Live News »

सहकारी समिति में करोड़ों के गबन का आरोप

सहकारी समिति में करोड़ों के गबन का आरोप

खण्डेला(सीकर)। प्रदेश में किसान कर्जामाफी ने सहकारी समितियों में फर्जी सदस्य बनाकर उनके नाम से लोन उठाकर किये जा रहे घोटालों की पोल खोल कर रख दी। ऐसा ही मामला सीकर जिले के खंडेला उपखंड की ग्राम सेवा सहकारी समिति कासरड़ा में सामने आया है जहां पिछले दिनों किसानों को लोन नहीं मिलने पर लगातार धरना प्रदर्शन करने के बाद बैंक द्वारा डिफाल्टर कर्जदारों सूची नोटिस बोर्ड पर चस्पा की गई। 

लोन लेने की आस में आये सैकड़ों किसान सूची में अपने नाम देखकर हतप्रभ रह गए। इसके बाद आज सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक पहुंचे और उनके नाम से फर्जी तरीके से लोन उठा कर किए गए करोड़ों के घोटाले की जांच करवाने की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष 2012 में उनके नाम से सहकारी समिति के द्वारा लोन दिया हुआ बताया गया है जबकि वास्तविकता में आज तक उन्होंने किसी प्रकार का कोई लेनदेन सहकारी समिति से नहीं किया उसके बावजूद भी उनके नाम से फर्जी तरीके से लोन जारी कर उन पैसे का गबन कर्मचारियों द्वारा किया गया है। 

पूरे मामले की जांच के लिए सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक के अधिशासी अधिकारी द्वारा 10 दिवस में जांच कर मामले का खुलासा करने की बात कही गई थी लेकिन 15 से 20 दिन बीत जाने के बावजूद भी कार्रवाई नहीं की गई। जिस पर ग्रामीणों ने बैंक प्रशासन पर भी पूरे मामले में लीपापोती कर दोषियों को बचाने के आरोप लगाए। इसके बाद ग्रामीणों ने उपखंड कार्यालय पहुंचकर सहकारी समिति में करोड़ रुपए के गबन के आरोप लगाते हुए मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाने की मांग का ज्ञापन सौंपा। पूरे मामले में जब सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक खंडेला के शाखा प्रबंधक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सहकारी समिति के व्यवस्थापक को हटाकर बैंक के एलएस को चार्ज दिया गया है तथा मामले की जांच जिला स्तरीय अधिकारी कर रहे हैं। 

और पढ़ें

Most Related Stories

महिलाओं की ठगी का शिकार बनीं आधा दर्जन ग्रामीण महिलाएं, गिरोह ने बनाया निशाना

महिलाओं की ठगी का शिकार बनीं आधा दर्जन ग्रामीण महिलाएं, गिरोह ने बनाया निशाना

खंडेला(सीकर): सावधान हो जाइयेअगर आपके गांव में कुछ महिलाएं बर्तन बेचने के बहाने आई हैं. कहीं आप उनकी ठगी का शिकार तो नहीं बनने जा रहे है. जी हां, ये हम इसलिये लिए कह रहे है क्योंकि खंडेला इलाके में एक ऐसे ही गिरोह ने दस्तक देकर कामकाजी एक दर्जन से अधिक ग्रामीण महिलाओं को अपने जाल में फंसाकर ठगी का शिकार बनाकर सोने के आभूषण ले कर रफू चक्कर हो गई. 

उदयपुर में तेज रफ्तार बस अनियंत्रित होकर पलटी, 2 की मौत, 15 से अधिक घायल 

महिलाएं ठगी करने वाली महिलाओं के विश्वास में आ गई:
ठगी का शिकार पीड़ित महिलाओं ने बताया कि गिरोह की सदस्य महिला घर पर तीन चार दिन से आ रही थी और पुराने बर्तनों के बदले में नए बर्तन भी दे कर जा रही थी. जिससे सभी महिलाएं ठगी करने वाली महिलाओं के विश्वास में आ गई. ठगी करने वाली महिला ने हम सब को भगवान का प्रसाद बताकर मखाने दिए और हमें खाने के लिए बोला. प्रसाद खाते ही हम सब बेहोश हो गए और ठगी करने वाली महिला ने घर में रखें सभी गहने व पहने हुए सभी गहनों को पार कर ले गई. 

पीड़ित महिलाओं ने बताया कि जब होश आया तो बहुत देर हो चुकी थी:
पीड़ित महिलाओं ने बताया कि जब होश आया तो घर के अलमारी, बक्सों के ताले खुले मिले तो सदमे में आ गए. अलमारी व बक्सों में देखा तो उनमें रखे गहने व पहने हुए गहने नहीं मिले. जब इसकी सूचना परिवार के लोगों को दी तब तक बहुत देर हो चुकी थी. इसी प्रकार दायरा, छाजना व रामपुरा में भी ठग गिरोह के सदस्यों ने कामकाजी महिलाओं को जेवरातों की फोटो खींचकर वेबसाइट पर अपलोड करने की बात कही, और कहा कि इसके बदले वह उन्हें इसका नगद इनाम भी देंगी. पीड़ित महिलाएं उनकी इस मंशा को वह भांप नहीं पाई और अपने लाखों रुपए के गहने गंवा बैठी.

VIDEO: अनियंत्रित ट्रक ने बाइक सवार युवती और फुटपाथ पर सो रहे युवक को कुचला, सीसीटीवी में दिखा खौफनाक मंजर 

थाने में लगी मुकदमा दर्ज करवाने वालों की भीड़:
वहीं अब ठगी की शिकार महिलाओं के परिजन भी एक के बाद एक खंडेला थाने पहुंचने लगे है और ठगी करने वाली महिलाओं के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज करवा रहे हैं. पुलिस थाने में रामपुरा निवासी संज्या व कंचन देवी, रॉयल निवासी मुन्नी देवी व माया देवी, छाजना निवासी सुमन, सरोज, ममता पूजा सहित एक दर्जन पीड़ितों के परिजनों ने खंडेला थाने में अलग-अलग मुकदमे दर्ज करवाए हैं. ठगी की इन वारदातों के बाद कई महिलाओं ने अपनी आपबीती डर के मारे परिजनों को भी नहीं बताई. थाना अधिकारी महेंद्र मीणा ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में महिलाओं के गिरोह द्वारा ठगी की वारदात करने के मामले सामने आए हैं. फिलहाल पुलिस ने मामले दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. साथ ही ग्रामीणों से भी इस प्रकार के गिरोह के झांसे में नहीं आने की अपील की है और कहा कि इस प्रकार कि कोई संदिग्ध दिखे तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें जिससे समय रहते इस प्रकार की वारदातों से बचा जा सके. 
 

कांवट में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म व हत्या का मामला, पुलिस थाने के सामने दूसरे दिन भी धरना जारी

कांवट में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म व हत्या का मामला, पुलिस थाने के सामने दूसरे दिन भी धरना जारी

खंडेला(सीकर): सीकर जिले के थोई थाना इलाके के कांवट कस्बे में एक 14 वर्षीय छात्रा से दुष्कर्म व हत्या के मामले में ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है. पुलिस की कार्यशैली व घटना के विरोध में थाई पुलिस थाने के सामने ग्रामीणों का धरना आज दूसरे दिन भी जारी रहा. कल सुबह 10 बजे से चल रहा धरने को 24 घंटे से भी अधिक समय गुजर चुका है लेकिन पुलिस व प्रशासन की ओर से सुलह लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गये. मृतका के परिजन, जनप्रतिनिधि व सैकड़ों ग्रामीण शव के साथ रात भर पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठे रहे.

नाबालिग बालिका के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या का प्रयास, आरोपी पीड़िता को बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार

कांवट कस्बे में दुष्कर्म पीड़िता की इलाज के दौरान मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने किया बंद का आह्वान

करीब एक दर्जन थानों की पुलिस मौजूद: 
आज धरना स्थल पर आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल के बीच पहुंचने की संभावना है. मामले की गंभीरता को देखते हुये पुलिस थाना परिसर में करीब एक दर्जन थानों के थाना अधिकारी व पुलिस बल तैनात किया गया है. मामले में धरना दे रहे ग्रामीणों का साफ तौर पर कहना है कि जब तक पुलिस के उच्च अधिकारी मौके पर आकर उनकी मांगे पूरी नहीं करेंगे तब तक शव के साथ पुलिस थाने के बाहर धरने पर बैठे रहेंगे. समय के साथ साथ धरना स्थल पर महिलाओं की भी संख्या बढ़ती जा रही है. 


 

परिवार के सदस्यों को कमरे में बंद कर नकाबपोश लुटेरों ने पिस्तौल की नोक पर की लूट

परिवार के सदस्यों को कमरे में बंद कर नकाबपोश लुटेरों ने पिस्तौल की नोक पर की लूट

सीकर: जिले के खंडेला थाना इलाके के कोटड़ी लुहारवास में शुक्रवार देर रात को आधा दर्जन नकाबपोश लुटेरों ने परिवार के लोगो को बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया. रात करीब डेढ़ बजे छह से सात नकाबपोश घर में घुस गये और बरामदे में सो रही दादी व पोते पर पिस्टल तान कर उन्हें बंधक बना लिया. इसके बाद लुटेरे अंदर कमरे में आये और कमरे में सो रहे घर के मालिक विष्णु बेदी उसकी पत्नी व उसके बेटे पर पिस्टल तान दी और उनसे आलमारी की चाबी मांगी. चाबी नहीं देने पर गोली मार देने की धमकी दी तो विष्णु की पत्नी ने उन्हें आलमारी की चाबी दे दी. जिसके बाद लुटेरों ने आलमारी में रखा सोने का हार, अंगूठी, चूड़ी, शीशफूल, मांग टीका, कानो की झूमर, नथ सहित चांदी का सामान व 40 हजार की नकदी लूट ले गये.

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली: 
लुटेरे लूट के बाद परिवार के लोगों को दो अलग अलग कमरों में बंद कर मोबाइल छीनकर तोड़ दिये तथा बाहर की कुंदी लगाकर फरार हो गये. एक कमरे की कुंदी पूरी तरह बन्द नहीं होने से लूटेरों के जाने के बाद जोर से दरवाजा खिंचने पर उसकी कुंदी खुली तो वृद्धा ने दूसरे कमरे की कुंदी खोलकर परिवार के अन्य लोगों को बाहर निकाला. इसके बाद परिवार के लोगों ने मोहल्लेवासीयों जाकर जगाया और आप बीती बताई. इसके बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई तो पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली और नाकाबंदी करवाई. लेकिन अभी तक लूटेरों का कोई सुराग नहीं लग पाया है. 

Open Covid-19