Live News »

मध्यप्रदेश में होने वाला आईफा अवॉर्ड्स कैंसिल, कोरोना वायरस की वजह से टला आयोजन  

मध्यप्रदेश में होने वाला आईफा अवॉर्ड्स कैंसिल, कोरोना वायरस की वजह से टला आयोजन  

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार (आईफा अवॉर्ड्स) को टाल दिया गया है. यह अवॉर्ड्स मध्य प्रदेश के इंदौर और भोपाल में आयोजित होना था. कोरोना वायरस की वजह से यह निर्णय लिया गया. आईफा अवॉर्ड्स 19-20 और 21 मार्च को होना था.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़े सवाल पर विधानसभा में हुआ जोरदार हंगामा

आईफ़ा अवॉर्ड भारतीय सिने जगत का सर्वाधिक प्रतिष्ठित समारोह है. आईफा अवॉर्ड्स में इस बार शाहरुख खान, रितिक रोशन, जैकलीन फर्नांडीस, करीना कपूर, कैटरीना कैफ, कार्तिक आर्यन जैसे तमाम बड़े सितारे अपने पर्फॊर्मेंस देने वाले थे.

सलमान खान और रितेश देशमुख करने वाले थे होस्ट: 
यह दूसरा मौका होता जब इसका आयोजन भारत देश में किया जा रहा है. बॉलीवुड के बड़े बड़े सितारों से सजे और पिछले 20 सालों में कई देशों की यात्रा करने के बाद इस बार इंदौर में होने वाले आईफा अवॉर्ड्स को सलमान खान और रितेश देशमुख होस्ट करने वाले थे. 

जैसलमेर के जवाहर अस्पताल में एक संदिग्ध मौत, सर्दी जुकाम से पीड़ित था मरीज

और पढ़ें

Most Related Stories

कंगना रनौत मामले में अदालत के आदेश का अध्ययन करेगी बीएमसी: महापौर

कंगना रनौत मामले में अदालत के आदेश का अध्ययन करेगी बीएमसी: महापौर

मुम्बई: मुम्बई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने शुक्रवार को कहा कि शिवसेना शासित बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (बीएमसी) कंगना रनौत के बंगले में तोड़फोड़ के मामले में अगला कोई कदम तय करने से पहले उच्च न्यायालय के फैसले का अध्ययन करेगी. उन्होंने कहा कि मुम्बई नगर निगम अधिनियम की धारा 354 ए के संबंध में उच्च न्यायालय द्वारा अतीत में दिये गये आदेशों को भी देखा जाएगा. धारा 354 ए नगर निकाय एवं उसके अधिकारियों को कोई भी अवैध निर्माण रोकने का अधिकार प्रदान करती है.

इससे पहले दिन में बंबई उच्च न्यायालय ने नौ सितंबर को रनौत के बंगले के कुछ हिस्सों को तोड़ने की बीएमसी की कार्रवाई को अवैध करार दिया था और कहा था कि इससे दुर्भावना की बू आती है. न्यायमूर्ति एस जे काठवल्ला और न्यायमूर्ति आर आई चागला की पीठ ने कहा कि रनौत को दी जाने वाली क्षतिपूर्ति की राशि का निर्धारण करने के वास्ते नुकसान का आकलन करने के लिए वह मैसर्स शेतगिरि को मूल्यांकन अधिकारी नियुक्त कर रही है. पेडनकर ने संवाददाताओं से कहा कि अभिनेत्री को एमएमए अधिनियम के तहत 354 ए नोटिस जारी किया गया और उचित प्रक्रिया का पालन किया गया.

{related}

उन्होंने कहा कि 354 ए नोटिस न केवल अभिनेत्री को बल्कि कई अन्य को भी जारी किया गया. कई लोगों ने उसे अदालत में चुनौती दी थी. उन्होंने कहा कि  हमें फैसले की प्रति अब तक नहीं मिली है, लेकिन मैं इस मुद्दे पर कानूनी विभाग एवं निगम आयुक्त से बात करूंगी तथा अदालती आदेश का आकलन करूंगी.(भाषा)
 

Bombay High Court: कंगना के बंगले को गिराना बदले की भावना से किया गया द्वेषपूर्ण कृत्य

Bombay High Court: कंगना के बंगले को गिराना बदले की भावना से किया गया द्वेषपूर्ण कृत्य

मुंबई: बॉम्बे उच्च न्यायालय ने आज अभिनेत्री कंगना रनौत के बंगले के हिस्से को ध्वस्त करने की कार्रवाई को द्वेषपूर्ण कृत्य करार देते हुए कहा है कि ऐसा महज अभिनेत्री को नुकसान पहुंचाने के लिए किया गया था और अदालत विध्वंस के आदेश को रद्द करती है. कोर्ट ने यह भी कहा है कि अदालत किसी भी नागरिक के खिलाफ प्रशासन को बाहुबल का उपयोग करने की मंजूरी नहीं देता है.

