इस्लामाबाद इमरान खान ने की मांग, अमेरिकी राजनयिक डोनाल्ड लू को किया जाए बर्खास्त

इमरान खान ने की मांग, अमेरिकी राजनयिक डोनाल्ड लू को किया जाए बर्खास्त

इमरान खान ने की मांग, अमेरिकी राजनयिक डोनाल्ड लू को किया जाए बर्खास्त

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिका के मध्य एवं दक्षिण एशिया से जुड़े मामलों के सहायक विदेश सचिव डोनाल्ड लू को 'उनके अहंकार एवं बुरे व्यवहार' के कारण पद से हटाने की मांग की है. मीडिया में आई एक खबर में यह जानकारी दी गई है.

इमरान का दावा है कि पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन की कथित अमेरिका समर्थित साजिश में लू केंद्रीय भूमिका में थे, जिसके चलते पिछले महीने अविश्वास प्रस्ताव के जरिये उनकी सरकार को गिरा दिया गया.

अविश्वास प्रस्ताव पेश किए जाने से पहले धमकी दी गई थी और बाद में सिलसिलेवार घटनाएं शुरू हुईं: 

उन्होंने लू पर अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत रहे असद मजीद को धमकाने का आरोप लगाया. इमरान ने कहा कि लू ने असद से कहा था कि यदि अविश्वास प्रस्ताव के जरिये उन्हें सत्ता से हटाने में कामयाबी नहीं मिली तो पाकिस्तान को इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान ने यह आरोप भी लगाया कि अविश्वास प्रस्ताव पेश किए जाने से पहले धमकी दी गई थी और बाद में सिलसिलेवार घटनाएं शुरू हुईं, जिसके परिणामस्वरूप उन्हें अपदस्थ कर दिया गया, क्योंकि स्थानीय लोग और विदेशी साजिशकर्ता इस साजिश में शामिल हो गए थे.

पाकिस्तान और वाशिंगटन में अमेरिका के इस कदम को लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया गया था: 

'द डॉन' अखबार की खबर के अनुसार, इमरान ने सोमवार को सीएनएन के कार्यक्रम 'कनेक्ट द वर्ल्ड' में एक विशेष साक्षात्कार के दौरान अपने दावों को दोहराया. उन्होंने लू को बर्खास्त करने की अपील भी की.

कार्यक्रम के मेजबान बेकी एंडरसन ने जब इमरान से पूछा कि क्या उन्होंने इस मुद्दे को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति (जो बाइडन) या विदेश मंत्री (एंटोनी ब्लिंकन) से संपर्क किया है तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. बजाय इसके इमरान ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की बैठक में एक आपत्ति पत्र जारी करने का फैसला लिया गया था, साथ ही पाकिस्तान और वाशिंगटन में अमेरिका के इस कदम को लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया गया था. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें