दूसरे State में जा रहे है तो पहले इस News को पढ़े, जिससे न हो Problem

दूसरे State में जा रहे है तो पहले इस News को पढ़े, जिससे न हो Problem

दूसरे State में जा रहे है तो पहले इस News को पढ़े, जिससे न हो Problem

नई दिल्‍ली: देश के कई राज्‍यों ने Covid की रोकथाम को लगाए प्रतिबंधों में अब ढील देनी शुरू कर दी है. हालांकि बाहरी राज्‍यों (Outlying States) से आने वालों के लिए कुछ नियमों का पालन जरूर किया जा रहा है. कुछ राज्‍यों ने बाहरी राज्‍यों से आने वालों के लिए RTPCR टेस्‍ट (RTPCR Test) करवाने को जरूरी बनाया हुआ है. वहीं कुछ राज्‍यों ने अपने यहां पर अन्‍य राज्‍यों से आने वालों के लिए E Pass को जरूरी बनाया हुआ है. यहां पर आपको ये भी बता दें कि भले ही राज्‍यों ने कोई भी नियम बनाया हो लेकिन सभी राज्‍य इस बात का विशेष ध्‍यान रख रहे हैं कि एक दूसरे से दूरी और मास्‍क (Mask) लगाने के नियम का हर हाल में पालन किया जाए.

वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को बिना रिर्पोट के सफर करवाने पर सरकार कर रही विचार:
आपको यहां पर ये भी बता दें कि सरकार इस बारे में भी विचार कर रही है कि जिन लोगों ने वैक्‍सीन (Vaccine) की दोनों खुराक ले ली है उन्‍हें बिना RTPCR रिपोर्ट के विमान में सफर करने की इजाजत दी जाए. हालांकि इस पर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं किया गया है. इस पर अंतिम फैसला नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation), संबंधित नोडल एजेंसी (Nodal Agency) और विशेषज्ञों की राय पर किया जाएगा. लेकिन इसमें भी जनता के हितों को सर्वोच्‍च प्राथमिकता (Highest Priority) दी जाएगी.

दिल्ली के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लेने का सर्टिफिकेट रखना होगा:
राजधानी दिल्‍ली की ही बात करें तो यहां पर बाहरी राज्‍यों से आने वाले ऐसे लोगों को जिन्‍होंने वैक्‍सीन की दोनों या एक खुराक ले रखी है उसको अपने पास इसका सर्टिफिकेट (Certificate) रखना होगा. इसके अलावा कोई ऐसा व्‍यक्ति जो अपने निजी वाहन (Private Vehicle) से दिल्‍ली से होकर अन्‍य राज्‍यों में जा रहा है उसको दिल्‍ली में रुकने नहीं दिया जाएगा. इसके अलावा वो यात्री जो इसके लिए सरकारी परिवहन (Public Transport) का इस्‍तेमाल कर रहे हैं उनका बस अड्डे (Bus Stand) पर RTPCR टेस्‍ट किया जाएगा. 

एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन से बाहर आने वालों का मौके पर ही होगा टेस्ट:
इसी तरह से हवाई अड्डे (Airport) और रेलवे स्‍टेशन (Railway Station) पर बाहर से आने वालों का टेस्‍ट किया जाएगा. आपको बता दें दिलली ने 1 जून से ही कोरोना की रोकथाम को लगाए गए प्रतिबंधों में ढील देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इसके तहत 7 जून से बाजारों को ऑड-इवेन (odd-even) के जरिए खोल दिया गया है.

महाराष्‍ट्र में सीमा पर होगा टेस्ट:
महाराष्‍ट्र सरकार (Government Of Maharashtra) ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बाहरी राज्‍यों से आने वालों के लिए राज्‍य की सीमा (Border) पर ही टेस्टिंग को जरूरी बनाया था. हालांकि यहां पर भी रेलवे स्‍टेशन, बस अड्डों और हवाई अड्डों पर टेस्टिंग और थर्मल स्‍केनिंग की जा रही है. संदेह होने पर यात्री को अपने खर्च पर RTPCR करानी अनिवार्य होगी.

महाराष्ट्र के जिलों में आवागमन के लिए ईपास की सुविधा:
राज्‍यों के जिलों में जाने के लिए भी ईपास की सुविधा दी गई है. यात्रियों को आरोग्‍य सेतू एप (Aarogya Setu App) रखना जरूरी होगा. केरल, राजस्‍थान, गुजरात, दिल्‍ली और गोवा से आने वालों को अपनी आरटीपीसीआर टेस्‍ट दिखानी होगी. जिन लोगों के पास ये रिपोर्ट नहीं होगी उन्‍हें अपने खर्च पर ये करवानी होगी. भारतीय सेना के जवानों और नवजात बच्‍चों को इससे छूट दी गई है. हवाई यात्रा (Air Travel) करने वालों को 48 घंटे के अंदर की अपनी RTPCR रिपोर्ट एयरपोर्ट पर दिखानी होगी.

कनेगेटिव रिर्पोट वालों का नहीं होगा आरटीपीसीआर टेस्‍ट:
बिहार (Bihar) में भी बाहरी राज्‍यों से आने वालों के लिए रेलवे स्‍टेशनों, बस अड्डों और हवाई अड्डे पर RTPCR टेस्‍ट कराना होगा. हालांकि जिन लोगों के पास अपनी कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट (Negative Report) है उन्‍हें इसमें छूट भी है. साथ ही ऐसे लोगों को जिन्‍होंने वैक्‍सीन की दोनों या एक खुराक ले ली है उन्‍हें इसका सर्टिफिकेट भी दिखाना जरूरी है. आपको बता दें कि बिहार सरकार ने पहले राज्‍य की सीमा पर ही टेस्टिंग की सुविधा दी थी.

राज्यों के आवागमन के लिए थर्मल स्केनिंग की सुविधा:
मध्‍य प्रदेश में बाहरी राज्‍यों से आने वालों को रेलवे स्‍टेशन, बस अड्डा और हवाई अड्डे पर थर्मल स्‍केनिंग (Thermal Scanning) से गुजरना होगा. यहां पर तापमान बढ़ा हुआ होने की सूरत में यात्री का RTPCR टेस्‍ट कराया जाएगा. 

अपने वाहनों से राज्‍य की सीमा में दाखिल होने वालों को जरूरत पड़ने पर अपनी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी. इसके अलावा वैक्‍सीन सर्टिफिकेट भी पास रखना जरूरी होगा.

और पढ़ें