Live News »

बजट में रेल से जुड़ी 'उम्मीदें', क्या इस बार भी मिलेगा 5000 करोड़ का फंड !

बजट में रेल से जुड़ी 'उम्मीदें', क्या इस बार भी मिलेगा 5000 करोड़ का फंड !

जयपुर (काशीराम चौधरी)। पिछले दो वर्षों से रेल बजट पेश नहीं हो रहा है और इस बार भी आम बजट में ही रेलवे से जुड़ी घोषणाओं का समावेश होगा। बजट में रेलवे से जुड़े लोगों की उम्मीदें काफी हैं। पिछले सालों में रेलवे से जुड़े प्रोजेक्ट्स के लिए राजस्थान को बड़ा फंड मिलता रहा है, ऐसे में इस बार भी बड़ा फंड मिलने की उम्मीद रहेगी। जानिए, क्या हैं प्रदेशवासियों की रेलवे से जुड़ी उम्मीदें, एक विशेष रिपोर्ट-

वर्ष 2016 तक आम बजट के साथ ही रेल बजट अलग से पेश होता आया था। लेकिन पिछले दो वर्षों में रेल बजट अलग से लाने की परिपाटी समाप्त हो चुकी है। इसलिए इस बार भी रेल बजट पेश नहीं होगा, बल्कि रेलवे से जुड़ी घोषणाओं को आम बजट में ही समाहित किया जाएगा। वर्ष 2014 से अब तक पिछले 4 वर्षों में रेलवे प्रोजेक्ट्स के लिए राजस्थान को अच्छा फंड मिलता रहा है। इस बार भी रेलवे प्रशासन उम्मीद कर रहा है कि राजस्थान को अच्छा फंड बजट में मिलेगा, जिससे रेलवे के प्रोजेक्ट्स को समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी। दरअसल वर्तमान में प्रदेश की सबसे बड़ी जरूरत सभी रेल रूटों को दोहरीकरण करते हुए इनका विद्युतीकरण करना है। रेलवे प्रशासन ने पिछले रेल बजट में सभी रूट पर विद्युतीकरण कार्य मंजूर कर दिए थे और अगले चार साल में इन कार्यों को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था। दोहरीकृत रूटों को यदि विद्युतीकृत कर दिया जाएगा, तो न केवल ट्रेनों को बीच में हाल्ट करने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा, साथ ही विद्युतीकृत होने से पर्यावरण संरक्षण होगा, ट्रेनों की गति बढ़ेगी और ईंधन खर्च में भी बचत होगी। अभी प्रदेश में 3156 किमी रेल लाइनों को विद्युतीकृत किया जाना है, जिस पर करीब 3129 करोड़ रुपए लागत आएगी। कुल 17 रेलखंडों का विद्युतीकरण कार्य पिछले रेल बजट में स्वीकृत किया गया था।

उम्मीदें क्या ?

- इस बार 4 से 5 हजार करोड़ के फंड की उम्मीद
- फंड बड़ा मिलेगा तो दोहरीकरण कार्य तेजी से पूरे हो सकेंगे
- बांदीकुई से आगरा फोर्ट 150 किमी दोहरीकरण अटका हुआ
- डेगाना से राई का बाग 145 किमी दोहरीकरण भी अधर में
- धौलपुर-मथुरा के बीच 107 किमी लाइन का दोहरीकरण पूरा होना है
- जयपुर के खातीपुरा स्टेशन का 79 करोड़ की लागत से विकास होना है, फंड जरूरी
- जैसलमेर से भभ्भर के लिए 339 किमी की नई रेल लाइन अटकी हुई
- जयपुर-सवाईमाधोपुर-रींगस 188 किमी का विद्युतीकरण पूरा हो
- बांदीकुई-भरतपुर 97 किमी ट्रैक का विद्युतीकरण अटका हुआ
- अजमेर से टोंक होकर सवाईमाधोपुर तक, 165 किमी लंबी रेल लाइन शुरू नहीं
- रतलाम से बांसवाड़ा होकर डूंगरपुर तक 176  किमी रेल लाइन अटकी हुई
- उम्मीद इसलिए भी कि बजट 2018 में रेल के लिए राज्य को मिले 4533 करोड़ रुपए
- बजट 2017 में रेल विकास के लिए मिले 3495 करोड़ रुपए

एक तरफ रेलवे प्रशासन जहां उम्मीद कर रहा है कि रेलवे प्रोजेक्ट्स के लिए बड़ा फंड मिलेगा, वहीं आम यात्रियों की उम्मीदें इस बार भी ट्रेनों के बेहतर संचालन और स्टेशनों पर सुविधाओं को लेकर हैं। रेलवे यात्रियों की उम्मीद है कि स्टेशन स्वच्छ रहे, बैठने को पर्याप्त स्थल मिले, उचित दरों पर उच्च गुणवत्ता के खाद्य पदार्थ मिल सकें और ट्रेनों में सुविधाएं मिल सकें। रेलवे प्रशासन आमजन से जुड़ी सुविधाओं में लगातार सुधार करता रहा है। यात्रियों की यह उम्मीद भी सबसे ज्यादा रहती है कि ट्रेनें लेट नहीं हों। ट्रेनों का समय पर संचालन भी रेलवे प्रशासन के सामने एक बड़ी चुनौती है। चूंकि इस बार देशभर में आम चुनाव होने हैं, ऐसे में इस बात की संभावना बहुत कम है कि किराए में बढ़ोतरी होगी। हालांकि उम्मीद की जा रही है कि दिल्ली, महाराष्ट्र में संचालित की जा रही हाईटेक ट्रेनें प्रदेश में भी संचालित हो सकें।

रेल कर्मचारियों की उम्मीदें ये

- रेल कर्मचारियों की उम्मीद है कि न्यू पेंशन स्कीम खत्म हो, पुरानी पेंशन स्कीम लागू हो
- इन्कम टैक्स में छूट का दायरा 5 लाख तक करने की मांग का मांग पत्र सौंपा
- रेलवे के सभी केन्द्रीय अस्पतालों में मेडिकल कॉलेज खोले जाएं
- न्यूनतम वेतन और फिटमेंट फैक्टर में सुधार की मांग भी कर रहे रेल कर्मचारी

रेलयात्री जो चाहते हैं

- गतिमान एक्सप्रेस जैसी हाई स्पीड ट्रेन जयपुर से भी चले
- तेजस एक्सप्रेस जैसी अत्याधुनिक सुविधाओं युक्त ट्रेन का संचालन हो
- दिल्ली और अहमदाबाद रूट पर 120 से 150 किमी प्रति घंटे गति की ट्रेनें चलें
- ट्रेनों के कोच में विमानों जैसी अत्याधुनिक सुविधाएं मिलें
- खान-पान ऑनलाइन ऑर्डर पर मिले, किफायती और गुणवत्ता युक्त हो

उत्तर-पश्चिम रेलवे पर मानव रहित क्रॉसिंग्स अब लगभग समाप्त हो चुके हैं और ज्यादातर फाटकों को ओवरब्रिज या अंडरब्रिज में तब्दील किया जा रहा है, इससे रेल हादसे रोकने में मदद मिलेगी। वहीं शेखावाटी में मीटरगेज को ब्रॉडगेज में बदलने का आमान परिवर्तन कार्य भी लगभग अंतिम चरण में है। दोहरीकरण और विद्युतीकरण के प्रोजेक्ट भी अब प्रदेश में तेज गति से पूरे किए जा रहे हैं। कुलमिलाकर यदि इस बार बजट में रेलवे को अच्छा फंड मिला तो न केवल प्रोजेक्ट्स की गति बढ़ सकेगी, साथ ही रेलवे प्रशासन आम यात्रियों को स्टेशनों पर और ट्रेनों में बेहतर सुविधाएं देने के भी प्रयास करेगा।
 

और पढ़ें

Most Related Stories

राजस्थान में पंचायत चुनाव के चौथे चरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट का अहम आदेश, राज्य सरकार और चुनाव आयोग को दिया निर्देश

राजस्थान में पंचायत चुनाव के चौथे चरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट का अहम आदेश,  राज्य सरकार और चुनाव आयोग को दिया निर्देश

जयपुर: राजस्थान में पंचायत चुनाव के चौथे चरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट का अहम आदेश आया है. कोर्ट ने राजस्थान सरकार और चुनाव आयोग 15 अक्टूबर से पहले पंचायत चुनाव पूरा करने का आदेश दिया है. चौथे चरण में 26 जिलों में पंचायत चुनाव होंगे. चौथे चरण में 1954 ग्राम पंचायत व 126 पंचायत समितियां शामिल हैं. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने अप्रैल में चुनाव सम्पन्न कराने के आदेश दिए थे. लेकिन कोरोना के चलते यह संभव नहीं हो पाया. लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद प्रदेश में पंचायत चुनावों का रास्ता साफ हो गया है. हालांकि पूरा आदेश सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर डलने के बाद ही सामने आएगा. 

