पुणे IPL 2022: Lucknow Super Giants की लगातार चौथी जीत, KKR को 75 रन से हराया

IPL 2022: Lucknow Super Giants की लगातार चौथी जीत, KKR को 75 रन से हराया

IPL 2022: Lucknow Super Giants की लगातार चौथी जीत, KKR को 75 रन से हराया

पुणे: लखनऊ सुपर जायंट्स ने विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक (50 रन) के अर्धशतक के बाद गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से शनिवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) पर 75 रन की बड़ी जीत दर्ज की. डिकॉक और दीपक हुड्डा (41 रन) के साथ उनकी दूसरे विकेट के लिये 71 रन की साझेदारी के बाद 19वें ओवर में बने 30 रन की मदद से लखनऊ सुपर जायंट्स ने छह विकेट पर 176 रन का स्कोर खड़ा किया.

कोलकाता नाइट राइडर्स इस लक्ष्य का पीछा करते हुए 14.3 ओवर में 101 रन पर सिमट गयी जिससे लखनऊ सुपर जायंट्स ने लगातार चौथी जीत दर्ज की और दो महत्वपूर्ण अंक हासिल किये. इससे वह बेहतर नेट रन रेट की बदाौलत 16 अंक लेकर पहले स्थान पर पहुंच गयी. गुजरात टाइटन्स के भी इतने ही अंक हैं जो दूसरे स्थान पर खिसक गयी.केकेआर के लिये आंद्र रसेल (19 गेंद में तीन चौके और पांच छक्के) की 45 रन की पारी के अलावा केवल दो बल्लेबाज ही दोहरे अंक तक पहुंच सके. सुनील नारायण ने 22 और आरोन फिंच ने 14 रन बनाये. लखनऊ सुपर जायंटस के लिये आवेश खान तीन ओवर में एक मेडन से 19 रन देकर तीन विकेट झटके. जेसन होल्डर ने 2.3 ओवर में 31 रन देकर तीन विकेट प्राप्त किये. मोहसिन खान, दुष्मंता चमीरा और रवि बिश्नोई को एक एक विकेट मिला.

नारायण और टिम साउदी ने एक विकेट हासिल किया:

इससे पहले शुरूआती ओवर में शानदार फॉर्म में चल रहे कप्तान लोकेश राहुल का विकेट गंवाने वाली लखनऊ सुपर जायंट्स के लिये डिकॉक और हुड्डा के अलावा पारी के अंत में मार्कस स्टोइनिस ने लगातार तीन छक्के और एक चौके से 14 गेंद में 28 रन और कृणाल पंड्या ने 25 रन का योगदान दिया. केकेआर के लिये रसेल ने तीन ओवर में 22 रन देकर दो विकेट झटके. नारायण और टिम साउदी ने एक विकेट हासिल किया. शिवम मावी महंगे रहे जिन्होंने चार ओवर में 50 रन देकर एक विकेट झटका. उनके अंतिम और पारी के 19वें ओवर में पांच छक्के से 30 रन जुड़े जिससे लखनऊ सुपर जायंट्स यह स्कोर बना सकी.

सुपर जायंट्स की सात जीत में अहम भूमिका निभाने वाले राहुल एक रन लेने की गफलत में पहले ही ओवर में पवेलियन पहुंचे:

केकेआर के कप्तान श्रेयस अय्यर ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया और क्षेत्ररक्षण का खूबसूरत नमूना पेश करते हुए प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान राहुल को सीधे थ्रो से रन आउट कर बड़ा विकेट हासिल किया जो एक भी गेंद नहीं खेल पाये. लखनऊ सुपर जायंट्स की सात जीत में अहम भूमिका निभाने वाले राहुल एक रन लेने की गफलत में पहले ही ओवर में पवेलियन पहुंचे. डिकॉक (29 गेंद में चार चौके, तीन छक्के) और तीसरे नंबर पर भेजे गये हुड्डा (27 गेंद, चार चौके और दो छक्के) ने जिम्मेदारी से खेलते हुए 71 रन की भागीदारी से अच्छी नींव रखी. हुड्डा ने दूसरे ओवर में मावी पर कवर प्वांइट और एक्सट्रा कवर पर दो चौके लगाये जबकि डिकॉक ने अगले ओवर में साउदी पर दो चौके और लेग साइड पर छक्का जड़ा.

