मैं इस्तीफा वापस नहीं लूंगा, जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष से मिलूंगा: हेमाराम

मैं इस्तीफा वापस नहीं लूंगा, जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष से मिलूंगा: हेमाराम

मैं इस्तीफा वापस नहीं लूंगा, जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष से मिलूंगा: हेमाराम

जयपुर: प्रदेश में चल रही सियासी उठापटक (Political Upheaval) के बीच नेताओं का आरोप प्रत्यारोपों का दौर चल रहा है. वही पर विधायक हेमाराम चौधरी के इस्तीफे के बाद प्रदेश में सियासी पारा चढ़ा हुआ है. राजस्थान में अभी कांग्रेस दो गुटों में बंटी हुई है पहला गुट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का तो दूसरा गुट पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का. ऐसे में पायलट गुट के विधायक हेमाराम चौधरी ने बयान दिया है कि वे अपने इस्तीफे को वापस नहीं लेंगे. वे जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से मुलाकात करेंगे:

इस्तीफे के स्वीकार होने तक मैं अपने विधायक कर्तव्य का पालन करता रहुंगा:
हाल ही में हेमराम को उपकंश समिति का सभापति बनाए जाने के बाद ये तो साफ हो गया है कि राजस्थान सरकार चौधरी के इस्तीफे को स्वीकार करने के मुड में नहीं है. वही पर हेमाराम ने कहा कि मुझे उपकंश समिति का अध्यक्ष बनाया गया है इसके बारे में मुझे पूछा नही गया है.  मैने 18 मई को विधायक पद से इस्तीफा दिया था. अभी तक मेरा इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है. मैं भी अपना इस्तीफा वापस नहीं लूंगा. चौधरी ने कहा कि जब तक मेरा इस्तीफा स्वीकार नहीं ​हो जाता तब तक मैं अपने विधायक पद के कर्तव्यों का बखूबी पालन करता रहुंगा.

जल्द ही मिलेंगे विधानसभा अध्यक्ष से:
हेमाराम चौधरी ने कहा है कि वे समिति के अध्यक्ष बनाए गए है. इसके बारे में उनकों कोई सूचना नहीं है. वे विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से मिलने विधानसभा भी गए थे किंतु कोरोना की वजह से जोशी से मुलाकात नहीं हो पाई. उन्होने कहा कि वे जल्द ही जब भी जोशी समय देंगे तब सीपी जोशी से मिलेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे. 

उन्होने कहा कि बजट सत्र में विधानसभा अध्यक्ष को ये अधिकार दे दिया गया था कि वे जल्द से जल्द कमेटियों का गठन करे और उनका सभापति बनाए. आपकों बता दे कि हेमाराम चौधरी पायलट गुट के विधायक है.

 

और पढ़ें