देश में 2 से 18 साल वालों को भी जल्द मिलेगी कोरोना की दवा, DGCI ने भारत बायोटेक को कोवैक्सीन के ट्रायल की दी मंजूरी 

देश में 2 से 18 साल वालों को भी जल्द मिलेगी कोरोना की दवा, DGCI ने भारत बायोटेक को कोवैक्सीन के ट्रायल की दी मंजूरी 

देश में 2 से 18 साल वालों को भी जल्द मिलेगी कोरोना की दवा, DGCI ने भारत बायोटेक को कोवैक्सीन के ट्रायल की दी मंजूरी 

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Second Wave) का कहर जारी है. लगातार दूसरे दिन 4 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई. कोविड से होने वाली मौतों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से दहशत का माहौल है. लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की वजह से देश भर के अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर, रेमडेसिविर और ऑक्सीजन (Beds, ventilators, Remodevir, Oxygen) की किल्लत जारी है. सैकड़ों लोग बिना इलाज के ही दम तोड़ रहे हैं. यूपी, दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश समेत ज्यादातर राज्यों में तमाम पाबंदियां लागू हैं. इसके बावजूद देश में रोजाना कोरोना के साढ़े तीन लाख से ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं. वहीं पिछले 24 घंटे में 4,126 की जान चली गई है. इसी बीच भारत बायोटेक को वैक्सीन को ट्रायल की मंजूरी दे दी है. जल्द ही बच्चों पर ट्रायल किया जाएगा. 

कोवैक्सीन का 525 बच्चों पर होगा ट्रायल:
देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर की तबाही जारी है. इस बीच, महामारी की तीसरी लहर (Third Wave) को लेकर चेतावनी जारी की गई है, जिसमें सबसे अधिक बच्चों के संक्रमित होने की आशंका जताई गई है. इसे देखते हुए बड़ा कदम उठाया गया है. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India) ने 2 से 18 आयुवर्ग के लिए भारत बायोटेक की कोविड वैक्सीन के दूसरे/तीसरे चरण के लिए ट्रायल की मंजूरी दे दी है. इसके बाद अब भारत बायोटेक जल्द ही 525 बच्चों पर यह ट्रायल करेगी. 

विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को की थी क्लीनिकल टेस्ट की सिफारिश: 
विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को ही 2-18 आयुवर्ग के लिए भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के कोविड-19 टीके कोवैक्सीन के दूसरे/तीसरे चरण के लिए क्लीनिकल टेस्ट (Clinical Test) की सिफारिश की थी. बताया जा रहा है कि यह परीक्षण दिल्ली एवं पटना के एम्स और नागपुर स्थित मेडिट्रिना चिकित्सा विज्ञान संस्थान (Meditrina Institute of Medical Sciences) समेत विभिन्न स्थानों पर किया जाएगा. भारत बायोटेक 525 स्वस्थ वॉलंटियर्स के साथ यह परीक्षण करेगा.

ROTAVAC 5D has been submitted for @who prequalification. If approved, this vaccine would join a handful of new #rotavirus vaccines with great potential for affordable impact in lower-income, high-burden settings. #DefeatDD #VaccinesWork pic.twitter.com/sCng3jXEek

— DefeatDD (@DefeatDD) May 12, 2021

 

देश में अब तक केवल 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों के लिए ही है वैक्सीन:
केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन CDSCO (Central Drugs Standard Control Organisation) की कोविड-19 विषय विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को भारत बायोटेक द्वारा किए गए उस आवेदन पर विचार-विमर्श किया जिसमें उसके कोवैक्सीन टीके की दो साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने समेत अन्य चीजों का आकलन करने के लिए परीक्षण के दूसरे/तीसरे चरण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था. कंपनी के आवेदन पर विस्तृत विचार-विमर्श के बाद समिति ने प्रस्तावित दूसरे/तीसरे चरण के परीक्षण की अनुमति दिए जाने की सिफारिश की. बता दें कि अबतक देश में सिर्फ 18 साल से अधिक उम्र वालों के लिए ही वैक्सीन है. भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड से देश में टीकाकरण अभियान चल रहा है. माना जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से पहले बच्चों के लिए भी देश में वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी.

देश में कोरोना का ग्राफ:
देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,62,727 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले 2,37,03,665 हो गए हैं जबकि कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से 4,120 लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 2,58,317 पर पहुंच गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के गुरुवार को सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक 37,10,525 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है जो कुल मामलों का 15.65 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर (National Rate) कुछ सुधरकर 83.26 प्रतिशत हो गई है. आंकड़ों के मुताबिक, बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 1,97,34,823 हो गई है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.09 फीसदी दर्ज की गई है.

राहुल बोले- बचे हैं तो बस सेंट्रल विस्टा और पीएम के फोटो:
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण की गंभीर स्थिति को लेकर गुरुवार को फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि वैक्सीन, ऑक्सीजन और दवाओं के साथ प्रधानमंत्री (Prime Minister) भी गायब हैं. उन्होंने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट (Central vista project) पर हमला बोलते हुए कहा कि बचे हैं तो बस सेंट्रल विस्टा, दवाओं पर GAC और यहां-वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो.

वैक्सीन, ऑक्सीजन और दवाओं के साथ PM भी ग़ायब हैं।

बचे हैं तो बस सेंट्रल विस्टा, दवाओं पर GST और यहाँ-वहाँ PM के फ़ोटो।

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) May 13, 2021


 

और पढ़ें