एक साथ इतने तबादले हुए तो चिकित्सा सेवाएं हो जाएगी बेपटरी

एक साथ इतने तबादले हुए तो चिकित्सा सेवाएं हो जाएगी बेपटरी

एक साथ इतने तबादले हुए तो चिकित्सा सेवाएं हो जाएगी बेपटरी

जैसलमेर: पिछले दिनों चिकित्सा विभाग में हुए तबादला सूची में जैसलमेर जिले के लगभग 80 चिकित्साकर्मी भी शामिल है, लेकिन फिलहाल जिला कलक्टर के निर्देशानुसार इनकों यहां से रिलीव नहीं किया गया है. सरहदी जिला जैसलमेर जिसमें पहले से ही चिकित्सा विभाग के लगभग 50 प्रतिशत पद रिक्त चल रहे है, ऐसे में यदि तबादला सूची मे शामिल चिकित्साकर्मियों और पेरामेडिकल स्टाफ को यहां से कार्यमुक्त कर दिया गया और समय पर इनके जगह आने वाले स्टाफ ने कार्यभार नहीं संभाला तो जैसलमेर जिले के कई स्वास्थ्य केन्द्रों एवं उपस्वास्थ्य केन्द्रों पर ताला जड़ने की नौबत तक आ जाएगी और ऐसे में इन दिनों चल रही मौसमी बीमारियों की मार से जिले मे चिकित्सा सेवाएं बेपटरी हो जाएगी. 

अधिकतर स्टाफ ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत:
राज्य सरकार द्वारा जारी तबादला सूची में अधिकतर चिकित्सक, नर्सिंग एवं अन्य चिकित्साकर्मी ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत है. ऐसे में जिला प्रशासन एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सामने परेशानी यह है कि यदि सभी चिकित्सकों और अन्य कामिकों को रिलीव कर दिया गया तो ग्रामीण क्षेत्रों में पहले से ही बदहाल चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा जाएगी. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बी.के. बारूपाल ने भी इस बात को माना है कि जिले में कई ऐसे केन्द्र है, जहां केवल एक ही चिकित्साकर्मी है. यदि ऐसे में उन्हें कार्यमुक्त दिया गया तो इन दिनों मौसमी बीमारियां जो पैर पसार रही है, उससे वहां कि चिकित्सा व्यवस्था बिगड़ जाएगी. 

और पढ़ें