केंद्रीय गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, राजीव गांधी फाउंडेशन के लेनदेन की होगी जांच 

इन जिलों में होंगे चौथे चरण के चुनाव:
पंचायतों के चौथे चरण के चुनाव जिन जिलों में होने हैं उनमें अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, बाड़मेर, भरतपुर, बीकानेर, चूरू, दौसा, धौलपुर है. इसके अलावा हनुमानगढ़, जयपुर, जैसलमेर, जालोर, जोधपुर, झुंझुनू, करौली, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, उदयपुर और श्रीगंगानगर जिलों की पंचायती राज संस्थाओं में चुनाव होने हैं. 

तीन चरणों के चुनाव जनवरी माह में संपन्न हुए: 
इससे पहले प्रदेश में ग्राम पंचायतों के तीन चरणों के चुनाव जनवरी माह में संपन्न हुए थे. इसके बाद चौथे चरण के चुनाव अप्रैल में होने थे लेकिन कोरोना संकट के चलते इसे स्थगित कर दिया गया. लेकिन अब हालात धीरे-धीरे सामान्य होने के बाद चौथे चरण के चुनाव करवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार और चुनाव आयोग को निर्देश जारी किया है. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 22752 नए मामले सामने आए, देश में अब 7.42 लाख केस 

प्रशासकों को कर रखा नियुक्त:
गौरतलब है कि ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों और जिला परिषदों का कार्यकाल पंचायत समितियों का कार्यकाल जनवरी माह में समाप्त हो गया था, जिसके बाद सरकार ने यहां प्रशासकों को तैनात कर रखा है. 

Rajasthan Corona Updates: अस्पताल की दूसरी मंजिल से छलांग लगाने पर कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत, लगातार बढ़ रही संक्रमितों की संख्या

Rajasthan Corona Updates: अस्पताल की दूसरी मंजिल से छलांग लगाने पर कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत, लगातार बढ़ रही संक्रमितों की संख्या

जयपुर: राजस्थान के राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय से आज की बड़ी खबर सामने आई है. डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल की दूसरी मंजिल से नीचे कूदने से मरीज की मौत हो गई. कोरोना पॉजिटिव मरीज ने बाथरूम खिड़की तोड़कर नीचे छलांग लगाई. झोटवाड़ा निवासी 78 वर्षीय मरीज का अस्पताल में ही उपचार चल रहा था. अतिगंभीर हालत में मरीज को SMS अस्पताल शिफ्ट करने की तैयारी चल रही थी. लेकिन इससे पहले ही RUHS की इमरजेंसी में मरीज दम तोड़ दिया. मरीज की आज सुबह ही कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव से नेगेटिव आई थी. 

केंद्रीय गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, राजीव गांधी फाउंडेशन के लेनदेन की होगी जांच 

पिछले 12 घंटे में 173 नए पॉजिटिव केस सामने आए:
वहीं प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. पिछले 12 घंटे में 6 लोगों ने कोरोना के चलते दम तोड़ा है तो वहीं 173 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इसमें दौसा में 1, जयपुर में 2, जोधपुर में 1, सवाईमाधोपुर में 1 मरीज की मौत, इसके अलावा अजमेर में 2, अलवर में 81, भीलवाड़ा में 11, बीकानेर में 8, चूरू में 3, डूंगरपुर में 1, जयपुर में 34, झालावाड़ में 1, कोटा में 12, नागौर में 8, राजसमंद में 10 और उदयपुर में 2 मरीज पॉजिटिव आए हैं. ऐसे में प्रदेश में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 21,577 हो गई है. वहीं मृतकों का आंकड़ा भी बढ़कर 478 हो गया है. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में 22752 नए मामले सामने आए, देश में अब 7.42 लाख केस 

