Live News »

सख्त रोक के बावजूद हजारों लोगों की मौजूदगी में चित्तौड़गढ़ जिले के कई शक्तिपीठों में हुई पशुबलि

सख्त रोक के बावजूद हजारों लोगों की मौजूदगी में चित्तौड़गढ़ जिले के कई शक्तिपीठों में हुई पशुबलि

चित्तौड़गढ़: पशु बलि पर सख्त रोक होने के बावजूद चित्तौडगढ़ जिले के कई शक्तिपीठ पर प्रतिवर्ष की भांति नवरात्रि की नवमी पर पुलिस और हजारों लोगों के साथ जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में ही भैंसे और बकरों की बलि दिये जाने का मामला प्रकाश में आया है. बलि का आयोजन गांव के ही निवासी पंचायत समिति के उपप्रधान का परिवार करता है और वे खुद भी मौजूद रहते हैं. 

एक भैंसे की मंदिर के सामने बलि दी गई: 
चित्तौड़गढ़ जिले के आकोला थाना क्षेत्र के ताणा गांव स्थित पहाड़ी पर स्थित चामुंडा माता मंदिर पर प्रतिवर्ष की भांति सोमवार को भी ताणा के ठाकुर और भूपालसागर पंचायत समिति के उप प्रधान भीमसिंह झाला के परिवार की ओर से पशु बलि के आयोजन के तहत एक भैंसे की मंदिर के सामने बलि दी गई. क्षेत्र के करीब पांच हजार लोगों की मौजूदगी में स्वयं उप प्रधान और गांव के पूर्व और वर्तमान सरपंच की मौजूदगी में हुए इस बलि के आयोजन के प्रत्यक्षदर्शी पुलिसकर्मी भी बने लेकिन परम्परा के खौफ  के चलते इन्होंने बलि रोकने के कोई प्रयास नहीं किये. परम्परा का हवाला देकर ही ठाकुर परिवार अपनी इच्छा के अनुरूप ही पुलिस बल लगवाता है. थानाधिकारी रमेश मीणा ने बताया कि वहां इस तरह की परम्परा का मैने भी सुना है लेकिन आज मैं कपासन ड्यूटी पर हूं. वहीं आकोला थानाधिकारी रमेश मीणा कहते है कि मंदिर पर हजारों लोगों की उपस्थिति में कानून व्यवस्था नियंत्रण के लिए आज भी आकोला थाने के सहायक थानाधिकारी जगदीश विजयवर्गीय के साथ तीन जवान आकोला थाने से और दो जवान कपासन थाने से लगवाए गये थे, जिनसे इसकी रिपोर्ट ली जाएगी.

कलक्टर ने दिए जांच के आदेश: 
जिला कलेक्टर चेतनराम देवड़ा व पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल के संज्ञान में पशु बलि का मामला लाए जाने पर जांच करवाने के निर्देश दिये हैं. दोनों ही अधिकारियों ने मामला गंभीर बताया है. मान्यता है कि बलि के बाद सिर कटा भैंसा अगर चार सौ फीट की पहाड़ी से लुढक़ता हुआ नीचे तक आ जाता है तो अगले वर्ष क्षेत्र में अच्छी बरसात होगी और यदि बीच में ही अटक जाता है तो यह अच्छी बरसात नहीं होने का संकेत माना जाता है. नवरात्रि की नवमी के दिन पशु बलि के दौरान ठाकुर परिवार के ही लोग बंदूकें और अन्य हथियार लिये मौजूद रहते हैं जिससे कोई भी वहां इसका विरोध ना कर पाए.

वर्षों से हो रही पशु बलि, खौफ  के आगे सब चुप....
भूपालसागर के ताणा गांव में पशु बलि दिए जाने का यह पहला मामला नहीं है. वर्षों से लगातार पशु बलि दी जाती रही है परंपरा का रूप देकर इस अमानवीय घटनाक्रम को अंजाम दिया जाता रहा है ठाकुर परिवार द्वारा प्रतिवर्ष भैंसे की बलि दी जाती है और आने वाले साल के समय के अनुमान के नाम पर मूक पशु को तलवार से गर्दन काट कर उसके बाद पहाड़ी से फेंकने का कार्य किया जाता है ऐसा नहीं है कि इस पूरे मामले में प्रशासन को जानकारी नहीं हो प्रतिवर्ष चामुंडा माता मंदिर में नवरात्रि के अवसर पर मेला आयोजित किया जाता है जिसमें प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहते हैं लेकिन इसके बावजूद पशु बलि दिया जाना प्रशासन की मौन स्वीकृति की ओर इशारा करता है. 