न्यायमूर्ति एस जे काठवाला और न्यायमूर्ति आर आई चागला की पीठ ने कहा कि नागरिक निकाय द्वारा की गई कार्रवाई अनधिकृत थी और इसमें कोई संदेह नहीं है. पीठ रनौत द्वारा नौ सितंबर को उपनगरीय बांद्रा स्थित अपने पाली हिल बंगले में बीएमसी द्वारा की गई कार्रवाई के आदेश को चुनौती वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी. पीठ ने कहा कि नागरिक निकाय ने एक नागरिक के अधिकारों के खिलाफ गलत इरादे से कार्रवाई की है.

रनौत ने बीएमसी से हर्जाने में दो करोड़ रुपये मांगे थे और अदालत से बीएमसी की कार्रवाई को अवैध घोषित करने का आग्रह किया था. मुआवजे के मुद्दे पर पीठ ने कहा कि अदालत नुकसान का आकलन करने के लिए मूल्यांकन अधिकारी नियुक्त कर रही है जो याचिकाकर्ता और बीएमसी को विध्वंस के कारण होने वाले आर्थिक नुकसान पर सुनवाई करेगा. अदालत ने कहा है कि मूल्यांकन अधिकारी मार्च 2021 तक मुआवजे पर उचित आदेश पारित करेगा. 

इस पर नागरिक निकाय ने याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि अभिनेत्री ने गैरकानूनी तरीके से अपने बंगले में निर्माण कार्य कराए थे. आपको बता दे कि बीएमसी द्वारा नौ सितंबर को विध्वंस प्रक्रिया शुरु करने के बाद ही रनौत ने यह याचिका दायर की थी जिसके बाद अदालत ने अंतरिम आदेश में तोड़फोड़ पर रोक लगा दी थी. फिलहाल मामले में आगे क्या होगा ये तो वक्त ही बताएगा. (सोर्स-भाषा)

{related}

बॉलीवुड ने 26/11 के पीड़ितों और शहीदों को किया याद, अक्षय से लेकर अभिषेक बच्चन तक ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि 

बॉलीवुड ने 26/11 के पीड़ितों और शहीदों को किया याद, अक्षय से लेकर अभिषेक बच्चन तक ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि 

मुंबई: अभिनेता अक्षय कुमार, अभिषेक बच्चन, उर्मिला मातोंडकर और कई अन्य बॉलीवुड हस्तियों ने मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों व नागरिकों को बृहस्पतिवार को श्रद्धांजलि दी और कहा कि राष्ट्र अपने जवानों के बलिदानों के प्रति सदैव कृतज्ञ रहेगा. पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के 10 आतंकवादी 26 नवंबर 2008 को समुद्र के रास्ते मुंबई में घुस आए थे और उन्होंने 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 166 लोगों की हत्या कर दी थी.

मुंबई के लोग 26/11 को कभी नहीं भुलेंगे:
करीब साठ घंटे तक चली जवाबी कार्रवाई में लगभग 300 लोग घायल भी हो गए थे. अक्षय कुमार ने ट्वीट कर कहा कि मुंबई के लोग 26/11 को कभी नहीं भुलेंगे. मुंबई आतंकी हमले के शहीदों और पीड़ितों को मेरी श्रद्धांजलि. हम जवानों के सर्वोच्च बलिदान के लिए हमेशा कृतज्ञ रहेंगे. मुंबई पुलिस के एक ट्वीट पर जवाब देते हुए 46 वर्षीय अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने शहीदों की तस्वीरों का एक कोलाज साझा किया और लिखा,26/11 के शहीदों और पीड़ितों को श्रद्धांजलि. मुंबई शहर के लोगों की मजबूती और खुले दिल को सलाम. आपके बलिदानों के लिए हम सब हमेशा ऋणी रहेंगे और आप हमारे दिलों में रहेंगे.