नारायण की गुड लेंथ गेंद को डिकॉक हवा में खेल गये और इस बार मावी ने कोई गलती नहीं की:

हुड्डा ने फिर नारायण (20 रन देकर एक विकेट) की आफ स्टंप से बाहर गेंद को लांग ऑन पर छक्के के लिये भेजा. पावरप्ले के अंतिम ओवर में डिकॉक ने हर्षित राणा पर मिड विकेट और डीप स्क्वायर लेग पर दो गगनचुंबी छक्के और एक चौका जड़ा जिससे छह ओवर बाद टीम का स्कोर एक विकेट पर 66 रन था. राणा ने पहले ओवर में 17 रन लुटाये. अगले ओवर में मावी के हाथ से हुड्डा को आउट करने का मौका छूट गया. डिकॉक ने इसी सातवें ओवर में अपना अर्धशतक भी पूरा किया. पर आठवें ओवर में यह साझेदारी टूट गयी जब नारायण की गुड लेंथ गेंद को डिकॉक हवा में खेल गये और इस बार मावी ने कोई गलती नहीं की.

जमे हुए बल्लेबाज हुड्डा उनकी गेंद को सही टाइम नहीं कर सके और केकेआर के कप्तान ने कैच लपक लिया:

इसके बाद रन गति थोड़ी धीमी होती गयी और 13वें ओवर में केकेआर ने तीसरी सफलता हुड्डा के रूप में हासिल की. अय्यर ने रसेल को गेंदबाजी पर लगाया और जमे हुए बल्लेबाज हुड्डा उनकी गेंद को सही टाइम नहीं कर सके और केकेआर के कप्तान ने कैच लपक लिया.

रसेल ने फिर अपने दूसरे ओवर में कृणाल पंड्या को दूसरा शिकार बनाया. स्टोइनिस ने क्रीज पर उतरकर जमने में थोड़ा समय लिया और 19वें ओवर की पहली तीन गेंदों पर शिवम मावी पर लगातार तीन छक्के जड़े लेकिन चौथी गेंद पर अय्यर को कैच देकर आउट हो गये. जेसन होल्डर (13 रन) ने आते ही दो छक्का जड़ दिये जिससे इस ओवर में एक विकेट गिरा और पांच छक्के से 30 रन बने. अंतिम ओवर में टिम साउदी पर केवल तीन रन बने जिसमें होल्डर कैच आउट और दुश्मंता चमीरा रन आउट हुए. आयुष बदोनी 15 रन बनाकर नाबाद रहे.

नीतिश राणा अगले ही ओवर में आवेश खान की यार्कर पर बोल्ड हो गये:

केकेआर की सलामी जोड़ी फिर नहीं चली और पहले ही ओवर में बाबा अपराजित (शून्य) मोहसिन खान की गेंद पर बल्ला छुआकर बदोनी को कैच देकर आउट हुए. कप्तान अय्यर (06) ने चौथे ओवर में दुष्मंता चमीरा पर चौका लगाकर हाथ खोले ही थे कि वह उनकी शार्ट गेंद पर स्कावयर लेग पर बदोनी को कैच दे बैठे. फिंच (14 रन) भी शार्ट गेंद का शिकार हुए. होल्डर की गेंद उनके बल्ले का किनारा छूकर ऊपर की ओर गयी और विकेटकीपर डिकॉक ने कैच लपककर उनकी पारी खत्म की. इससे पावरप्ले में टीम का स्कोर तीन विकेट पर 25 रन था. नीतिश राणा अगले ही ओवर में आवेश खान की यार्कर पर बोल्ड हो गये.

केकेआर ने 15वें ओवर की पहली तीन गेंद पर तीन विकेट गंवा दिये:

रसेल ने जमने के लिये सात गेंद ली और फिर आकर्षक शॉट्स जमाकर तहलका मचा दिया. उन्होंने नौंवे ओवर में होल्डर पर तीन छक्के और एक छक्के से 25 रन जोड़े. केकेआर का 10 ओवर बाद स्कोर चार विकेट पर 64 रन था. टीम ने पांचवां विकेट रिंकू सिंह (06) के रूप में खोया जिन्होंने पिछले मैच में अच्छी पारी खेली थी. सुनील नारायण ने आते ही इस 12वें ओवर में रवि बिश्नोई पर डीप मिडविकेट पर छक्का और फिर चौका लगाया. रसेल ने अगले ओवर में आवेश खान की पहली गेंद को डीप मिडविकेट पर गगनचुंबी छक्का जमाया और अगली गेंद पर थर्ड मैन पर कैच देकर आउट हाो गये. दो गेंद बाद अनुकूल रॉय भी पवेलियन में थे और टीम का स्कोर सात विकेट पर 85 रन था. केकेआर ने 15वें ओवर की पहली तीन गेंद पर तीन विकेट गंवा दिये. सोर्स-भाषा

और पढ़ें