पुलिस रही चुप, नहीं जप्त किया मरा हुआ भैंसा...
क्षेत्र में पशु बलि पर रोक होने के बावजूद भैंसे की बलि दिए जाने के मामले में पूरी तरह पुलिस विफ ल साबित हुई है. नवमी के अवसर पर बली स्वरूप चढ़ाए गए भैंसे के शव को भी पुलिस ने जप्त करने की कवायद नहीं की. ऐसे में साफ है कि वहां तैनात पुलिस के जवान और अधिकारी भी पूरे मामले में जानबूझकर चुप्पी साधे बैठे रहे और इस अमानवीय घटनाक्रम के साक्षी बने रहे. जानकारी में सामने आया है कि मौके पर एक सहायक उपनिरीक्षक और पांच पुलिस के जवानों को मंदिर में मेला ड्यूटी के लिए तैनात किया गया था लेकिन मंदिर में हुई बलि को लेकर मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों की मौन स्वीकृति का कारनामा प्रतीत हो रही है. 

पूर्व में की समझाइश, लेकिन नहीं लगी रोक....
जानकारी में यह भी सामने आया है कि पूर्व में तत्कालीन उपखंड अधिकारी सोहन लाल सालवी द्वारा कुछ वर्षों पूर्व इस पशु बलि पर रोक लगाने की कोशिश की गई थी लेकिन गांव के राजनीतिक रसूख और प्रभावशाली परिवार की मिलीभगत होने के चलते इस पूरे मामले पर रोक नहीं लग पाई और वर्षों से परंपरा के नाम पर मूक पशु की बलि दिए जाने का अमानवीय घटनाक्रम अनवरत रूप से अंजाम दिया जा रहा है. ऐसे में मामले को लेकर अब देखने वाली बात होगी कि सरकार या प्रशासन इस पूरे मामले में क्या कार्रवाई अमल में लाता है. 

अकेले यहीं नहीं जिले के कई मंदिरों में दी गई भैंसों और बकरों की बली....
ऐसे नहीं है कि यह अकले इसी मंदिर पर हुआ हो इसके अलावा जिले के अलग-अलग मंदिरों में बली दी गई, प्रशासन की जानकारी में भी ज्यादातर घटनाक्रम है लेकिन सच्चाई तो यहीं है कि जानकारी के बावजूद परम्परा का हवाला देकर सभी ने चुप्पी साधी हुई, सूत्रों की माने तो इस पशु बली को रोकने के लिए एक परिवाद आईजी उदयपुर रेंज के समक्ष भी पेश हुआ था लेकिन परिवाद पेश होने के बाद भी इन बेजुवानों की बली को नहीं रोका जा सका, कुल मिलाकर पशु बलि को परम्परा का रूप देकर किया जाने वाले यह अमानवीय कृत्य आखिर कब तक चलेगा, यह तो पता नहीं लेकिन धार्मिक स्थानों पर इस करह की बलि देना कितना सहीं और कितना गलत है यह तो हमें और आपको सोचना ही पड़ेगा, अब देखने वाली बात यहीं है कि आने वाले दिनों में इस पर कोई कार्रवाई होती या नहीं यह देखने वाली बात होगी. 

...पीके अग्रवाल, फर्स्ट इंडिया न्यूज़, चित्तौड़गढ़

और पढ़ें

Most Related Stories

एसीबी की टीम ने दो घूस खोर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

एसीबी की टीम ने दो घूस खोर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़: जिला मुख्यालय पर आज भीलवाड़ा एसीबी की टीम ने कार्रवाई करते हुए दो घूस खोर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है. एसीबी टीम ने फरियादी की शिकायत पर आज दोनों खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेश टिंकल और सुनील गर्ग को सीएमएचओ कार्यालय में स्थिति उनके दफ्तर में ही रिश्वत राशि के साथ गिरफ्तार किया है.

Weather Update: राजस्थान में भीषण गर्मी से आंशिक राहत मिलने की संभावना, इन 15 जिलों में होगी हल्की बारिश! 

सैंपल नहीं भरने को लेकर दुकानदार के साथ सहमति बनी थी: 
रविवार को ही दोनों खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने बूंदी रोड़ स्थित एक दुकान का निरीक्षण किया था और 10 हजार रुपये की रिश्वत देने पर सैंपल नहीं भरने को लेकर दुकानदार के साथ सहमति बनी थी. गौरतलब है कि इन दोनों अधिकारियों का सोशल मीडिया पर पूर्व में भी खूब वीडियो वायरल हुए है जिन में ये डेयरी से पनीर, श्रीखंड और दही बिना पैसे दिए पैक करा कर ले जाते ही नहीं दिख रहे है बल्कि डेयरी पर बैठकर श्रीखंड के भी चटकारे इन अधिकारियों ने लगाए हैं.

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स: कोरोना की वजह से नहीं दिखा विदेशी मेहमानों के स्वागत में कोई उत्साह ​

शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स:  कोरोना की वजह से नहीं दिखा विदेशी मेहमानों के स्वागत में कोई उत्साह ​

चित्तौड़गढ़: शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स शुक्रवार को अपने निर्धारित समय पर चित्तौड़गढ़ पहुंची, लेकिन आज शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स के चित्तौड़गढ़ पहुंचने का हर व्यक्ति को इंतजार भी रहा, कारण था कोरोना, ख़ास कर विदेशी मेहमानों को लेकर पहुंचने वाली शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स में आने वाले विदेशी मेहमानों का यूं तो स्टेशन पर पहुंचते ही मेवाड़ी परम्परा के मुताबिक स्वागत का कार्यक्रम भी रखा जाता है, लेकिन इस बार ऐसा कोई ख़ास उत्साह नहीं दिखा. लेकिन चित्तौड़गढ़ स्टेशन पर विदेशी पर्यटकों की स्क्रीनिंग भी नहीं की गई. 

यस बैंक के खाताधारकों को वित्त मंत्री सीतारमण ने दिलाया भरोसा, कहा-सुरक्षित है उनका पैसा 

सवाईमाधोपुर में हुई स्क्रीनिंग:
विदेशी मेहमानों की स्क्रीनिंग नहीं करने को लेकर जब ट्रेन के साथ चल रहे जरनल मैनेजर प्रदीप बोहरा से बात की गई तो बताया कि सुबह सवाईमाधोपुर में सभी पर्यटकों की स्क्रीनिंग हो चुकी है, इसलिए आज अब किसी पर्यटक की स्क्रीनिंग नहीं की गई है.

दिल्ली हिंसा : कोर्ट ने निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को भेजा 7 दिन की पुलिस रिमांड पर

पैलेस ऑन व्हील्स के स्टाफ की प्रतिक्रिया:
सभी पर्यटकों को स्टेशन से बाहर निकलते ही मास्क दिए गए और पर्यटक मास्क लगाकर ही चित्तौड़गढ़ दुर्ग का भ्रमण करेंगे. कोरोना को लेकर पैलेस ऑन व्हील्स पर क्या फर्क पड़ा है, और कोरोना को लेकर पैलेस ऑन व्हील्स के स्टाफ की क्या प्रतिक्रिया है इन सभी को लेकर पैलेस ऑन व्हील्स के जरनल मैनेजर प्रदीप बोहरा से फर्स्ट इंडिया ने बात की.

...पीके अग्रवाल फर्स्ट इंडिया न्यूज चित्तौड़गढ़

चित्तौड़गढ़: अनियंत्रित निजी बस ने बाइक सवारों को कुचला, 4 युवकों की मौत

चित्तौड़गढ़:  अनियंत्रित निजी बस ने बाइक सवारों को कुचला, 4 युवकों की मौत

चित्तौड़गढ़: जिले के रावतभाटा क्षेत्र में आज अल सुबह दर्दनाक हादसा हुआ है, अनियंत्रित हुई निजी बस ने एक बाइक को अपनी चपेट में ले लिया, हादसे में बाइक सवार चार युवकों को बस ने बुरी तरह कुचल दिया और चारों युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौक हो गई.

राजस्थान यूनिवर्सिटी में एक बार फिर B.Com सेकंड ईयर की EAFM परीक्षा का प्रश्नपत्र हो रहा वाट्सएप पर वायरल 

ग्रामीणों ने किया स्टेट हाईवे जाम:
घटना चित्तौड़गढ़-रावतभाटा मार्ग पर खुमानगंज के पास हुई. घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और स्टेट हाइवे संख्या 9- ए पर जाम लगा दिया. इधर भैंसरोड़गढ़ थाना पुलिस मौके पर मौजूद है. लोगों से समझाइश के प्रयास कर रही है. मौके पर मौजूद आक्रोशित ग्रामीण मुआवजे की मांग कर रहे हैं. बताया जा रहा है चारों युवक गांव लोठियाना के रहने वाले है और मजदूरी पर जाने के लिए घर से निकले थे. 

चरित्र पर संदेह के चलते पति ने की पत्नी और दो बच्चों की हत्या 

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है

चित्तौड़गढ़: राज्यपाल कलराज मिश्र मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को  संबोधित करते हुए कहा कि सभी के मौलिक अधिकार है और इन मौलिक अधिकारों को लेकर अगर कहा जाए आपकी मौलिक जिम्मेदारी क्या है तो आप क्या सोचते है. उन्होंने कहा कि हमें अपने मौलिक अधिकारों को समझने की जरूरत है. राज्यपाल मिश्र ने कहा कि मौलिक अधिकार के नाम पर जगह जगह हिंसा हो रहीं है. देश को क्षति पहुंचाई जा रही है, उन्होंने पूछा क्या यह मौलिक जिम्मेदारी का उलंघन नहीं है. 

पीएम मोदी ने प्रयागराज में बांटे उपकरण, कहा-नए भारत के निर्माण में हर दिव्यांग युवा-बच्चे की भागीदारी जरूरी

मेवाड़ यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह: 
राज्यपाल कलराज मिश्र शनिवार को चित्तौड़गढ़ के दौरे रहे है. राज्यपाल मिश्र ने चित्तौड़गढ़ के गंगरार में स्थित मेवाड़ यूनिवर्सिटी में आयोजित पांचवें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की. इससे पहले कलराज मिश्र शनिवार सुबह करीब 11.15 बजे मेवाड़ यूनिवर्सिटी में बने हैलीपेड़ पहुंचे. जहां से राज्यपाल कलराज मिश्र मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए रवाना हुए. राज्यपाल मिश्र ने मेवाड़ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह जाने से पहले दीक्षांत समारोह में परिधान भी पहने. 

संविधान की प्रस्तावना और आर्टिकल 51 पढ़ा:
दीक्षांत समारोह से पहले राज्यपाल कलराज मिश्र का मेवाड़ यूनिवर्सिटी के चैयरमेन, रजिस्ट्रार और डीन के साथ ग्रुप फोटो के साथ ही यूनिवर्सिटी के डीन सम्मान के साथ राज्यपाल मिश्र को दीक्षांत समारोह के मंच तक लेकर पहुंचे. जहां राष्ट्रगान के साथ दीक्षांत समारोह का शुभारंभ हुआ. इससे पहले राज्यपाल कलराज मिश्र ने सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जुलित कर माल्यार्पण किया.

कोरोना वायरस की वजह से शेयर बाजार को लगा झटका, निवेशकों को हुआ भारी नुकसान

इसके बाद राज्यपाल कलराज मिश्र ने संविधान की प्रस्तावना और आर्टिकल 51 पढ़ा और सभी ने दौहराया, दीक्षांत समारोह में विद्यार्थियों को डिग्रिया वितरित की गई. दीक्षांत समारोह को मेवाड़ यूनिवर्सिटी के चैयरमेन अशोक गदिया ने भी संबोधित किया. दीक्षांत समारोह में सांसद चंद्रप्रकाश जोशी, पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी भी मौजूद रहे.

चित्तौड़गढ़: युवक पर अज्ञात लोगों ने किया चाकू से ताबड़तोड़ वार, अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत

चित्तौड़गढ़: युवक पर अज्ञात लोगों ने किया चाकू से ताबड़तोड़ वार, अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत

चित्तौड़गढ़: जिले में आज उस समय सनसनी फैल गई जब एक युवक को अज्ञात लोगों ने चाकू मार दिया और युवक की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गई. घटना महाराणा प्रताप सेतु मार्ग स्थित पन्नाधाय चौराहे के पास की है. गांधी नगर सेक्टर 4 निवासी कमलेश ओझा पर अज्ञात युवक ने चाकू से हमला कर दिया. 

Nirbhaya Case: दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की केंद्र की याचिका पर 5 मार्च को होगी सुनवाई 

युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया:
घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया. जिला अस्पताल में चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया. इधर घटना स्थल का जायजा लेने पहुंची अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरिता सिंह ने बताया कि परिजन किसी कान्हा ढोली नाम के व्यक्ति पर शक जाहिर कर रहे है और पुलिस घटना के प्रत्यक्षदर्शियों से बात करने के प्रयास में जुटी है ताकि घटना का खुलासा हो सके.

राज्यसभा की 55 सीटों पर 26 मार्च को होंगे चुनाव, राजस्थान की भी 3 सीटें शामिल 

शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया:
बताया जा रहा है कि मृतक कमलेश ओझा सुबह घर से बाजार जाने के लिए निकला ही था कि पन्नाधाय बस स्टेण्ड के पास उसकी मोपेड़ को रूकवा कर अज्ञात लोगों ने चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया. शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है. इधर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. 

अनियंत्रित हुई कार सड़क किनारे खड़े ट्रक में घुसी, तीन की मौत

अनियंत्रित हुई कार सड़क किनारे खड़े ट्रक में घुसी, तीन की मौत

चित्तौड़गढ़: जिले के निम्बाहेड़ा कोतवाली थाना क्षेत्र में आज सुबह चित्तौड़गढ़-नीमच हाइवे पर जलिया चेक पोस्ट के निकट अनियंत्रित हुई कार सड़क किनारे खड़े ट्रक में जा घुसी. हादसा इनता भयंकर था कि मौके पर कार के परखच्चे उड़ गए. हादसे में कार सवार तीन युवकों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि शेष घायलों को उपचार के लिए उदयपुर रेफर किया गया है. 

VIDEO: जोधपुर के लूणी थाने की लेडी कॉन्स्टेबल का रिश्वत लेते वीडियो वायरल 

महाराष्ट्र से घुमने आए थे:
निम्बाहेड़ा कोतवाली पुलिस बताया कि महाराष्ट्र के धुलिया से 6 युवक राजस्थान घूमने आ रहे थे इसी दौरान नीमच-चित्तौड़गढ़ हाइवे पर जलिया चैक पोस्ट के निकट संभवत: कार चला रहे युवक को नींद आ जाने से कार अनियंत्रित हो गई और सड़क किनाने खड़े ट्रक में कार पीछे से जा घुसी. 

बाबा रामदेव का माघ मेला पूरे परवान पर, देशभर से रामदेवरा आये श्रद्धालु 

घटना की सूचना पुलिस ने परिजनों को दी:
इस दर्दनाक हादसे में महाराष्ट्र धुलिया निवासी सौरभ महेंद्र पाटिल, अब्दुल सुभान पिंजारी और गिरीश विट्ठल मराठा की मौत हो गई है, जबकि दुर्घटना में कार सवार तीन युवक हेमंत रमेश पाटिल, नवदीप विजय सिंह गिराशे और नीलेश रायसिंह पंवार को प्राथमिक उपचार के लिए उदयपुर रेफर किया गया है. मृतकों के शव अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिए है, और घटना की सूचना पुलिस ने परिजनों को दे दी है. परिजन भी महाराष्ट्र से रवाना हो गए है.

भारतीय संस्कृति की मिसालः कनाडा के युवक से प्यार होने पर की शादी, चित्तौड़गढ़ में पढ़े गए मंत्र

भारतीय संस्कृति की मिसालः कनाडा के युवक से प्यार होने पर की शादी, चित्तौड़गढ़ में पढ़े गए मंत्र

चित्तौड़गढ़: जिले में आयोजित एक शादी समारोह शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है, हो भी क्यों ना, 2015 में पढ़ाई के लिए कनाड़ा गई चित्तौड़गढ़ की ख्याति कनाड़ा के युवक को अपना दिल दे बैठी, फिर क्या था प्यार परवान चढ़ा और आज चित्तौड़गढ़ की ख्याति कनाड़ा के जेरमी की हो गई. 

शादी पूरी तरह भारतीय रीति रिवाज से हुई: 
भारतीय संस्कृति और सभ्यता से हो रही यह शादी इसलिए भी ख़ास है कि शादी में दुल्हन भले ही भारतीय हो लेकिन भारतीय संस्कृति और सभ्यता से ओतप्रोत दूल्हा कनाड़ा का रहने वाला है, हिन्दू रीति रिवाज से शनिवार को सम्पन्न हुई इस शादी में कई बात ऐसे भी सामने आई जिसमें दूल्हे को शादी के दौरान कई बातें समझनी थी तो ट्रांसलेशन दुल्हन की मौसी ने किया, और ट्रांसलेशन के माध्यम से ही दूल्हे जेरमी ने विवाह के सात वचन भी लिए, शादी पूरी तरह भारतीय रीति रिजावज से हुई तो वकायदा जेरमी भी कनाड़ा से अपनी मां सहित 8 बारातियों के साथ शादी करने के लिए चित्तौड़गढ़ आया. 

ख्याति के लिए जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी: 
इस शादी के बाद दुल्हन बनी चित्तौड़गढ़ की ख्याति के तो वर्षों का ही नहीं मानों जिंदगी का ही सपना पूरा हो गया, ख्याति से पूछने पर बातों ही पता चल रहा था कि वो आज जितना खुश थी शायद वह ख्याति के लिए जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी थी, ख्याति कहती है कि आज मेरे माता पिता इस शादी की इजाजत नहीं देते तो शायद हम यह शादी नहीं करते इससे भारतीय संस्कार भी ख्याति के बातों से झलक रहे थे.

ख्याति के माता पिता शादी को लेकर तो खुश दिखे:
शादी हिन्दू रीति रिवाज से पूरी हुई, दूल्हे ने सात वचनों को समझा और सात फेरे भी लिए, शादी में पहुंचे आचार्यों ने शादी को पूरी तरह हिन्दू रीति रिवाज से पूरा कराया, तो दूल्हे कि पिता की रूप में शादी सभी रस्में जेरमी की मां मौरीन तिहान ने पूरी की, आज हमने जब शादी को लेकर ख्याति की मां सीमा और पिता प्रेमशंकर श्रीवास्तव से बात की, तो ख्याति के माता पिता शादी को लेकर तो खुश दिखे, लेकिन बेटी की विदाई का दर्द चेहरे से साफ झलक रहा था, हालांकि हर मां-बाप की खुशी बच्चों की खुशी में होती है.

ख्याति के लिए भी यह दिन किसी ख्वाब से कम नहीं:
कुल मिलाकर विदेशी दुल्हे के साथ भारतीय दुल्हन की शादी भले ही चित्तौड़गढ़ में चर्चा का विषय रही हो लेकिन सच्चाई यह भी है कि भारतीय संस्कारों में पली-पढ़ी ख्याति के लिए भी यह दिन किसी ख्वाब से कम नहीं था, और इधर शादी में आए मेहमानों के लिए वाकई यह शादी कुछ ज्यादा ही ख़ास दिखी. 

....पीके अग्रवाल फर्स्ट इंडिया न्यूज़, चित्तौड़गढ़

कहासुनी के बाद पति ने तलवार से वार कर की पत्नी की हत्या, आरोपी फरार

कहासुनी के बाद पति ने तलवार से वार कर की पत्नी की हत्या, आरोपी फरार

चित्तौड़गढ़: चित्तौड़गढ़ के गांधी क्षेत्र में आज रिश्तों के खून की सनसनीखेज दांस्ता सामने आई है. जहां चित्तौड़गढ़ के गांधी नगर क्षेत्र की मोहर मगरी में रहने वाले शेरू ने तलवार से वार कर अपनी ही पत्नी को मौत के घाट उतार दिया. 

बच्चा घायल:
डिप्टी एसपी कमल प्रसाद मीणा ने बताया कि मोहर मगरी इलाके में रहने वाले शेरू की आज सुबह अपनी पत्नी के साथ कहासुनी हो गई थी. पहले तो शेरू ने अपनी पत्नी की घर में जमकर पिटाई की और इससे भी मन नहीं भरा तो घर में रखी तलवार से पत्नी पर वार कर दिया. घटना में पत्नी आमना की मौत हो गई, जबकि उनका बच्चा अयान घायल हो गया. पूरे घटनाक्रम की जानकारी छोटे बच्चे अयान से पड़ोसियों को दी. 

फरार आरोपी पति की तलाश शुरू:
घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची कोतवाली थाना पुलिस ने मृतका के शव को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है और मृतका के पीहर पक्ष को भी सूचना दे दी है. पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर फरार आरोपी पति की तलाश शुरू कर दी है. हालांकि अभी तक पति-पत्नी के बीच हुए विवाद के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है. 

... चित्तौड़गढ़ से पीके अग्रवाल की रिपोर्ट 
 

Open Covid-19