VIDEO: प्रदेश भर के दस्तकारों के लिए हाउसिंग बोर्ड लाएगा विशेष योजना

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/18 09:27

जयपुर: प्रदेशभर के दस्तकारों के लिए बड़ी खबर है. राजस्थान हाउसिंग बोर्ड दस्तकारों के लिए एक ऐसी योजना लॉन्च करने जा रहा है, जिसमें दस्तकारों को मकान के साथ ही काम करने के लिए कार्यशाला भी मिलेगी. इस योजना के लिए 2 अक्टूबर से लेकर 1 नवंबर तक रजिस्ट्रेशन किया जा सकेगा. एक खास रिपोर्ट:

दस्तकारों की मुराद अब होगी पूरी:
लंबे समय से प्रदेश की राजधानी में आवास का सपना देख रहे दस्तकारों की मुराद अब पूरी होने वाली है. 2 अक्टूबर को हाउसिंग बोर्ड दस्तकारों के लिए एक विशेष योजना लॉन्च करने जा रहा है. इस योजना की सबसे खास बात यह है कि दस्तकारों को जो मकान मिलेंगे उनमें कार्यशाला भी होगी. इसका मतलब यह हुआ कि दस्तकारों को काम करने के लिए किसी दूसरी जगह जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. दस्तकार घर में रहकर भी अपना काम भी कर सकेंगे. 

15 हैक्टेयर जमीन पर कुल 750 आवास:
नायला में लांच होने वाली इस योजना में बोर्ड ने 15 हैक्टेयर जमीन पर कुल 750 आवासों का कार्यशाला सहित निर्माण कराया है. हर निर्माण 43.36 वर्गमीटर के भूखंड पर कराया है, जिसमें भूतल पर 392 वर्गफीट की कार्यशाला और प्रथम तल पर 419.10 वर्गफीट में आवास का निर्माण किया गया है. आवास में 2 कमरे, रसोई, टॉयलेट और सीढ़ियां बनाई गई हैं. हाउसिंग बोर्ड ने निर्माणों में विशेष रूप से राजस्थानी शैली का प्रयोग किया है, जो काफी आकर्षक लग रहा है. 

पूरे प्रदेश में मॉडल के तौर पर:
बोर्ड के कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि दस्तकार नगर योजना में जल्द ही आंतरिक सड़कों, बिजली, पेयजल, ड्रेनेज, वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर और सीवरेज की सुविधाएं विकसित की जाएंगी. इनता ही नहीं भविष्य में समय समय पर धन की उपलब्धता के अनुसार और जनसहभागिता से यहां पार्किंग सुविधा, शिप्लग्राम, हॉस्पिटिलिटी सेंटर, क्राफ्ट परिकल्पना सेंटर केंद्र, व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स और दुकानों का निर्माण कराया जाएगा. आयुक्त पवन अरोड़ा की कोशिश है कि दस्तकार नगर योजना इस तरह से विकसित हो कि पूरे प्रदेश में इसको मॉडल के तौर पर लिया जाए.

पुरस्कृत हो चुके दस्तकारों को आवंटन में आरक्षण:
सरकार के निर्देशों के बाद तैयार किए गए दस्तकार नगर में बोर्ड की ओर से राज्य सरकार पर पुरस्कृत हो चुके दस्तकारों को आवंटन में आरक्षण भी दिया जाएगा. सरकार की मंशा है कि प्रदेश के दस्तकारों को राजधानी में ऐसे आवास की सुविधा मिले जो उनके लिए रेाजगार के लिए भी काम आए. इसी लिए बोर्ड ने आवासों में कार्यशाला का निर्माण कराया है. बोर्ड ने दस्तकार नगर में इंन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ ही कुछ ऐसा खास करने की तैयारी की है कि दस्तकार नगर दस्तकारों के साथ ही जयपुर के लोगों के लिए भी आकर्षण का केन्द्र बनेगा. बोर्ड ने दस्तकार नगर योजना को शहर के लोगों के लिए हैंगआऊट डेस्टिनेशन के तौर पर विकसित करने की योजना बनाई है. जो योजना हाउसिंग बोर्ड ने बनाई है, उससे सिर्फ शहर के लोग ही नहीं बल्कि देश विदेश के लोग भी दस्तकार नगर को देखने पहुचेंगे. 

लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र:
बोर्ड के आयुक्त पवन अरोड़ा के अनुसार दस्तकार नगर को जवाहर कला केन्द्र और परशुराम अरबन हाट की तर्ज पर हैंडीक्राफ्ट एग्जीबिशियन के तौर पर विकसित किया जाएगा. इससे यहां रहने वाले दस्तकारों को ऐसा मंच मिलेगा, जिससे वह अपनी कला दूर तक बिखेर सकेंगे. दस्तकार नगर में समय समय पर कलात्मक वस्तुओं की प्रदर्शनी भी लगाए जाएगी. जिसमें देशभर के शिल्पकारों को भी आमंत्रित किया जाएगा. इसके साथ ही यहा रंगारग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन होगा, जो टूरिस्टों और जयपुर के लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन सकता है.

एक बड़ा हैंगआऊट डेस्टिनेशन:
बीते कुछ सालों से हाउसिंग बोर्ड का ढर्रा यह रहा है कि कोई भी आवासीय योजना लांच करो और उसे उसके हाल पर छोड़ दो, लेकिन जिस तरह की प्लानिंग दस्तकार नगर योजना के लिए हाउसिंग बोर्ड ने की है, वह सिर्फ दस्तकारों को निर्माण देने तक ही सीमित नहीं हो कर उनकी लाईफस्टाईल बदल सकती है. सिर्फ जयपुर ही नहीं प्रदेश और देश विदेश के लिए दस्तकार योजना आने वाले दिनों में एक बड़ा हैंगआऊट डेस्टिनेशन बन सकती है.

... संवाददाता शिवेन्द्र सिंह परमार की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in