close ads


स्वर्णनगरी में होली का धमाल दिखाना हुआ शुरू, दुर्ग स्थित नगर अराध्य लक्ष्मीनाथ मंदिर में फागोत्सव

स्वर्णनगरी में होली का धमाल दिखाना हुआ शुरू, दुर्ग स्थित नगर अराध्य लक्ष्मीनाथ मंदिर में फागोत्सव

जैसलमेर: स्वर्णनगरी में होली का धमाल दिखाना शुरू हो गया है. आज से होलिकाष्टक से होली की धूम भी शुरू हो चुकी है. इन दिनों दुर्ग स्थित नगर अराध्य लक्ष्मीनाथ मंदिर में फाग की धूम है. बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं सहित जैसलमेर की होली के रसिया मंदिर में चल रहे फागोत्सव में हिस्सा लेने पहुंच रहे हैं. मंदिर परिसर फाग के दौरान श्रद्धालुओं से खचाखच भरा नजर आता है. ब्रजभाषा सहित विभिन्न छंदों पर ठाकुरजी के साथ फाग के गीतों की धूम है. 

VIDEO: प्रदेश युवा कांग्रेस चुनाव परिणाम, सुमित भगासरा बने यूथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष! 

अष्टमी से शुरू हुई फाग की धूम होली तक जारी रहेगी:
लक्ष्मीनाथजी के मंदिर में अष्टमी से शुरू हुई फाग की धूम होली तक जारी रहेगी. इस दौरान विभिन्न फाग के गीतों के पर तबले झांझ के साथ समा बांधा जाता है. बड़ी संख्या में होली के रसिया फागोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचते हैं. फाग के दौरान मंदिर में फाग खेलते हैं. माना जाता है कि फाग के दौरान खुद लक्ष्मीनाथ जी श्रद्धालुओं के साथ फाग खेलते हैं.  हिंदू कैलेंडर के हिसाब से ग्यारस तिथि को जैसलमेर के राजपरिवार द्वारा लक्ष्मीनाथ जी मंदिर में फाग खेली जाएगी. इसके बाद से ही परंपरागत गैरें निकलेंगी.

VIDEO: दौसा में 8वीं की छात्रा से गैंगरेप, वीडियो व फोटो भी वायरल करने का आरोप 

लक्ष्मीनाथ जी के मंदिर से होली का श्रीगणेश: 
होली के रसियों द्वारा लक्ष्मीनाथ जी के मंदिर पहुंचकर परंपरागत रूप से होली का श्रीगणेश किया जाता है. इसके बाद धुलंडी तक मंदिर में होली की धूम रहती है. मरूप्रदेश के लोक जीवन में भिन्न भिन्न पर्वो, त्योहारों और मेले मगरियों में गीतों का महत्व है, ठीक उसी तरह होली के पर्व पर भी यहां के लोग अपने कठोर जीवन को सरल बनाकर फाग के गीतों में रम जाते हैं. लक्ष्मीनाथ मंदिर में सदियों से सूरदास, मीरा, चन्द्रसखी आदि कवियों के ब्रज और राजस्थानी में रचे हुए गीत गाए जाते हैं. 

और पढ़ें