मंगलवार को प्रदेश में रिकॉर्ड 716 नए पॉजिटिव मरीज सामने आये:  
इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में रिकॉर्ड 716 नए पॉजिटिव मरीज सामने आये जबकि 11 मरीजों की कोरोना की वजह से मौत हो गई. पाली में 3, जयपुर और जोधपुर में 2-2, भरतपुर, धौलपुर, जालोर और नागौर में 1-1 मरीजों की मौत हो गई. जबकि जोधपुर में सर्वाधिक 183 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले. अजमेर 15, अलवर 39 , बांसवाड़ा 1, बाड़मेर 47, भरतपुर 18, भीलवाड़ा 2, बीकानेर 112 , बूंदी 1, चूरू 2, दौसा 2,  धौलपुर 12, डूंगरपुर 9, श्रीगंगानगर 4, हनुमानगढ़ 23, जयपुर 71 ,जैसलमेर 1, जालोर 37, झुंझुनूं 5, कोटा 8, नागौर 45, पाली 9, राजसमंद 2, सवाई माधोपुर 3,सीकर 25, सिरोही 30, टोंक 1, उदयपुर 3 और दूसरे राज्य के 6 मरीज पॉजिटिव मिले.  

विधि अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा को लेकर नहीं लिया फैसला, विवि और कॉलेज शिक्षा आयुक्त को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस

विधि अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा को लेकर नहीं लिया फैसला, विवि और कॉलेज शिक्षा आयुक्त को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने राजस्थान विश्वविद्यालय के फाइव ईयर लॉ पाठ्यक्रम के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा करवाने के संबंध में फैसला नहीं लेने पर विवि के वीसी, परीक्षा नियंत्रक और फाइव ईयर लॉ कॉलेज के निदेशक सहित कॉलेज शिक्षा आयुक्त को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है.विधि छात्र आदित्य हरितवाल की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने ये आदेश दिये है.

VIDEO: कोरोना का प्रदेश कांग्रेस की गतिविधियों पर असर, सेवादल की प्रदेश कार्यकारिणी को नहीं मिली मंजूरी

ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने के संबंध में गाइड लाइन जारी:
याचिका में कहा गया कि कोरोना संक्रमण के चलते बीसीआई ने विधि छात्रों की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने के संबंध में गाइड लाइन जारी की है. वहीं राजस्थान विवि ने 12 जून को परीक्षा के लिए आवेदन फॉर्म भरवाए, लेकिन विवि ने अब तक नहीं बताया कि परीक्षा किस तरह आयोजित की जाएगी. दूसरी ओर 24 जून को कॉलेज शिक्षा विभाग ने एक अधिसूचना जारी कर अंतिम वर्ष के अलावा अन्य वर्ष और सेमेस्टर के विद्यार्थियों को अगले वर्ष में प्रमोट करने के आदेश जारी किए.

नोटिस जारी कर जवाब तलब:
ऐसे में अंतिम वर्ष और सेमेस्टर के छात्र परीक्षा को लेकर पशोपेश में हैं. याचिका में कहा गया कि एनएलयू ने अंतिम सेमेस्टर के छात्रों को प्रोजेक्ट के मुल्यांकन के आधार पर ही अंक देना तय किया है. ऐसे में अंतिम वर्ष और सेमेस्टर के छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर या ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कर अंक दिए जाए. जिस पर मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहान्ती और न्यायाधीश प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 11 मरीजों की मौत, रिकॉर्ड 716 नये केस,जोधपुर में सर्वाधिक 183 पॉजिटिव मिले

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 11 मरीजों की मौत, रिकॉर्ड 716 नये केस,जोधपुर में सर्वाधिक 183 पॉजिटिव मिले

जयपुर: राजस्थान में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 716 नए पॉजिटिव मरीज सामने आये है. जबकि 11 मरीजों की कोरोना की वजह से मौत हो गई है. अब तक राजस्थान में कोरोन की चपेट में आने से 472 मरीजों की मौत हो चुकी है. जबकि कुल मरीजों की संख्या 21 हजार 404 पहुंच गई है. हालांकि 16 हजार 575 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके है. जिनमें से 16 हजार 202 लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है. 

