ब्रह्ममुहूर्त में पूजा-अर्चना व ध्वजारोहण के साथ बाबा रामदेव मेले का हुआ आगाज

ब्रह्ममुहूर्त में पूजा-अर्चना व ध्वजारोहण के साथ बाबा रामदेव मेले का हुआ आगाज

रामदेवरा. सामाजिक समरसता के प्रतीक लोकदेवता बाबा रामदेव का 635वां अंतरप्रांतीय भादवा मेला धार्मिक मान्यताओं के अनुसार विधिवत रूप से रविवार को सुबह ब्रह्ममुहूर्त में समाधि पर पंचामृत से अभिषेक, पूजा-अर्चना व ध्वजारोहण के साथ शुरू हुआ. इस दौरान लाखों श्रद्धालुओं ने बाबा रामदेव समाधि के दर्शन किए.

15 दिन तक लगातार चलेगा मेला:
दरअसल देर रात्रि को ही लोग मंदिर के आगे कतारों में आकर खड़े हो गये. देश के कौने-कौने से लाखों श्रद्धालुओं का अनूठा समागम रविवार को बाबा रामदेव समाधि स्थल पर देखने को मिला. वहीं बाबा रामदेव समाधि दर्शन को लेकर करीब 2 किमी लंबी कतार में श्रद्धालु खड़े रहे. बाबा रामदेव के 635वां मेला करीब 15 दिन तक लगातार रामदेवरा में चलेगा. 

प्रशासनिक रूप से 15 अगस्त से ही शुरू:
रविवार सुबह जिला कलक्टर नमित मेहता, पुलिस अधीक्षक डॉ.किरण कंग व बाबा रामदेव वंशज राव भोमसिंह तंवर की ओर से समाधि पर पूर्ण विधि विधान के साथ पूजा-अर्चना की गई. गौरतलब है कि रामदेवरा में आ रहे श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए प्रशासनिक रूप से बाबा रामदेव का भादवा मेला गत 15 अगस्त से ही शुरू कर दिया गया था, तथा सभी प्रशासनिक व्यवस्थाएं शुरू कर दी गई थी।

प्रथम मंगला आरती में कई दिग्गज रहे मौजूद:
मेलाधिकारी विकास राजपुरोहित ने बताया कि विधिवत रूप से भा'दवा सुदी दूज को सुबह चार बजे होने वाली प्रथम मंगला आरती में जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी पूजा-अर्चना कर मेले की सफलता व श्रद्धालुओं की सलामति, मेले के दौरान कानून एवं शांति व्यवस्था सुचारु रूप से बनी रहे, किसी भी तरह की अप्रिय वारदात न हो, इसके लिए बाबा से प्रार्थना की. इस मौके पर समाधि पर पंचामृत से अभिषेक किया गया व मखमली चादर एवं स्वर्ण मुकुट चढ़ाकर मंदिर के शिखर पर ध्वजारोहण किया गया. मंदिर के पुजारी विशेष पूजा-अर्चना कर समाधि पर सूखा मेवा, बादाम, काजू, अखरोट, किशमिश, मिश्री, सूखे नारियल का भोग लगाया. 

अमन चैन की कामना:
गौरतलब है कि बाबा रामदेव के भादवा मेले में गत एक पखवाड़े से दर्शनार्थियों की भीड़ उमड़ रही है तथा मेला प्रशासन की ओर से मेलार्थियों की सुविधा एवं सुरक्षा को देखते हुए व्यवस्थाएं भी की गई है. यहां पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता लगाया गया है. श्रद्धालुओं के आवागमन के लिए अतिरिक्त बसों व विशेष रेलों की भी व्यवस्था की गई है. बाबा रामदेव समाधि स्थल पर देशभर के लाखों श्रद्धालुओं ने रविवार को समाधि दर्शन कर अमन चैन की कामना की गई. 

... रामदेवरा से राजेन्द्र सोनी की रिपोर्ट 
 

और पढ़ें