शहीद और पीड़ित रहेंगे हमेशा यादों में:
अभिनेता रणवीर शौरी और अभिनेत्री रवीना टंडन ने भी हमले के पीड़ितों और शहीदों के लिए दुआ करते हुए कहा कि वे उनकी कुर्बानी को कभी नहीं भूल पाएंगे. अभिनेता रणदीप हूडा ने 26/11 हमले के बम निरोधी श्वान दस्ते का एक वीडियो साझा किया है जिसने हमलों के दौरान कई बमों तथा आरडीएक्स का पता लगाने में मदद की थी. हूडा ने ट्वीट किया मुंबई हमले के बाद 12 साल बीत गए. शहीद और पीड़ित हमेशा यादों में रहेंगे.

सुरक्षाबलों की कार्रवाई में मारे गए थे नौ आतंकवादी:
आतंकवादियों ने ताजमहल होटल, ओबेरॉय होटल, लियोपोल्ड कैफे, नरीमन (चबाड) हाउस और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन आदि को निशाना बनाया था. इस हमले में आतंकवाद रोधी दस्ते के प्रमुख हेमंत करकरे, एनएसडी कमांडो मेजर संदीप उन्नीकृष्णन, मुंबई के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक कामटे, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय सालस्कर और सहायक उप निरीक्षक तुकाराम ओम्ब्ले शहीद हो गए थे. सुरक्षाबलों की कार्रवाई में नौ आतंकवादी मारे गए थे. अजमल कसाब नामक एकमात्र आतंकी जीवित पकड़ा गया था जिसे 21 नवंबर 2012 को फांसी दे दी गई थी.(भाषा)
 

फैंस का इंतजार हुआ खत्म, भूमि पेडनेकर की फिल्म दुर्गामती का ट्रेलर रिलीज

फैंस का इंतजार हुआ खत्म, भूमि पेडनेकर की फिल्म दुर्गामती का ट्रेलर रिलीज

मुंबईः बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर की फिल्म दुर्गावती का नाम बदल कर अब दुर्गामती कर दिया गया हैं. इस फिल्म का आज ट्रेलर लॉन्च किया गया हैं. ट्रेलर देख एक अच्छी फिल्म की उम्मीद जागती है. मूवी की कहानी, पटकथा और निर्देशन की जिम्मेदारी अशोक ने उठाई है. 

भूमि पेडणेकर, अरशद वारसी, जीशू सेनगुप्ता, माही गिल जैसे कलाकार इस मूवी में नजर आएंगे. इससे पहले मूवी का मोशन पोस्टर रिलीज किया गया था. जिसमें भूमि काफी सुंदर औऱ अट्रेक्टिव दिखाई दे रही है. उन्होने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई है और हाथ में त्रिशूल पकड़ हुआ है. इतना ही नहीं वे शेषनाग पर विराजमान है.

{related}

इस मोशन पोस्टर को अक्षय कुमार ने शेयर करते हुए लिखा है कि पे बैक करने का वक्त आ गया है. आपको बता दे कि इस फिल्म को डायरेक्ट अशोक ने किया है औऱ कहानी भी उन्हीं की कलम से लिखी गई है. हालांकि इसे बनाने में कैप ऑफ गुड होप और भूषण कुमार के प्रोडक्शन का योगदान है. 

फिल्म को देखने के लिए दर्शकों को 11 दिसंबर तक का इंतजार करना होगा. आपको बता दे कि फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ही रिलीज की जाएगी. इस फिल्म में अक्षय कुमार को-प्रोड्यूसर भी  है. दर्शक इसे अमेजन प्राइम पर देख सकते है. फिलहाल फिल्म का प्रदर्शन कैसा होगा इस पर कुछ नहीं कहा जा सकता है. 

Kerala Actress Assault Case: गवाह को धमकाने के आरोप में विधायक का निजी कर्मी गिरफ्तार

Kerala Actress Assault Case: गवाह को धमकाने के आरोप में विधायक का निजी कर्मी गिरफ्तार

कोल्लम: केरल अभिनेत्री यौन हमला केस में हाल ही में एक नया मोड़ आया है. असल में अब एक्ट्रेस को डराने औऱ गवाह को प्रभावित करने की के आरोप में विधायक के बी गणेश कुमार के कार्यालय सचिव को  गिरफ्तार किया गया है. आपको बता दे कि अभिनेत्री पर यौन हमला करने के मामले में  मलयालम अभिनेता दिलीप कुमार मुख्य आरोपी करार दिए गए थे. जिसके बाद से ही अभिनेत्री को केस वापिस लेने के लिए परेशान किया जा रहा है. इतना ही नहीं अब तो गवाह को भी धमकाया जा रहा है.