जोधपुर में मिले 183 सर्वाधिक मरीज:
पाली में 3, जयपुर और जोधपुर में 2-2, भरतपुर,धौलपुर,जालोर और नागौर में 1-1 मरीजों की मौत हो गई. जबकि जोधपुर में सर्वाधिक 183 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले. अजमेर 15, अलवर 39 , बांसवाड़ा 1, बाड़मेर 47, भरतपुर 18, भीलवाड़ा 2, बीकानेर 112 , बूंदी 1, चूरू 2, दौसा 2,  धौलपुर 12, डूंगरपुर 9, श्रीगंगानगर 4, हनुमानगढ़ 23, जयपुर 71 ,जैसलमेर 1, जालोर 37, झुंझुनूं 5, कोटा 8, नागौर 45, पाली 9, 
राजसमंद 2, सवाई माधोपुर 3,सीकर 25, सिरोही 30, टोंक 1, उदयपुर 3 और दूसरे राज्य के 6 मरीज पॉजिटिव मिले. 

लंबे समय तक स्थगित रह सकते है आईपीएल मैच, IPL जयपुर से बाहर ले जाने के खिलाफ याचिका निस्तारित

जयपुर में बढ़ता कोरोना का ग्राफ:
प्रदेश की राजधानी जयपुर में कोरोना का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 71 पॉजिटिव केस चिन्हित किए गए है. जौहरी बाजार में एक ही मकान में 6 कोरोना पॉजिटिव मिले है. SMS अस्पताल के 3 चिकित्सक भी कोरोना की चपेट में आ गए है.

सोमवार को सामने आए 524 नए पॉजिटिव केस: 
इससे पहले सोमवार को प्रदेश में 5 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 524 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अजमेर में दो, जयपुर में एक, नागौर में एक और राज्य से बाहर के एक मरीज की मौत हो गई. जबकि सर्वाधिक 80 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाली में मिले है. अजमेर- 28, अलवर- 55, बाड़मेर- 25, भरतपुर- 65 पॉजिटिव, भीलवाड़ा- 2, बीकानेर- 26, दौसा- 5, धौलपुर- 11 पॉजिटिव, डूंगरपुर- 7, हनुमानगढ़- 4, जयपुर- 47,जालोर- 58 पॉजिटिव, झुंझुनूं- 9,जोधपुर- 25, करौली- 3, कोटा- 9, नागौर- 21 पॉजिटिव, राजसमंद- 6,सवाई माधोपुर- 4, सीकर- 8, सिरोही- 9, टोंक- 1 पॉजिटिव, उदयपुर- 10,BSF- 1 और दूसरे राज्य के 5 मरीज पॉजिटिव मिले. 

VIDEO: कोरोना का प्रदेश कांग्रेस की गतिविधियों पर असर, सेवादल की प्रदेश कार्यकारिणी को नहीं मिली मंजूरी

VIDEO: कोरोना का प्रदेश कांग्रेस की गतिविधियों पर असर, सेवादल की प्रदेश कार्यकारिणी को नहीं मिली मंजूरी

जयपुर: कोरोना काल में प्रदेश कांग्रेस संगठन के अग्रिम संगठनों,विभागों और प्रकोष्ठों की गतिविधियों पर असर पड़ा है. कुछ अग्रिम संगठनों के काम ठप्प पड़े है तो कुछ के कामों में शिथिलता आई है. वहीं कांग्रेस सेवादल की प्रदेश कार्यकारिणी डेढ़ साल से भंग है , यूथ कांग्रेस अंतर विरोध के कारण रहा जरुरत से अधिक सक्रिय नजर आया. लेकिन निकाय और पंचायतों के चुनाव मद्देनजर सक्रियता जरुरी है. कोविड की मार आम जन जीवन के साथ ही राजनीतिक गतिविधियों पर व्यापक रुप से पड़ी है. सियासी गतिविधियों पर आंच आई है. कांग्रेस के अग्रिम संगठनों, विभाग और प्रकोष्ठों की गतिविधियां बेहद सुस्त है. आइये बताते है कांग्रेस के हरावल दस्तों के बारे में.

