भूखी प्यासी मां ने करीब 45 घंटों तक कुएं में मासूम बच्ची को दूध पिलाकर रखा जीवित 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/08/25 01:30

अलवर: 'जाको राखे साइयां, मार सके न कोय' ये कहावत आपने कई बार सुनी होगी. इसी कहावत को साकार कर दिया है, खैरथल कस्बे के समीपवर्ती ग्राम रसगन की घटना ने. जहां एक महिला अपनी मासूम बच्ची के साथ सूखे गहरे कुएं में कूद गई और दो दिन तक कुएं में बच्ची को मात्र अपना दूध पिलाकर जीवित रखा:

दो दिन तक किसी ने नहीं सुनी आवाज:
दरअसल बुधवार की रात्रि करीब 10 बजे खैरथल कस्बे के समीपवर्ती ग्राम पेहल निवासी एक महिला अज्ञात कारणों के चलते अपनी 10 महीने की मासूम बेटी को गोद में लेकर ग्राम रसगन में आकर सड़क किनारे एक सूखे गहरे कुएं में कूद गई. इसके बाद 2 दिन तक महिला भूखी-प्यासी कुंए से चिल्लाती रही कि मुझे बाहर निकालो, लेकिन किसी ने उसकी आवाज नहीं सुनी. शुक्रवार सायं ग्राम रसगन के कुछ युवक सड़क किनारे कुंए के पास बने मुंडेर पर बैठे हुए थे. उन युवकों ने जब बच्चा रोने की आवाज सुनी तो वो घबरा गए और वहां मौजूद लोगों से इसके बारे में बताया तो लोग कुए के पास पहुंचे और महिला से बात करने पर महिला ने कहा कि वह गांव पेहल की ढाणी की रहने वाली है और वह 2 दिन से कुंए में पड़ी हुई है. 

ग्रामीणों ने निकाला बाहर:
जिसके पश्चात ग्राम रसगन के बाशिंदे मौके पर एकत्रित हो गए और रस्सी से कुंए में उतर कर महिला और उसकी मासूम बच्ची को बाहर निकाला. कुंए से बाहर निकलने के बाद ग्रामीण मासूम बच्ची को कंबल में लपेट कर उपचार के लिए खैरथल कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे. मामले की सूचना मिलते ही खैरथल थाना पुलिस भी अस्पताल पहुंच गई. डॉक्टरों एवं पुलिस द्वारा पूछताछ में महिला ने अपना नाम इतियास निवासी उड़ीसा होना बताया और हाल में पति रणसिंह जाट निवासी ग्राम पेहल की ढाणी होना बताया. जबकि घर वाले महिला का नाम जानकी बता रहे हैं. 

पति करता था मार-पिटाई:
महिला ने बताया कि उसका पति शराब पीकर उसके साथ में मार-पिटाई करता था, जिससे परेशान होकर उसने यह कदम उठाया है. मार पिटाई के डर से  महिला ने पति के पास जाने से इनकार किया है. पीड़ित महिला ने बताया कि दो  दिन तक वह खुद भूखी प्यासी रही और मासूम बच्ची को अपना दूध पिला कर उसकी जान बचाई है. करीब 45 घंटे तक मौत से लड़ कर आखिरकार माँ बेटी ने मौत को मात दे दी. अब महिला और बच्ची स्वस्थ है.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in