इस मामले में एक गवाह की शिकायत के आधार पर यहां पठनमपुरम के समीप तड़के कार्यालय सचिव प्रदीप कुमार (42) को उनके निवास से गिरफ्तार किया गया है. ये गिरफ्तारी ऐसे वक्त हुई है जब केरल उच्च न्यायाल ने इस मामले को वर्तमान अदालत से अन्यत्र स्थानांतरित करने से मना कर दिया है. उच्च न्यायालय ने अभिनेत्री और केरल सरकार की इस मामले को स्थानांतरित करने की याचिकाएं खारिज कर दी है. 

अभिनेत्री पर कोच्चि में 2017 में कथित रूप से यौन हमला हुआ था. फिलहाल गवाह को धमकाने के मामले के बाद  केरल कांग्रेस (बी) के विधायक के कार्यालय ने  प्रदीप को कार्यालय सचिव के पद से हटा दिया गया है.कल देर रात कसारगोड से एक पुलिस दल विधायक के दफ्तर में आया था. उससे पहले कसारगोड की एक जिला सत्र अदालत ने प्रदीप कुमार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी थी. 

केरल पुलिस के अनुसार जरूरी आपैचारिकताएं पूरी करने के बाद सुबह प्रदीप कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है. गवाह ने आरोप लगाया है कि प्रदीप कुमार ने उसे डरा-धमकाकर आरोपी में पक्ष में बयान बदलने के लिए कहा था. इस बीच, एक अन्य गवाह ने आरोप लगाया है कि आरोपी के पक्ष में बयान देने के लिए उसे जमीन और 25 लाख रूपये की पेशकश की गई है. दूसरे गवाह ने भी पुलिस से संपर्क कर अपनी जान पर खतरा होने का आरोप लगाया है.

तमिल और तेलुगु फिल्मों में काम कर चुकी अभिनेत्री को 17 फरवरी 2017 को आरोपियों ने कथित रूप से अगवा कर लिया था और उनकी ही कार में दो घंटे तक उनके साथ कथित रूप से छेड़खानी की थी. आरोपी उनकी कार में घुस आये थे और बाद में वे भाग गये थे. आरोपियों ने अभिनेत्री को ब्लैकमेल करने के लिए इस पूरी हरकत का वीडियो भी बनाया था. इस मामले में दस आरोपी हैं. पुलिस ने प्रारंभ में सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया था. अभिनेता दिलीप को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया था. फिलहाल मामले की कार्यवाही जारी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

लंबे समय से बीमार फेमस Tv Actor आशीष रॉय का 55 की उम्र में निधन

लंबे समय से बीमार फेमस Tv Actor  आशीष रॉय का 55 की उम्र में  निधन

मुंबईः लोकप्रिय टीवी अभिनेता आशीष रॉय का आज निधन हो गया है. इस बात की आधिकारिक घोषणा उनके एक करीबी दोस्त सूरज थापर ने की है. आपको बता दे कि आशीष रॉय 55 वर्ष के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे. जिसके चलते उनका इलाज जारी था. बात करें उनके एक्टिंग करियर की तो उन्होनें ससुराल सिमर का जैसे बड़े धारावाहिक में अपनी एक्टिंग की छाप छोड़ी है. 

गौरतलब है कि आशीष पिछले कई दिनों से बीमार थे और उनका डायलिसिस चल रहा था. जिसके बाद  मई में उन्हें मुंबई स्थित एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया था तब उन्होंने सोशल मीडिया के जरिये वित्तीय सहायता मांगी थी. थापर ने रॉय के साथ रिश्ता साझेदारी का नामक धारावाहिक में काम किया था. उनके अनुसार आज तड़के सुबह से ही  रॉय को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, जिसके बाद उन्होंने दम तोड़ दिया है. 

थापर ने पीटीआई-भाषा से कहा है कि उनके सहायकों ने उन्हें चाय दी जिसे पीने से उन्होंने मना कर दिया और तेजी से सांस लेने लगे थे. अचानक वह (तड़के) तीन बजकर 45 मिनट पर बेहोश हो गए थे. वे किडनी के रोग से पीड़ित थे और उनका नियमित डायलिसिस भी होता था. थापर ने कहा कि रॉय की देखभाल करने वाले के अनुसार अभिनेता की हालत में पिछले कुछ महीनों से सुधार था. फिलहाल सभी उनकी मौत पर शोक व्यक्त कर रहे है. (सोर्स-भाषा)

{related}

International Emmy Award में निर्भया कांड पर आधारित वेब सीरीज 'Delhi Crime' को मिला 'बेस्ट ड्रामा सीरीज2020' का अवॉर्ड