Nagaur: 51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 781

अग्रिम संगठन 
युवा कांग्रेस
महिला कांग्रेस
कांग्रेस सेवा दल
एन एस यू आई
इंटक
विभाग- 12 
एससी ,एसटी 
अल्पसंख्यक
विधि व मानवाधिकार
किसान ,खेत मजदूर कांग्रेस
विचार विभाग
पूर्व सैनिक विभाग
राजीव गांधी पंचायती राज संगठन
प्रोफेशनल कांग्रेस
मजदूर,कामगार 
डाटा- एनालिसिस विभाग
ओबीसी

प्रकोष्ठ - 18

शिक्षक
सामाजिक न्याय आधिकारिता
पर्यावरण संरक्षण
पेंशन व सामाजिकता
खेलकूद 
सीए
सूचना प्रोद्योगिकी
सहकारिता
कच्ची बस्ती
उधोग व्यापार 
खनन विकास 
अभाव अभियोग
प्रवासी राजस्थानी
स्थानीय निकाय
निशक्तजन
खादी ग्रामोद्योग 
विशेष पिछड़ा वर्ग 
चिकित्सा 
अन्य अति पिछड़ा वर्ग

लंबे समय तक स्थगित रह सकते है आईपीएल मैच, IPL जयपुर से बाहर ले जाने के खिलाफ याचिका निस्तारित

सेवादल की नई प्रदेश कार्यकारिणी को नहीं मिल रही मंजूरी:
कोविड के कारण ही सेवादल की नई प्रदेश कार्यकारिणी को मंजूरी नहीं मिल रही ,केंद्रीय नेताओं की मंजूरी मिलने के इंतजार में 6 माह से अटकी है लिस्ट,हरावल दस्ते के रूप में मशहूर प्रदेश कांग्रेस सेवादल की कार्यकारिणी को भंग किए हुए डेढ़ साल से ज्यादा का समय हो गया है, लेकिन अभी तक सेवादल की नई कार्यकारिणी घोषित नहीं हो पाई है.जबकि कांग्रेस सेवादल का प्रदेश नेतृत्व 6 माह पहले नई कार्यकारिणी की लिस्ट तैयार कर सेवादल के केंद्रीय नेतृत्व को मंजूरी को के लिए भेज चुका है कि लेकिन 6 माह बाद भी केंद्रीय नेतृत्व कार्यकारिणी की लिस्ट को मंजूरी नहीं दी,केंद्रीय नेतृत्व ने 42 जिलाध्यक्षों में से 31 जिलाध्यक्षों की नियुक्तियों को मंजूरी दे दी थी, लेकिन 11 जिलाध्यक्षों और प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा  अभी भी अटकी  हुई. निष्क्रिय संगठनों को जगाने के लिये कोशिशे हो रही है जिससे निकाय और पंचायत चुनावों में इनकी भागीदारी हो सके.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

लंबे समय तक स्थगित रह सकते है आईपीएल मैच, IPL जयपुर से बाहर ले जाने के खिलाफ याचिका निस्तारित

लंबे समय तक स्थगित रह सकते है आईपीएल मैच, IPL जयपुर से बाहर ले जाने के खिलाफ याचिका निस्तारित

जयपुर: कोरोना के चलते देश में आईपीएल के मैच लंबे समय तक स्थगित रह सकते है.बीसीसीआई ने राजस्थान हाईकोर्ट में दायर राहुल कावंट की जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान पेश किये जवाब में कहा है कि वर्तमान में आईपीएल को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है.कोरोना के चलते लंबे समय तक आईपीएल स्थगित रह सकते है. इसलिए जनहित याचिका को निस्तारित किया जाये. सुनवाई के दौरान बीसीसीआई के अधिवक्ता अंगद मिर्धा ने अग्रिम आदेश तक कोविड-19 की वजह से मैच स्थगित करने की जानकारी दी. 

Nagaur: 51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 781

जनहित याचिका को निस्तारित करने के दिए आदेश:
जिसके बाद मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की बैंच ने राहुल कांवट की ओर से दायर जनहित याचिका को निस्तारित करने के आदेश दिये.खण्डपीठ ने याचिका को निस्तारित करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता चाहे तो भविष्य में हित प्रभावित होने पर फिर से न्यायालय में आ सकते हैं. गौरतलब है कि रणजी प्लेयर राहुल कावंट और अन्य की ओर से राजस्थान हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर राजस्थान रायल्स के दो मैच जयपुर से बाहर आयोजित होने को चुनौति दी थी.

