नीमकाथाना में नाबालिग पर लड़की भगाने का आरोप, जंजीरों से जकड़ कर महिलाओं के कपड़े और Bengals पहनाकर किया लज्जित

नीमकाथाना में नाबालिग पर लड़की भगाने का आरोप, जंजीरों से जकड़ कर महिलाओं के कपड़े और Bengals पहनाकर किया लज्जित

 नीमकाथाना में नाबालिग पर लड़की भगाने का आरोप, जंजीरों से जकड़ कर महिलाओं के कपड़े और Bengals पहनाकर किया लज्जित

नीमकाथाना: सीकर जिले (Sikar District) में एक नाबालिग (Minor) पर लड़की भगाने के आरोप में उसको जंजीरों में जकड़ कर (Chained Up) रखने का मामला सामने आया है. सजा के तौर पर उसे चूड़ियां (Bangles) और महिलाओं के कपड़े (Womans Clothes) पहनाए. इतना ही नहीं बाकायदा उसका मेकअप (Make Up) करके वीडियो भी बनाया और वायरल कर दिया गया. वीडियो वायरल (Video Viral) होने पर लोगों ने सोशल मीडिया पर उसे देखा तो परिजनों को घटना का पता लगा. परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने नाबालिग को तलाशा तो वह खाटूश्यामजी (Khatushyamji) में मिल गया.

मजदूरी करता है नाबालिक का परिवार:
थानाधिकारी बृजेश सिंह तंवर (SHO Brijesh Singh Tanwar) ने बताया कि सांगरियां में प्याज खोदने का काम करने वाले युवक ने बताया कि 2 जून उसके छोटे भाई को कुछ लोग किशोरपुरा की ढ़ाणी पाटन में ले गए थे. उनमें से एक युवक सांवरमल का फोन आया कि तेरा भाई समाज (Society) की एक लड़की को भगा ले गया था. उसे पकड़ रखा है. बदले में 90 हजार रुपए मांगे.

वीडियों में लोग नाबालिग को जंजीरों में जकड़े हुए है:
इस पर पीड़ित ने कहा कि गलती की है तो पुलिस (Police) में दे दो. 7 जून को सोशल मीडिया (Social Media) पर चल रहे वीडियो का लिंक डाला गया. देखा तो पीड़ित के छोटे भाई को कुछ लोगों ने जंजीरों से जकड़ा हुआ था. इसके बाद चर्चा करते हुए वे लोग उसे सजा देने के तौर पर महिलाओं के कपड़े पहनने के लिए दे रहे थे. उसका मेकअप करके उसका वीडियो बना रहे थे. उसके माथे पर दागने के निशान भी हैं. इस पर पाटन पुलिस ने पीड़ित नाबालिग को तलाशा. जो 8 जून को खाटूश्यामजी में मिला.

पूरे प्रकरण में अभी तक 20 आरोपीयों की हो चुकी है पहचान:
पीड़ित ने शिकायत (complaint) में वीडियो में नजर आने वाले लोगों को पहचानते हुए सांवरमल पुत्र सोमनाथ भोपा, दिलीप पुत्र ओमप्रकाश, सुनील पुत्र गुलाब व हरी पुत्र सांवरमल सहित 20 लोगों पहचाना है। वीडियो पहाड़ी के पास सांवरमल के घर के बाहर बनाया गया है. पीड़ित जब थाने पहुंचा पुलिस ने भी वायरल वीडियो के बारे में पूछताछ के लिए सांवरमल और सुनील को बिठा रखा था.

नायक भोपा समाज के प्रदेशाध्यक्ष राजाराम नायक और घुमंतू जनजाति प्रकोष्ठ (Nomadic Tribe Cell) के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य (State Executive Member) रामवतार लोरा ने घटना को शर्मनाक बताते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है. उनका कहना है कि समाज में इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

 

और पढ़ें