ में लेकर उसकी, उसकी पत्नी की, परिजनों की और मासूम बच्चों तक की इतनी बेरहमी से पिटाई, यह कहां का न्याय है? क्या यह सब इसलिए कि वो एक दलित परिवार से है, गरीब किसान है?

कमलनाथ ने सवाल करते हुए कहा कि क्या ऐसी हिम्मत इन क्षेत्रों में तथाकथित जनसेवकों व रसूख़दारों द्वारा क़ब्ज़ा की गयी हज़ारों एकड़ शासकीय भूमि को छुड़ाने के लिये भी शिवराज सरकार दिखायेगी ? ऐसी घटना बर्दाश्त नहीं की जा सकती है.  इसके दोषियों पर तत्काल कड़ी कार्यवाही हो, अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी. 

यह है मामला: 
गुना में मॉडल कॉलेज के निर्माण के लिए शासकीय कॉलेज प्रबंधन को जगनपुर चक क्षेत्र में 20 बीघा जमीन आवंटित की गई थी. इस जमीन पर लंबे समय से गब्बू पारदी नाम के व्यक्ति का कब्जा था. कुछ समय पहले राजस्व और पुलिस की टीम ने मिलकर अतिक्रमण हटवा दिया था. हालांकि विभाग की लापरवाही के चलते जमीन पर निर्माण नहीं हो सका. इसकी वजह से अतिक्रमणकारियों ने दोबारा जमीन को घेरना शुरू दिया था. 


 

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी हलचल, करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे सीएम आवास

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी हलचल, करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे सीएम आवास

जयपुर: राजस्थान कांग्रेस में सियासी संकट मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है. मुख्यमंत्री आवास पर विधायकों के पहुंचने का सिलसिला जारी है. सीएम गहलोत से मिलने करीब 20 विधायक पहुंचे. इससे पहले शनिवार को सीएम गहलोत जब कैबिनेट मीटिंग कर रहे थे तो, डिप्टी सीएम सचिन पायलट इस बैठक में शामिल नहीं हुए. इस वक्त वो दिल्ली में थे.

करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे मुख्यमंत्री आवास:
आपको बता दें कि करीब 20 मंत्री-विधायक मुख्यमंत्री आवास पहुंचे. जिनमें शांति धारीवाल, गोविंद डोटासरा, महेश जोशी, सालेह मोहम्मद, टीकाराम जूली, भंवर सिंह भाटी, भजन लाल जाटव, प्रमोद जैन भया,हरीश चौधरी, महेंद्र चौधरी,बाबूलाल नागर, रामलाल जाट, जोगिंदर अवाना,राजेंद्र गुढ़ा संदीप यादव, लखन मीणा, रफीक खान, जोहरी लाल मीणा, रघुवीर मीना,शकुंतला रावत, मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे.इससे पहले इंटेलिजेंस के अफसर मुख्यमंत्री अवासर पर पहुंचे. मुख्यमंत्री गहलोत को प्रदेश की कानून व्यवस्था की रिपोर्ट देंगे. वहीं एसओजी के अधिकारियों के भी पहुंचे की चर्चा है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 4 मौत, 153 नए पॉजिटिव केस, अलवर में सर्वाधिक 42 पॉजिटिव मरीज मिले

शनिवार को भी इन मंत्रियों और विधायकों ने की सीएम से मुलाकात: 
राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त के जरिए सरकार गिराने की साजिश के खुलासे के बाद राजस्थान सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की. मुख्यमंत्री आवास पर हुई मुलाकात में एक दर्जन मंत्री और एक दर्जन विधायक मौजूद रहे. बसपा से आए 6 में से 4 विधायक और आधा दर्जन से अधिक निर्दलीय विधायक सीएम से मिले. मुख्यमंत्री से करने वालों में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, श्रम मंत्री टीकाराम जूली, महिला बाल विकास विभाग मंत्री ममता भूपेश, खेल मंत्री अशोक चांदना, मुख्य सचेतक महेश जोशी, उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी शामिल रहे. 

अनुपम खेर के परिवार के 4 सदस्यों को हुआ कोरोना, मां और भाई निकले कोरोना संक्रमित, ट्वीट करके दी जानकारी

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 574 नए केस, 6 मरीजों की मौत, अकेले बीकानेर में मिले 105 नए पॉजिटिव मरीज

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 574 नए केस, 6 मरीजों की मौत, अकेले बीकानेर में मिले 105 नए पॉजिटिव मरीज

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मरीजों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 6 मरीजों की मौत हो गई है. जबकि 574 नए पॉजिटिव मरीज सामने आये है. प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 5 हजार 376 है. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 23 हजार 748 पहुंच गई है. वहीं अब तक कोरोना की चपेट में आने से 503 मरीजों की मौत हो गई है. प्रदेश में 17 हजार 869 मरीज कोरोना से रिकवर्ड हो गए है. 