आईपीएल आयोजित होने की संभावनाए बेहद कम:
याचिका में कहा गया कि जयपुर से मैच आसाम में स्थानांतरित होने से प्रदेश के खेल हित प्रभावित होंगे. वहीं असम क्रिकेट की ओर से भी मामले में पक्षकार बनते हुए मैच के लिए सभी तैयारियों होने की बात कही थी.कोरोना के चलते अप्रैल में ही आईपीएल मैच स्थगित कर दिये गये थे.लेकिन अब बीसीसीआई की ओर से पेश किये गये जवाब से ये तय है कि फिलहाल देश में आईपीएल आयोजित होने की संभावनाए बेहद कम है.

अब स्कूल खुलने तक कोई फीस नहीं, कोरोना काल में गहलोत सरकार का बड़ा फैसला

अब स्कूल खुलने तक कोई फीस नहीं, गहलोत सरकार ने अभिभावकों को दी बड़ी राहत

जयपुर: निजी विद्यालय अब स्कूल खुलने तक कोई ​फीस नहीं वसूल कर सकेंगे. राज्य सरकार ने अभिभावकों को राहत देते हुए पहले भी 30 जून तक निजी विद्यालयों को फीस नहीं वसूलने के आदेश जारी किए गए थे. फिर मंगलवार को शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट करके बताया कि फीस स्थगित करने के जल्द नए आदेश जारी होंगे. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कोरोनाकाल में निजी विद्यालयों को 30 जून तक तीन महीने की स्कूल फीस स्थगित करने के आदेश दिए गए थे, इस आदेश को वर्तमान में स्कूल खुलने तक आगे बढ़ाया गया है. इस हेतु जल्द आदेश जारी करवाए जा रहे हैं. 

आया सावन झूम के...! जयपुर में बदला मौसम का मिजाज, कई इलाकों में हो रही तेज बारिश

जल्द आदेश होंगे जारी:
आपको बता दें कि राज्य सरकार की ओर से निजी विद्यालयों के फीस स्थगित करने के जल्द आदेश जारी होंगे. पहले सरकार की ओर से कोरोना काल के दौरान 30 जून तक फीस स्थगित के आदेश हुए थे. अब नए आदेशों तक निजी स्कूल अभिभावकों से ​फीस नहीं ले सकेंगे. 

Nagaur: 51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 781

Nagaur: 51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 781

Nagaur:  51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 781

नागौर: प्रदेश के नागौर जिले में कोरोना महामारी का संक्रमण तेजी से फैल रहा है, ऐसे में जिले के लोगों को बहुत ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. एक ही दिन में 51 कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद चिकित्सा विभाग अलर्ट हो गया है. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुकुमार कश्यप ने बताया कि सबसे ज्यादा लाडनूं ब्लॉक के 14, नागौर ब्लॉक के 13, मेड़ता-गोटन क्षेत्र के 10, मकराना के 10, जायल के 4, रियां से एक तथा कुचामन मे दो व कुचेरा से एक-एक कोरोना संक्रमित पाया गया है.नागौर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 781 तक पहुंच चुका है.

CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं-12वीं के लिए 30 प्रतिशत कम होगा सिलेबस

कुल एक्टिव केस 157:
जिले में तेजी से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या जिला प्रशासन, चिकित्सा विभाग एवं पुलिस विभाग के लिए चिंता का विषय है. वहीं जिले में पहली बार एक साथ 51 संक्रमित मिलने के कारण लोगों में भी खौफ फैलने लगा है. वर्तमान में 157 केस एक्टिव है. नागौर जिले में पिछले तीन दिनों से बेकाबू हो रही कोरोना की स्थिति नवनियुक्त जिला कलक्टर जितेन्द्र कुमार सोनी और एसपी श्वेता धनखड़ के लिए चुनौती बन गई है.

जिले में 26 हजार 567 लोगों के लिए जा चुके हैं सैम्पल:
गौरतलब है कि जिले में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 781 पहुंच गई है. जिले में अब तक 26 हजार 567 लोगों के सैम्पल लिए जा चुके हैं, जिनमें से 24 हजार से अधिक की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जबकि करीब डेढ़ हजार की रिपोर्ट आना शेष है. संक्रमित पाए गए मरीजों में 605 की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. अब तक चिकित्सा विभाग की टीम ने 15754 प्रवासियों के सैम्पल लिए जा चुके है नागौर जिले में अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है.  

आया सावन झूम के...! जयपुर में बदला मौसम का मिजाज, कई इलाकों में हो रही तेज बारिश

Open Covid-19