International Emmy Award में  निर्भया कांड पर आधारित वेब सीरीज  'Delhi Crime'  को मिला 'बेस्ट ड्रामा सीरीज2020' का अवॉर्ड

मुम्बई: नेटफ्लिक्स इंडिया की सीरीज ‘दिल्ली क्राइम’ को 48वें ‘इंटरनेशनल एमी अवार्ड’ में ‘बेस्ट ड्रामा सीरीज’ के अवॉर्ड से नवाजा गया है. इस सीरीज को डायरेक्ट भारतीय मूल के कनाडाई निवासी रिची मेहता ने किया था. इसकी सीरिज की कहानी दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 को पैरामेडिकल की 23 वर्षीय छात्रा के साथ चलती बस में हुए सामूहिक बलात्कार की घटना पर आधारित है, जिसे निर्भया कांड नाम दिया गया था.

आपको बता दे कि निर्भया कांड की पीड़िता गंभीर रूप से घायल  थी औऱ इस छात्रा ने एक पखवाड़े बाद सिंगापुर में एक अस्पताल में दम तोड़ दिया था. जिसके बाद देश में कौहराम मच गया था. ये पहला ऐसा मामला था जिसने देश को हिला कर रख दिया था. आपको बता दे कि कोरोना वायरस के कारण एमी अवॉर्डस् का इस बार ऑनलाइन आयोजन किया गया था.

 मेहता ने इस दौरान पुरस्कार उन सभी महिलाओं को समर्पित किया, जो न केवल पुरुषों द्वारा की जाने वाली हिंसा को सहन करती हैं, बल्कि जो समस्या को हल करने के लिए भी काम कर रही हैं. यह वेब श्रंखला 2019 में रिलीज हुई थी. इसमें शेफाली शाह, रसिका दुग्गल, आदिल हुसैन और राजेश तैलंग  मुख्य भूमिकाओं में नजर आए थे जिसे दर्शकों ने काफी सराहा था.

आपको बता दे कि ये अकेली ऐसी सीरिज नहीं थी एमी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था. इसके अलावा भारत से एमेजन प्राइम वीडियो की श्रंखला फोर मोर शॉट्स ड्रामा और मेड इन हेवन कॉमेडी श्रेणी में नामांकित थी मगर ये सीरिय  जीत हासिल नहीं कर पाईं है. इस पर सभी ने मेहता को जीत का असली हकदार करार देते हुए उनको शुभकामनाएं  दी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

कंगना रनौत ने खटखटाया अदालत का दरवाजा, खुदके खिलाफ दर्ज हुई FIR खत्म करने की लगाई गुहार

कंगना रनौत ने  खटखटाया अदालत का दरवाजा, खुदके खिलाफ दर्ज हुई FIR खत्म करने की लगाई गुहार

मुंबईः हाल ही में अभिनेत्री कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल ने  बंबई उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है और अपने खिलाफ मुंबई पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया है. यह प्राथमिकी सोशल मीडिया पर किए गए पोस्ट के जरिए समाज में नफरत और सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के आरोप में दर्ज की गई थी. जिसके चलते कंगना काफी प्रेशर में थी. 

बांद्रा मजिस्ट्रेट अदालत के आदेश के अनुसरण में दर्ज प्राथमिकी में राजद्रोह का आरोप भी है. मजिस्ट्रेट अदालत ने पुलिस को निर्देश दिया था कि रनौत और उनकी बहन के खिलाफ जांच करें औऱ जल्द से जल्द एक रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है. कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने पीटीआई-भाषा से कहा है कि  कंगना और रंगोली ने प्राथमिकी और मजिस्ट्रेट का आदेश रद्द कराने के लिए बंबई उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है. 

उन्होंने कहा कि याचिका में अदालत से यह भी अनुरोध किया गया है कि पूछताछ के वास्ते पुलिस के समक्ष पेश होने के लिए जारी समन पर भी रोक लगाई जाए और पुलिस को निर्देश दिया जाए कि वह उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई नहीं करे. मुंबई पुलिस ने पिछले हफ्ते रनौत और उनकी बहन को तीसरी बार समन जारी कर 23 और 24 नवंबर को दो समुदायों के बीच कथित रूप से दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए अपने बयान दर्ज कराने को कहा था. फिलहाल मामले की जांच जारी है औऱ आगे क्या होगा कुछ कहा नहीं जा सकता है. (सोर्स-भाषा)

{related}