नई दिल्ली केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले- हुनर हाट लाखों शिल्पकारों को दे रहा है रोजगार का मौका

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले- हुनर हाट लाखों शिल्पकारों को दे रहा है रोजगार का मौका

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले- हुनर हाट लाखों शिल्पकारों को दे रहा है रोजगार का मौका

नई दिल्ली: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को कहा कि पिछले छह सालों में "हुनर हाट" मंच के जरिए 7.50 लाख से अधिक दस्तकारों, शिल्पकारों और उनके साथ काम करने वाले लोगों को रोजगार और स्वरोजगार के मौके प्रदान किए गए हैं. यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम (JLN) में आयोजित 35वें ‘हुनर हाट’ में पत्रकार वार्ता में नकवी ने कहा कि उनमें से 50 प्रतिशत से ज्यादा महिला दस्तकार हैं. मंत्री ने कहा कि हाट का समापन शुक्रवार को होगा. उन्होंने कहा कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. कार्यक्रम पांच जनवरी 2022 तक चलना था.

नकवी ने कहा कि जेएलएन स्टेडियम में हाट में बड़ी संख्या में लोगों के आने को ध्यान में रखते हुए, 35वें ‘हुनर हाट’ का समापन कल दोपहर करने का फैसला लिया गया है.” उन्होंने कहा कि देश के पास कोरोना की चुनौतियों से निपटने के लिए पर्याप्त सुविधाएं और संसाधन हैं. हमें घबराने की बजाय एहतियात और बचाव पर ध्यान देना चाहिए.” 35वें "हुनर हाट" में 30 से अधिक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 700 से ज्यादा दस्तकारों और शिल्पकारों ने हिस्सा लिया है. इसका उद्घाटन केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव, मीनाक्षी लेखी और नकवी ने 23 दिसंबर को संयुक्त रूप से किया था. अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने पत्रकारों से कहा, “पिछले छह सालों में "हुनर हाट" मंच के जरिए 7.50 लाख से अधिक दस्तकार, शिल्पकारों और उनके साथ काम करने वाले लोगों को रोजगार और स्वरोजगार के मौके प्रदान किए गए हैं. उनमें से 50 प्रतिशत से ज्यादा महिला दस्तकार हैं.”

उन्होंने कहा कि बिहार, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, चंडीगढ़, हरियाणा और दिल्ली सहित 30 से अधिक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के उत्तम स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पाद हाट में उपलब्ध हैं. नकवी ने कहा कि आने वाले दिनों में मैसूर, गुवाहाटी, पुणे, अहमदाबाद, भोपाल, पटना, पुडुचेरी, मुंबई, जम्मू, चेन्नई, चंडीगढ़, आगरा, प्रयागराज, गोवा, जयपुर, बेंगलुरु, कोटा, सिक्किम, श्रीनगर, लेह, शिलांग, रांची, अगरतला और अन्य स्थान में भी हाट आयोजित किए जाएंगे. सोर्स- भाषा

और पढ़ें