सबसे अधिक 105 केस बीकानेर में दर्ज:
बीकानेर में शनिवार को सबसे ज्यादा 105 मरीज सामने आये है. जबकि इन जिलों में नए केस दर्ज किए गए है, अजमेर 7, अलवर 45, बांसवाड़ा 2, बारां 2, बाड़मेर 30,भरतपुर 24, भीलवाड़ा 5, बीकानेर 105, चूरू 8, दौसा 3, धौलपुर 2, डूंगरपुर 7, गंगानगर 1, हनुमानगढ़ 4, जयपुर 53, जालौर 45, झुंझुनूं 4, जोधपुर 81, करौली 3, कोटा 1, नागौर 28, पाली 23, प्रतापगढ़ 3, राजसमंद 14, सवाईमाधोपुर 8, सीकर 8,सिरोही 18,टोंक 1, उदयपुर 36, वहीं अन्य राज्य से 3 केस सामने आये है. 

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण पर सबसे बड़ा अपडेट! गुड़गांव में हो रही विधायकों की बाड़ेबंदी 

शुक्रवार को आये थे 611 मरीज:
प्रदेश में शुक्रवार को 6 मरीजों की मौत हो गई थी. जबकि 611 नए पॉजिटिव केस सामने आये थे. बीकानेर में 3, अजमेर,भरतपुर व सवाई माधोपुर में 1-1 मरीजों की मौत हो गई. प्रदेश के अलवर जिले में सर्वाधिक 126 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है. अजमेर- 36, बाड़मेर- 49, भरतपुर- 25, बीकानेर- 35, बूंदी- 2 पॉजिटिव, चित्तौडगढ़- 2, चूरू- 15,धौलपुर- 9, डूंगरपुर- 2, श्रीगंगानगर- 4 पॉजिटिव, हनुमानगढ़- 13, जयपुर- 46, जालोर- 5, झालावाड़- 1, झुंझुनूं- 7 पॉजिटिव, जोधपुर- 114,करौली- 6, कोटा- 7, नागौर- 12, पाली- 71, राजसमंद- 4 पॉजिटिव, सवाईमाधोपुर- 3, सीकर- 8, सिरोही- 5,  टोंक- 1, उदयपुर- 3 पॉजिटिव मरीज मिले है. राजस्थान में कोरोना की वजह से अब तक 497 मरीजों की मौत हो गई. जबकि कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 23 हजार 174 पहुंच गई.

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: अपनी संबंधता सूची से कांग्रेस ने तीन विधायकों के नाम हटाए

हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने किया फेसबुक लाइव, 38 मिनट तक आमजन के सवालों के जवाब दिए, सुझाव पूछे

 हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने किया फेसबुक लाइव, 38 मिनट तक आमजन के सवालों के जवाब दिए, सुझाव पूछे

जयपुर: हाउसिंग बोर्ड की आवासीय योजनाओं से जुड़ी आमजन की जिज्ञासाओं को लेकर कमिश्नर पवन अरोड़ा आज उनसे सीधे जुड़े. पवन अरोड़ा ने हाउसिंग बोर्ड के ऑफिशियल पेज पर फेसबुक लाइव किया. लोगों ने उनसे हाउसिंग बोर्ड की योजनाओं को लेकर कई तरह के सवाल पूछे, अरोड़ा ने एक-एक कर अधिकांश लाेगों के सवालों के जवाब दिए, साथ ही हाउसिंग बोर्ड की आगामी योजनाओं के बारे में भी बताया. पिछले एक साल से आवासों की बिक्री के मामले मे 2 बार वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुके राजस्थान हाउसिंग बोर्ड के कमिश्नर पवन अरोड़ा ने आज आमजन से सीधी बातचीत की. हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा 38 मिनट तक फेसबुक पर लाइव रहे. उद्देश्य यही था कि लोगों के हाउसिंग बोर्ड के आवासों और व्यावसायिक सम्पत्तियों को लेकर सवालों के सीधे जवाब दिए जाएं. उनके मन में कोई शंका हो तो उसका समाधान किया जाए और कमिश्नर पवन अरोड़ा की यह पहल पहली बार में ही जबरदस्त हिट हुई.

