हॉकी इंडिया की इंडिया ने सीनियर महिला राष्ट्रीय शिविर के लिये 25 खिलाड़ियों का चयन किया

हॉकी इंडिया की इंडिया ने सीनियर महिला राष्ट्रीय शिविर के लिये 25 खिलाड़ियों का चयन किया

हॉकी इंडिया की इंडिया ने सीनियर महिला राष्ट्रीय शिविर के लिये 25 खिलाड़ियों का चयन किया

बेंगलुरू: हॉकी इंडिया ने सोमवार से शुरू होने वाले सीनियर महिला राष्ट्रीय कोचिंग शिविर के लिये रविवार को 25 खिलाड़ियों का चयन किया जिसमें तोक्यो ओलंपिक में ऐतिहासिक चौथे स्थान पर रहने वाली राष्ट्रीय टीम की सदस्य भी शामिल हैं. हॉकी इंडिया ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कोर ग्रुप 12 सितंबर रविवार को राष्ट्रीय शिविर के लिये रिपोर्ट करेगा जिसमें ओलंपिक खेल तोक्यो 2020 में हिस्सा लेने वाले भारतीय दल की 16 खिलाड़ी भी शामिल हैं और यह 20 अक्टूबर 2021 को समाप्त होगा. 

इन 25 संभावित खिलाड़ियों में गगनदीप कौर, मारियाना कुजुर, सुमन देवी थौडाम और महिमा चौधरी शामिल हैं जिन्हें जूनियर से सीनियर कोर ग्रुप में लाया गया है. अनुभवी खिलाड़ी लिलिमा मिंज, रश्मिता मिंज, ज्योति राजविंदर कौर और मनप्रीत कौर को भी शिविर के लिये बुलाया गया है. सलीमा टेटे, लालरेमसियामी और शर्मिला ओलंपिक टीम का हिस्सा थीं, वे बेंगलुरू के भारतीय खेल प्राधिकरण में उसी परिसर में चल रहे जूनियर भारतीय महिला टीम के राष्ट्रीय कोचिंग शिविर से जुड़ेंगी. बीचू देवी खारीबाम भी ओलंपिक कोर ग्रुप का हिस्सा थीं और वह जूनियर राष्ट्रीय शिविर से जुड़ेंगी. 

जूनियर कोर ग्रुप इस समय सबसे महत्वपूर्ण प्रतियोगिता एफआईएच जूनियर महिला विश्व कप की तैयारियों में जुटा है जिसका आयोजन इस साल के अंत में दक्षिण अफ्रीका में किया जायेगा. हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोम्बाम ने कहा कि खिलाड़ियों के लिये तोक्यो में अभियान निराशाजनक तरीके से समाप्त हुआ क्योंकि वे पदक के इतने करीब होते हुए भी दूर थीं. लेकिन खिलाड़ियों को पिछले कुछ हफ्तों में जो प्यार और समर्थन मिला है, वो शानदार है और इससे वे बेहतर करने के लिये प्रोत्साहित हुई हैं. 

कोर संभावित ग्रुप : सविता, रजनी इतिमारपू, दीप ग्रेस एक्का, रीना खोखर, मनप्रीत कौर, गुरजीत कौर, निशा, निक्की प्रधान, मोनिका, नेहा, लिलिमा मिंज, सुशीला चानू पुखराम्बाम, नमिता टोप्पो, रानी, वंदना कटारिया, नवजोत कौर, नवनीत कौर, राजविंदर कौर, उदिता, रश्मिता मिंज, ज्योति, गगनदीप कौर, मारियाना कुजुर, सुमन देवी थौडाम और महिमा चौधरी. सोर्स-भाषा

और पढ़ें