पाकिस्तान के ओलंपिक में लचर प्रदर्शन पर हैरान इमरान, कारणों का पता लगाने के लिए बुलाई बैठक

पाकिस्तान के ओलंपिक में लचर प्रदर्शन पर हैरान इमरान, कारणों का पता लगाने के लिए बुलाई बैठक

पाकिस्तान के ओलंपिक में लचर प्रदर्शन पर हैरान इमरान, कारणों का पता लगाने के लिए बुलाई बैठक

कराची: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने देश के ओलंपिक में लचर प्रदर्शन के कारणों का पता लगाने के लिये खेल मंत्री डा. फहमिदा मिर्जा के साथ बैठक बुलायी है. 

पाकिस्तान के 10 खिलाड़ियों ने तोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लिया था लेकिन उनमें से कोई भी पदक नहीं जीत पाया. इनमें से भाला फेंक के एथलीट अरशद नदीम और भारोत्तोलक ताल्हा तालिब ही प्रभाव छोड़ पाये थे और अपनी स्पर्धाओं में शीर्ष पांच में रहे थे. पाक सरकार में मंत्री असद उमर ने कहा कि प्रधानमंत्री अपनी सरकार के बाकी बचे दो वर्ष के कार्यकाल में देश के खेल ढांचे पर ध्यान देंगे क्योंकि वह चाहते हैं कि युवा क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों में भी अपनी चमक बिखेरें. 

भारत के ओलंपिक में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बाद जागा पड़ोसी मुल्क:
सरकारी सूत्रों के अनुसार इमरान का खेलों के प्रति यह नया प्यार पड़ोसी भारत के ओलंपिक में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बाद जगा है. भारत को भाला फेंक के एथलीट नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक दिलाया था. इसके अलावा उसने दो रजत और चार कांस्य पदक भी जीते. असद ने कहा कि यह सच है कि अपने तीन साल के शासन में सरकार ने खेलों पर बहुत अधिक ध्यान नहीं दिया क्योंकि देश में कई अन्य ज्वलंत मुद्दे थे. लेकिन अब प्रधानमंत्री भी चाहते हैं कि खेलों में सुधार हो, उनकी देश में अत्याधुनिक खेल संस्थान स्थापित करने की योजना है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें