Live News »

31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का आगाज, परिवहन मंत्री ने केंद्र पर साधा निशाना

31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का आगाज, परिवहन मंत्री ने केंद्र पर साधा निशाना

जयपुर: 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का आगाज आज अमर जवान ज्योति पर किया गया. समारोह में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाए नेशनल हाईवेज में ही अधिक खामियां हैं, इन पर 70 फीसदी दुर्घटनाएं होती हैं. मंत्री ने सड़क सुरक्षा को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने के लिए भी कहा. एक रिपोर्ट:

देश में नेशनल हाईवेज की स्थिति खराब:
सड़क सुरक्षा सप्ताह के उद्घाटन कार्यक्रम में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि देश में नेशनल हाईवेज की स्थिति खराब है. इसी वजह से राजस्थान में भी अधिक दुर्घटनाएं हो रही हैं. इन दुर्घटनाओं को रोकने के लिए एनएचएआई को सड़कों की खामियों को सुधारना होगा. नए मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माना तो भारी लगा दिया गया, लेकिन दुर्घटनाओं को रोकने के लिए कोई कवायद नहीं की है. जुर्माना हमें ज्यादा लगा, अफसर इसे लागू करना चाह रहे थे, लेकिन दूरगामी परिणाम हमें दिखा. यदि हम इसे लागू कर देते तो प्रदेश की जनता पर बोझ पड़ता. इसलिए मैंने इसे रोका. पिछले 5 महीने से लागू नहीं किया, अब जुर्माना राशि कम कर दी हैं, अब सीएम से चर्चा करने के बाद जल्द लागू कर देंगे. 

राज्य स्तरीय समारोह का उद्घाटन:
खाचरियावास ने आज 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के राज्य स्तरीय समारोह का उद्घाटन किया. इस मौके पर अध्यक्षता परिवहन राज्यमंत्री अशाेक चांदना ने की. कार्यक्रम में विधायक गंगा देवी, अमीन कागजी, रफीक खान, कांग्रेस प्रत्याशी रहे सीताराम अग्रवाल, अर्चना शर्मा मौजूद रहे. परिवहन मंत्री ने कहा कि मेरी सभी लोगों से अपील है कि वे जब यहां से जाएं, तो एक संकल्प लेकर जाएं कि सड़क दुर्घटनाओं में प्रदेश में एक भी मौत न हो. कानून का खौफ अपराधियों में हो, आमजन में नहीं. इंस्पेक्टर राज प्रदेश में नहीं होना चाहिए, नियमों का पालन करवाएं, लेकिन मानवीय संवेदना भी रखें. तभी लोगों को लगेगा कि पुलिस वाला, परिवहन विभाग वाला मेरे परिवार का हिस्सा है. मंत्री ने कहा कि जयपुर में सार्वजनिक परिवहन को सुधारा जाएगा, जल्द ही इलेक्ट्रिक बसें जयपुर में दौड़ती नजर आएंगी. 

सड़क सुरक्षा नियमों की जानकारी पाठ्यक्रम में जोड़ने की जरूरत:
समारोह के दौरान अध्यक्षता कर रहे परिवहन राज्यमंत्री अशोक चांदना ने कहा कि सड़क दुर्घटनाएं इतनी बढ़ चुकी हैं कि अब जरूरत इस बात की है कि सड़क सुरक्षा नियमों की जानकारी स्कूली पाठ्यक्रम में जोड़ी जाए. इस पर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि परिवहन विभाग के सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ द्वारा प्रकाशित पुस्तक सड़क सरिता को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा. इसके मार्क्स भी दिए जांएगे, इसे पास करना भी अनिवार्य होगा. परिवहन मंत्री ने विभाग के अफसरों को लेकर कहा कि जनता के प्रति जवाबदेही हमारी है, इसलिए निर्णय लागू करना हम तय करेंगे, अफसर नहीं. वाहन फिटनेस का कार्य निजी हाथों में दिए जाने पर खाचरियावास ने कहा कि परिवहन कार्यालयों में समानांतर रूप से इसे शुरू करने पर विचार कर रहे हैं. कार्यक्रम में साधु वासवानी स्कूल और जयपुरिया स्कूल के बच्चों ने प्रस्तुतियां दी, जिन्हें पुरस्कार स्वरूप हैलमेट भेंट किए गए. 

दुर्घटनाओं में मौतों को कम करना बड़ी चुनौती:
कार्यक्रम में परिवहन प्रमुख सचिव राजेश यादव ने कहा कि आज दुर्घटनाओं में मौतों को कम करना बड़ी चुनौती है. देश में 1.5 लाख और प्रदेश में 10 हजार लोगों की मौत होती है. हमारे राज्य का दुर्घटनाओं में मौतों में देश में छठा स्थान है. कार्यक्रम में जागरूक नागरिक राजेश जैन ने अपने बेटे की मौत के बाद अंग दान करने की बात बताई. चित्रा सिंह ने दिल्ली रोड पर हादसे में अपने बेटे की मौत के बाद सरकार से सार्वजनिक परिवहन के साधनों को विकसित करने को कहा. कार्यक्रम में एडीजी ट्रैफिक स्मिता श्रीवास्तव, एसी ट्रैफिक चूनाराम जाट, अपर परिवहन आयुक्त महेन्द्र खींची सहित विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे. कार्यक्रम में एनजीओ और मोटर ड्राइविंग स्कूलों के पदाधिकारी भी माैजूद रहे. 

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

जयपुर:त्यौहारों और शादी ब्याह का दौर आते-आते सोने और चांदी के भावों में भी उतार-चढ़ाव बढ़ने लग जाते है. प्रदेश में सोने के भावों में आज स्थिरता है. प्योर-गोल्ड(24K) पर एक ग्राम आज 5,162 रुपये और स्टैंडर्ड गोल्ड (22K) पर 4,916 रुपये है जिसमें किसी तरहा का कोई भी बदलाव नहीं आया है. 

बात करे राजधानी जयपुर की तो यहां सोने के भावों में 22 कैरेट के 100 ग्राम पर 4000 रुपये की  गिरावट आई है और 24 कैरेट के 100 ग्राम पर 4400 की कमी दर्जक की गई है. प्योर गोल्ड  की पिछले महीने अधिकतम कीमत 5,311 रुपये और न्यूनतम 5,072 रुपये रही थी. 

आपको बता दे कि एक किलो चांदी पर आज 10 की बढ़त देखी गई है जो की कल के रेट 62,410 रुपये से बढ़कर 62,420 हो गई है. गत माह चांदी के भाव में न्यूनतम कीमत 68,700 और अधिकतम रेट 57,000 रुपये दर्ज की गई थी. जिसमें 11.21 प्रतिशत की गिरावट आई है. 

{related}

राजस्थान सरकार और संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच MOU पर हस्ताक्षर, मिलेगी मजबूती

राजस्थान सरकार और संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच MOU पर हस्ताक्षर, मिलेगी मजबूती

जयपुर: मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में राजस्थान सरकार तथा संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम के बीच हुए एमओयू पर हस्ताक्षर हुए. ‘सतत् विकास के लक्ष्य-द्वितीय’ को प्राप्त करने की दिशा में हुए इस एमओयू में खाद्य विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन तथा विश्व खाद्य कार्यक्रम के भारत में निदेशक बिशो पराजुली ने हस्ताक्षर किए.

खाद्य सुरक्षा के कार्यक्रमों को मजबूती मिलेगी: 
विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ हुई इस साझेदारी से खाद्य सुरक्षा के कार्यक्रमों को मजबूती मिलेगी. सार्वजनिक वितरण प्रणाली, मध्याह्व भोजन योजना और एकीत बाल विकास सेवा के कार्यक्रमों को इस एमओयू के माध्यम से और बेहतर ढंग से लागू किया जा सकेगा. एमओयू कार्यक्रम में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई, अतिरिक्त मुख्य सचिव जनजाति क्षेत्र विकास राजेश्वर सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त  निरंजन आर्य सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. विश्व खाद्य कार्यक्रम के अन्य प्रतिनिधि भी वीसी के माध्यम से कार्यक्रम से जुडे़. 

{related}

विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ करीब 50 साल से सफल भागीदारी रही: 
इस मौके पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि भारत की विश्व खाद्य कार्यक्रम के साथ करीब 50 साल से सफल भागीदारी रही है. विकासशील देशों में कुपोषण दूर करने तथा दुनिया की बड़ी आबादी को खाद्य सुरक्षा उपलब्ध कराने में विश्व खाद्य कार्यक्रम की बड़ी भूमिका रही है. राजस्थान कुपोषण दूर कर सतत् विकास के लक्ष्यहासिल करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है. हमारी खाद्य सुरक्षा योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन तथा सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की सराहना पूरे देश में होती है. मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपीए सरकार के समय देश के हर परिवार की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ‘फूड सिक्योरिटी एक्ट‘ लाकर लोगों को खाद्य सुरक्षा का अधिकार दिया गया. राज्य सरकार जनजाति क्षेत्रों सहित अन्य पिछडे़ इलाकों में बच्चों के पोषण के लिए प्रभावी कदम उठा रही है. 

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

22 कैरेट सोने पर 4000 और 24 कैरेट सोने पर 4800 की गिरावट

जयपुर: त्योैहारी और शादी-ब्याह का दौर आते-आते सोने और चांदी के भाव में आए दिन उतार-चढ़ाव आते ही रहते है. आज राजस्थान में 22 कैरेट यानि स्टैंडर्ड सोने के एक ग्राम सोने का भाव 4,916 रुपये और प्योर यानि 24 कैरेट के एक ग्राम का भाव 5,162 है, जिसमें किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं आया है.

वहीं बात करें राजधानी जयपुर की तो यहां  आज एक किलो चांदी पर 10 रुपये का उछाल आया है. वहीं बात करें सोने के भाव की तो 22 कैरेट सोने की 100 ग्राम पर 4000 रुपये टूटे है और 24 कैरेट सोने की सोने के 100 ग्राम पर 4800 रुपये की कमी आई है. जिसमें नाममात्र का बदलाव आया है. 

आपको बता दे कि पिछले महीने एक किलो चांदी का भाव 68,700 था वहीं माह के आखिर में यह 61000 था. सितंबर माह में अधिकतम कीमत 69,500 थी तो न्यूनतम कीमत 57,000 रही थी. अगर सितंबर माह की बात करें तो भाव में 11.21 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

सोने के भावों की बात की जाए तो गत माह सर्वाधिक कीमत 22 कैरेट सोने में 2.38 प्रतिशत की गिरावट आई थी और 24 कैरेट सोने पर 2.42 प्रतिशत की गिरावट आई थी. इस माह में 22 कैरेट में अधिकतम 50,450 रुपये और न्यूनतम 48,350 रही थी वहीं 24 कैरेट की न्यूनतम कीमत 52,740 रुपये और अधिकतम कीमत 55,030 रुपये रही थी. 

{related}

 

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का होगा विस्तार, सभी धर्मों के प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएंगे

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का होगा विस्तार, सभी धर्मों के प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएंगे

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का विस्तार करने के निर्देश दिए है. यह योजना 2013 में गहलोत सरकार ने ही शुरू की थी और उस समय एक ही साल में 41 हजार से अधिक वरिष्ठ नागरिकों के तीर्थयात्रा के सपने को पूरा किया गया था.

सभी धर्मों के अन्य प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएं:  
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीसी के माध्यम से देवस्थान विभाग की समीक्षा बैठक करते हुए कहा कि कोविड के बाद की परिस्थितियों के अनुरूप देवस्थान विभाग अधिक से अधिक वरिष्ठजनों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से इस योजना का विस्तार करे. इसमें सभी धर्मों के अन्य प्रमुख तीर्थस्थल जोड़े जाएं तथा इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए कि यात्रा के दौरान वरिष्ठ नागरिकों को कोई तकलीफ न हो एवं उन्हें सभी आवश्यक सुविधाएं मिलें. 

{related}

देवस्थान विभाग जीर्णोद्धार का काम निर्धारित समयावधि में पूरा करे:
गहलोत ने कैलाश मानसरोवर-सिंधु दर्शन योजना सहित विभाग की अन्य योजनाओं को पुनर्गठित करने के भी निर्देश दिए. साथ ही कहा कि प्रदेश के जिन भी मंदिरों के जीर्णोद्धार तथा विकास के काम चल रहे हैं, उन्हें देवस्थान विभाग निर्धारित समयावधि में पूरा करे. गहलोत ने विभिन्न न्यायालयों में लम्बित विभाग से सम्बन्धित प्रकरणों को जल्द निस्तारित करवाने के निर्देश दिए है. 

धर्मशालाओं में बीपीएल कार्डधारकों के लिए निशुल्क ठहरने की सुविधा:
बैठक में देवस्थान विभाग के प्रमुख सचिव आलोक गुप्ता ने बताया कि विभाग की राज्य के बाहर बनी धर्मशालाओं में बीपीएल कार्डधारकों के लिए निशुल्क ठहरने की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है. प्रदेश के करीब 80 मंदिरों में 86 करोड़ रूपए के विकास एवं जीर्णोद्धार कार्य प्रगति पर हैं, जिन्हें दिसम्बर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा. बैठक में  देवस्थान राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे.

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में कुल 60.42 फीसदी मतदान, कोटा उत्तर में हुई सर्वाधिक वोटिंग

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव छुटपुट घटनाओं को छोड़कर शांतिपूर्ण संपन्न हुए. प्रदेश की 3 नगर निगमों में कुल 60.42% मतदान हुआ है. इसमें सबसे ज्यादा मतदान कोटा उत्तर नगर निगम में  65.12 प्रतिशत हुआ. इसके बाद जोधपुर उत्तर में 62.64% वोटिंग और जयपुर हेरिटेज में 57.82%  मतदान हुआ. अब दूसरे चरण में जयपुर ग्रेटर, जोधपुर दक्षिण और कोटा दक्षिण में 1 नवंबर को मतदान होगा.जबकि मतगणना 3 नवंबर को होगी.

{related}

16 लाख 54 हजार 592 थे कुल मतदाताः 
16 लाख 54 हजार 592 मतदाताओं में से 9 लाख 99 हजार 691 मतदाताओं ने की अपने मताधिकार का उपयोग किया.बता दें कि पहले चरण में 250 वार्डों के 2761 मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसमें जयपुर हैरिटेज के 100 वार्डों के 9 लाख 32 हजार 908 मतदाताओं में 4 लाख 91 हजार 633 पुरुष, 4 लाख 41 हजार 260 महिला व 15 अन्य, जोधपुर उत्तर के 80 वार्डों के 3 लाख 88 हजार 847 मतदाताओं में से 1 लाख 99 हजार 505 पुरुष, 1 लाख 89 हजार 339 महिला व 3 अन्य और कोटा उत्तर के 70 वार्डों के 3 लाख 32 हजार 792 मतदाताओं में से 1 लाख 70 हजार 959 पुरुष, 1 लाख 61 हजार 831 महिला व 2 अन्य मतदाता शामिल हैं.

कोरोना संक्रमितों ने की गई मतदान की व्यवस्थाः
उधर कोटा उत्तर नगर निगम के लिए गुरुवार को हुए प्रथम चरण के मतदान के आखिरी चरण में कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने अपने मत का प्रयोग किया. जानकारी के अनुसार कोटा उत्तर नगर निगम में 5 कोरोना संक्रमितों के लिए सकतपुरा, भदाना, डीसीएम डिस्पेन्सरियों पर मतदान की व्यवस्था की गई थी. कुन्हाड़ी के संत तुकाराम सामुदायिक भवन बूथ पर कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर मतदान किया. 

Gujjar Reservation:आरक्षण के मसले पर बैठक में तीन मांगें मानने की घोषणा

जयपुर: गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर गुरुवार को मंत्री अशोक चांदना के सरकारी आवास पर हुई बैठक में गुर्जर समाज की तीन मांगें मानने की घोषणा की गई. इस बैठक में मंत्री अशोक चांदना के अलावा मंत्री रघु शर्मा, प्रमुख सचिव गृह अभय कुमार और गायत्री राठौड़ मौजूद थे.

तीन मांगों को मानने की घोषणा कीः
जानकारी के अनुसार सरकारी आवास पर हुई बैठक के बाद  मंत्री अशोक चांदना और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने पत्रकार वार्ता में बताया कि गुर्जर नेताओं की तीन मांगों को माना गया है, जिनमें 1252 लोगों को नियमित पे स्केल देने, आंदोलन के दौरान जिन 3 गुर्जर समाज के लोगों को गोली लगी थी उनके परिजनों को 5-5 लाख रुपए देने और गुर्जर समाज को 9वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए केन्द्र को फिर पत्र लिखना आदि शामिल हैं. हालाकि अभी तक  गुर्जर समाज के नेताओं की तरफ से मामले को लेकर कोई प्रतिक्रया नहीं आई है.

{related}

रघु शर्मा ने कहा-सरकार और कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगाः
उधर गुर्जर आरक्षण मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि बैंसला के मांग पत्र के हर बिंदु पर ध्यान में रखा गया है और सरकार कानूनी स्तर पर जो भी संभव होगा उन मांगों को पूरा किया जाएगा. मंत्री रघु शर्मा ने बैंसला से अपील की है कि सरकार ने उनकी लगभग सभी मांगें पूरी कर दी है और अब आंदोलन करने का कोई कारण नजर नहीं आ रहा है. मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार के समय गुर्जरों पर गोलियां चलाई गई थी, लेकिन मौजूदा गहलोत सरकार ने उन पर लाठीचार्ज तक नहीं किया.उन्होंने कहा कि गुर्जर समाज की मांगों को लेकर हमारी सरकार तुरन्त कार्यवाही कर रही है, लेकिन केंद्र सरकार बीजेपी की है और प्रदेश में सभी सांसद भी उनके है. ऐसे में बीजेपी के सांसद भी केंद्र पर दबाव बनाए, जिससे 9वीं सूची में उनको भी शामिल किया जा सके.

PPE किट पहनकर मतदान करने पहुंची शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक

PPE किट पहनकर मतदान करने पहुंची शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुए. मतदान के दौरान शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक का अनोखा अंदाज देखने को मिला. कविता मलिक मतदान करने के लिए पीपीई किट पहनकर मतदान केन्द्र पहुंची. जिन्हे देखकर वहां मौजूद अन्य लोग चौंक गए.

{related}

कोरोना संक्रमण को देखते हुए पीपीई किट पहनकर कविता मलिक ने किया मतदानः
जानकारी के अनुसार शहर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष कविता मलिक PPE किट पहनकर मतदान केन्द्र पहुंची और मतदान किया. कविता मलिक ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए वह पीपीई किट पहनकर मतदान करने आई है.

कोटा में 5 कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर किया मतदान 
उधर कोटा उत्तर नगर निगम के लिए गुरुवार को हुए प्रथम चरण के मतदान के आखिरी चरण में कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने अपने मत का प्रयोग किया. जानकारी के अनुसार कोटा उत्तर नगर निगम में 5 कोरोना संक्रमितों के लिए सकतपुरा, भदाना, डीसीएम डिस्पेन्सरियों पर मतदान की व्यवस्था की गई थी. कुन्हाड़ी के संत तुकाराम सामुदायिक भवन बूथ पर कोरोना संक्रमितों ने पीपीई किट पहनकर मतदान किया. 

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा- छह निगमों में बनाएंगे कांग्रेस का बोर्ड

जयपुरः राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों के चुनावों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बयान जारी कर कहा है कि कांग्रेस छह निगमों में अपना बोर्ड बानाएगी. उल्लेखनीय है कि जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों पर गुरुवार को प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान जारी है.

{related}

कोरोना महामारी के बीच भी मतदाताओं ने सावधानी और उत्साह से किया मतदानः
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री गहलोत ने गुरुवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि छह निगमों में कांग्रेस अपना बोर्ड बनाएंगी. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच भी मतदाताओं ने सावधानी और उत्साह से और कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान किया. उन्होंने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि न केवल इन तीनों में नहीं बल्कि एक नवम्बर को होने वाले मतदान में भी कांग्रेस विजयी होगी.

जब-जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकारें बनीं तब-तब इन शहरों में बही विकास की गंगाः
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पिछले 22 वर्षों में राज्य में जब-जब कांग्रेस की सरकारें बनीं है तब-तब हमने इन शहरों में विकास की गंगा बहाते यहां की तस्वीर बदलने का काम किया है. उन्होंने कहा कि ये विकास और तेज गति तथा जनप्रतिनिधियों की अधिक जवाबदेही के साथ हो सके इस मकसद से राज्य सरकार ने इन शहरों में 3 के स्थान पर 6 नगर निगम बनाए हैं, जिससे अधिक योजनाबद्ध तरीके से विकास संभव हो सके. सीएम गहलोत ने भरोसा जताया कि मतदाता विकास के लिए राज्य सरकार के साथ कड़ी से कड़ी जोड़ने के लिए कांग्रेस को विजयी बनाएंगे.