धैर्यपूर्वक एक-एक सवाल का दिया जवाब:
मात्र 38 मिनट में 268 लोग उनसे फेसबुक पर जुड़े और अपने सवाल उनके सामने रखे. अरोड़ा ने धैर्यपूर्वक एक-एक सवाल का जवाब दिया, लोगों की जिज्ञासाओं को शांत किया और उनके सुझावों को नोट कर अमल में लाने का आश्वासन भी दिया. पवन अरोड़ा ने बताया कि आज सोशल मीडिया आमजन से जुड़ने का सशक्त माध्यम है, इसलिए उन्होंने इसकी पहल की. आपको बता दें कि हाउसिंग बोर्ड सम्पत्तियों की नीलामी के मामले में 2 बार वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुका है. हाल ही हाउसिंग बोर्ड ने अपने नवंबर 2019 के बनाए पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा है, जिसके तहत मात्र 12 दिन में 1213 सम्पत्तियों की बिक्री कर 178 करोड़ का राजस्व अर्जित किया है.

बारां में ACB की बड़ी कार्रवाई, ग्राम विकास अधिकारी सतपाल सिंह और सरपंच पंकज मित्तल ट्रैप 

हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा के फेसबुक लाइव की बड़ी बातें
- 3 दिन बाद शुरू होने जा रहे ई-ऑक्शन को लेकर लोगों ने सवाल पूछे
- 13 से 30 जुलाई तक व्यावसायिक सम्पत्तियों का ई-ऑक्शन करेगा हाउसिंग बोर्ड
- ई-ऑक्शन के लिए अभी से दो दर्जन से ज्यादा पंजीयन हो चुके हैं
- भुगतान की शर्तें आसान की गई, इसलिए लोगों के लिए सम्पत्ति खरीदना सहज हुआ
- अब कुल राशि की 50 प्रतिशत जमा करने के लिए 1 साल तक का समय मिलता है
- मात्र 10 प्रतिशत राशि देकर अपना आवास खरीद सकते हैं
- मानसरोवर सिटी पार्क में वृहद स्तर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम होगा
- यहां कोचिंग हब बनाने को लेकर लोगों ने जिज्ञासा दिखाई है
- टेक्नोलॉजी पार्क में इंदिरा महिला शक्ति केन्द्र बनाए जाने की पहल की जा रही

हाउसिंग बोर्ड की योजनाओं में अब बढ़ रही है जनभागीदारी:
हाउसिंग बोर्ड के पिछले 1 साल में उत्थान का राज क्या है, इस तरह के सवाल जब हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर से पूछे गए तो उन्होंने सहजता से कहा कि इसके पीछे हाउसिंग बोर्ड की टीम का जोश है. हाउसिंग बोर्ड में पिछले 10 वर्षों से अधिकारियों-कर्मचारियों की पदोन्नतियां नहीं हो सकी थी. हमने उन्हें प्राथमिकता के आधार पर किया है. बाबू से लेकर चीफ इंजीनियर तक की पदोन्नतियां की गई हैं. लिहाजा पूरे हाउसिंग बोर्ड में अधिकारियों-कर्मचारियों में खुशी है और वो दुगुने जोश के साथ काम कर रहे हैं. अरोड़ा बोले कि हाउसिंग बोर्ड की योजनाओं में अब जनभागीदारी बढ़ रही है.

अब यह नहीं होगा कि मकान बनाएं और बिकें नहीं
- हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि अब यह समस्या नहीं होगी
- अब जनता की मांग के आधार पर मकान बनाए जा रहे हैं
- शिक्षकों के लिए उनकी मांग के आधार पर योजना लॉन्च की गई
- अब उन्हीं लोगों से किश्तों में पैसा लेकर मकान बनाकर हम दे रहे हैं
- शिक्षक आवास योजना के मकान बनाकर जल्द उनको सुपुर्द कर देंगे
- हाउसिंग बोर्ड अब कर्मचारियों के लिए नई आवासीय योजना लॉन्च करेगा
- इसकी लॉन्चिंग मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के हाथों कराई जाएगी

जयपुर एयरपोर्ट में चलने वाली बसों पर टैक्स वसूली पर रोक, इंडोथाई कंपनी की 8 बसों पर लगाया था 2.5 करोड़ का टैक्स

हाउसिंग बोर्ड बना रहा है नए रिकॉर्ड:
एक तरफ जहां बुधवार नीलामी उत्सव, किश्तों में आवास योजना के जरिए हाउसिंग बोर्ड नए रिकॉर्ड बना रहा है, वहीं अब 13 जुलाई से शुरू होने जा रहे व्यावसायिक सम्पत्तियों के ई-ऑक्शन में हाउसिंग बोर्ड को बड़े स्तर पर बिक्री और राजस्व संग्रहण की उम्मीद है. इसी दिशा में कमिश्नर पवन अरोड़ा ने आमजन से सीधे जुड़ने की पहल की है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि हाउसिंग बोर्ड त्यौहारी सीजन के समय में अपने पुराने रिकॉर्ड तोड़ नए रिकॉर्ड कायम करेगा और आमजन के आवास का सपना भी पूरा होगा.

...सहयोगी शिवेन्द्र परमार के साथ काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

Open Covid-19