राजस्थान में पहली बार होगी इलेक्शन म्यूजिक नाइट 

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2018/11/24 09:14

जयपुर (ऋतुराज शर्मा)। निर्वाचन विभाग इन दिनों स्वीप कार्यक्रम के तहत न सिर्फ जोरशोर से नवाचार कर रहा है, बल्कि एक कदम बढ़ाते हुए उसे आम जनता के सामने व्यापक रूप से डिस्प्ले भी कर रहा है। इसी के तहत पहली बार जल्द ही म्यूजिकल नाइट का आयोजन किया जाएगा जिसमें मतदाता जागरुकता के लिखे गीतों की संगीतमयी प्रस्तुति की जाएगी। साथ ही इसमें कार्टून चरित्रों और अन्य जरिये से किए गए नवाचारों का भी प्रदर्शन होगा। खास रिपोर्ट-

मतदाता जागरुकता के व्यापक प्रयासों के तहत निर्वाचन विभाग ने अपने स्वीप कार्यक्रम को ग्रामीण और शहरी जनता को उन्हीं की भाषा में बयां करने की पहल की है। इसके तहत कहीं हिंदी तो कहीं मिली-जुली राजस्थानी या आंचलिक भाषा में गीत लिखे और गाए जा रहे हैं। इसके लिए हनुमानगढ़ ने लेखक डॉ.भरत ओला की मदद ली है। तो वहीं जिला निर्वाचन अधिकारी अपने-अपने स्तर पर नामचीन हस्तियों से गीत लिखवाकर उसका गायन लोक कलाकारों के जरिये करवा रहे हैं। इस नवाचार को और आगे बढ़ाते हुए इस बार पहली बार म्यूजिकल नाइट का आयोजन किया जा रहा है।

—राजस्थान में पहली बार इलेक्शन म्यूजिक नाइट होगी।
—इसमें चुनाव से जुड़े गीतों का होगा प्रदर्शन।
—2 दिसंबर को हो सकती है म्यूजिकल नाइट 
—चुनाव से जुड़े गीत रचयिता और गायक-गायिकाएं होंगे शामिल।

किस तरह के हैं ये गीत
—ये गीत ज्यादातर फिल्मी गीतों की पैरोडी धुनों पर आधारित है। 
—आए हो मेरी जिंदगी में तुम बहार बन के...या मेरे रश्के कमर जैसी धुनों पर अलग-अलग भाषा या शैली में गीत बनाए गए हैं।
—भरतपुर कलेक्टर संदेश नायक की ओर से बनवाया गया लोकगीत चर्चित
—बूथ पे मैं अकेली चली जाऊंगी, यामें कांई को डर...गीत के जरिये महिला मतदाताओं को किया जा रहा प्रेरित
—महिलाओं की मतदाता जागरुकता का संदेश दे रहा है गीत।
—मेवाती अंचल में लोकप्रिय बनाने के लिए वहां की स्थानीय भाषा का सहारा लिया गया है। 
—यह गीत नानक चंद नवीन ने लिखा है।
—इस गीत के बोल ये हैं-
बूथ पै मैं अकेली चली जाऊंगी, यामें कांई कौ डर और कैसी शरम ।
ई वी एम पै लिखा नाम पढ लूंगी मैं, अब जनानी रही हैं न का ही सू कम ।

—गीतकार जाकिर अब्बासी के ऐसे ही गीत को गायिका मंजू चौधरी ने अपनी आवाज दी है।
—इसी तरह चित्तौड़गढ़ जिला निर्वाचन अधिकारी ने 'आसमां के छत पर...' जैसे गीत का पिक्चराइजेशन करवाया है। जिसमें चित्तौड़ किले पर मतदान को लेकर बच्चों की ओर से की गई पेंटिंग्स को बताया है।

इस बार किए गए नवाचारों में चूरू कलेक्टर की ओर से छोटा भीम संग मतदान थीम पर कॉमिक्स स्टोरी जारी की गई है। वहीं अजमेर कलेक्टर आरती डोगरा ने सांप-सीढ़ी के खेल के जरिये डूज एंड डोंट्स बताए हैं। तो हनुमानगढ़ कलेक्टर ने वोटू के कार्टून चरित्र को गढ़कर मतदाताओं को वोटिंग के लिए आकर्षित करने का प्रयास किया है। वहीं भरतपुर सहित अन्य कलेक्टर्स ने लोकगीतों के जरिये मतदाता जागरुकता बढ़ाने की कोशिश की है। इन सभी नवाचारों का म्यूजिकल नाइट के साथ ही प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें सीईओ आनंद कुमार, एसीईओ डॉक्टर जोगाराम सहित अन्य उच्च अधिकारी मौजूद रहकर लोक कलाकारों का हौसला बढ़ाएंगे।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

मक्का-मदीना की धार्मिक यात्रा पर पहुंचे सलमान खान

सपना चौधरी ने कांग्रेस में शामिल होने की खबरों का किया खंडन, कांग्रेस ने दिखाए सबूत
Face To Face With Justice MN Bhandari | Exclusive Interview
AIIMS के ट्रॉमा सेंटर में लगी भीषण आग, दमकल की 6 गाड़ियां मौके पर मौजूद
कांग्रेस ने 10 प्रत्याशियों की एक और लिस्ट की जारी
प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं राहुल गाँधी: Amit Shah
दो सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं राहुल गाँधी
सपना चौधरी ने कांग्रेस में जाने से किया इनकार