Live News »

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

जयपुर: कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए आप जितना हेल्दी खाना खाएंगे उतनी आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होगी. इम्यूनिटी हमारे खानपान पर ही निर्भर करती है. काढ़े के अलावा ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं जिनके नियमित सेवन से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. ऐसे में हम आज आपको ऐसे फूड्स के बारे में बता रहे हैं जिनको डाइट में शामिल कर इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है... 

राम जन्मभूमि के पुजारी प्रदीप दास कोरोना पॉजिटिव, सुरक्षा में तैनात 16 पुलिसकर्मी भी संक्रमित 

आंवला: आंवाला में भरपू मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है. यह न सिर्फ इम्यूनिटी को बढ़ावा दे सकता है बल्कि कई स्वास्थ्य समस्याओं से निजात दिलाने में भी काफी लाभकारी माना जाता है.

दही: दही एक ऐसा खाद्य आहार है, जो लगभग सभी लोगों के लिए फायदेमंद है. दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है. इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है. 

अलसी: शाकाहार करने वालों के लिए ओमेगा3 और फैटी एसिड सबसे अच्छा स्त्रोत है.

अंजीर: यह शरीर के पीएच के स्तर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है. इसमें मौजूद फाइबर ब्लड में शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है. 

कीवी: कीवी में विटामिन ई और एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती है इससे रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाई जा सकती है.

ओट्स: ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं. साथ ही इसमें एंटी-माइक्राबियल गुण भी होता है. हर रोज ओट्स का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. 

कच्चा लहसुन: कच्चा लहसुन खाना भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने में सहायक होता है. इसमें पर्याप्त मात्रा में एलिसिन, जिंक, सल्फर, सेलेनियम और विटामिन ए व ई पाए जाते हैं. 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण, 29 जड़ी बूटियों से तैयार हैं काढ़ा

इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण, 29 जड़ी बूटियों से तैयार हैं काढ़ा

बूंदी: बूंदी जिला आयुर्वेद अस्पताल द्वारा लगातार 150 दिनों से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देशानुसार तैयार आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण किया जा रहा है. लगभग 29 जड़ी बूटी से तैयार इस काढ़े को अब कोविड-19 संक्रमित रोगियों पर भी इस्तेमाल किया जा रहा है. जिला कलक्टर से अनुमति के बाद जिला आयुर्वेद अस्पताल की ओर से इस कार्य के लिए टीम गठित की गई है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में काफी मददगार:
शनिवार से कोविड-19 केयर सेंटर में भर्ती रोगियों को आयुर्वेदिक काढा पिलाया गया. आयुर्वेदिक चिकित्सकों की माने तो यह काढा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में काफी मददगार है. अब संक्रमित मरीजों पर काढे के सार्थक परिणाम का इंतजार आयुर्वेद विभाग को भी होगा. जिला कलक्टर आशीष गुप्ता ने बताया कि किसान भवन स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों के लिए आयुर्वेद विभाग द्वारा काढ़ा तैयार कर पिलाया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश में सप्ताह में दो दिन रहेगा लॉकडाउन, बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों की वजह से लिया निर्णय  

29 जड़ी बूटियों से तैयार किया गया काढ़ा: 
जिससे की उनकी इम्युनिटी पावर मजबूत हो सके. वहीं कोरोना संक्रमण और अन्य बीमारियों से मरीजों का जीवन बचाया जा सके. जिला आयुर्वेदिक अस्पताल के प्रभारी डाॅ. सुनील कुशवाहा ने बताया कि वर्तमान में सेंटर में 28 मरीज भर्ती है, जिन्हें आज से काढ़ा पिलाना शुरू किया गया है. वहीं होम आइसोलेट एसिंप्टोमेटिक कोरोना संक्रमित को भी चिन्हित कर काढ़ा पिलाया जा रहा है. घर-घर जाकर टीम द्वारा इम्यूनिटी पावर बूस्टर के रूप में काम करने वाले 29 जड़ी बूटियों से तैयार इस काढ़े का वितरण किया जाएगा. पिछले 150 दिनों से आयुर्वेदिक काढा वितरण किया जा रहा है. अब तक 60 हजार से अधिक को यह काढा पिलाया जा चुका है.

एक दूजे के होंगे राणा दग्गुबाती और मिहिका बजाज, आज शादी के बंधन में बंध जाएंगे दोनों 

इन बीमारियों का जड़ से सफाया करती है लौंग, जानिए बेजोड़ गुण

इन बीमारियों का जड़ से सफाया करती है लौंग, जानिए बेजोड़ गुण

जयपुर: भारतीय खाने में लोग की एक खास जगह है. सदियों से मसाले के रूप में इस्‍तेमाल होने वाला लौंग औषधीय गुणों का खजाना है. इसका उपयोग  तेल व एंटीसेप्टिक रुप में किया जाता है. लौंग में आपके स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के कई गुण होते हैं. ऐसे में आज हम आपको इससे होने वाले कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं.

- सुबह खाली पेट 1 ग्लास पानी में कुछ बूंदें लौंग के तेल की डालकर पीने से पाचन, गैस, कांस्टीपेशन की समस्या से पीड़ित लोगों काफी आराम मिलता है. 

- मुंह से बदबू आने पर लौंगे बहुत ही फायदेमंद होती है. कुछ दिनों तक रोज सुबह मुंह में साबुत लौंग का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.  

- दांतों में होने वाले दर्द में लौंग के इस्तेमाल से निजात मिलती है. इसी के चलते टूथपेस्ट में होने वाले पदार्थो की लिस्ट में लौंग खासतौर पर शामिल होती है. 

- लौंग के उपयोग से उलटी आने की समस्या, जी घबराना और मॉर्निंग सिकनेस में आराम मिलता है.

- सामान्य तौर पर होने वाली सर्दी को लौंग से दुरुस्त किया जा सकता है. 

- लौंग के तेल को किसी जहरीले कीड़े के काटने पर, कट लग जाने पर, घाव पर और फंगल इंफेशन पर भी इस्तेमाल किया जाता है. 

- चहरे के दाग-धब्बों या फिर सांवली त्वचा को निखारने के लिए भी लौंग फायदेमंद है. 


 

अगर इन फलों का करेंगे सेवन, तो कभी कम नहीं होगी शरीर में इम्यूनिटी

अगर इन फलों का करेंगे सेवन, तो कभी कम नहीं होगी शरीर में इम्यूनिटी

जयपुर: फल हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते है. अगर आप ऐसे फलों का सेवन करेंगे, जिनमें विटामिन सी पाया जाता है. तो आपके शरीर में कभी इम्यूनिटी पावर कम नहीं होगा. आप भी इम्यूनिटी बढ़ाना चाहते है. तो आप ऐसे फलों का सेवन कर सकते है. विटामिन सी ऐसा पोषक तत्व है जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. कोरोना महामारी से बचने के लिए भी आपको अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाना होगा. चलिए जानते है ऐसे फलों के बारे में जिनमें विटामिन सी पाया जाता है. 

कीजिए अमरूद का सेवन:
अमरूद स्वाद के साथ साथ आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है. क्योंकि इसमें विटामिन सी पाया जाता है जो आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है. इसमें कैलोरी  काफी कम मात्रा में होती है जिससे ये वजन कम करने में भी मददगार है.

हरियाली अमावस्या पर दर्शन को उमड़ा आस्था का जनसैलाब, नहीं दिखा कोरोना का भय

पपीता शरीर के लिए अच्छा:
पपीता हर सीजन में मिलने वाला फल है, पपीता का सेवन करके आप अपनी सेहत को ठीक रख सकते है. क्योंकि यह आपके पाचन तंत्र को ठीक रखता है. अगर पाचन तंत्र ठीक रहेगा तो आपके शरीर के आसपास कोई रोग नहीं भटकेगा. पपीते में विटामिन सी भी काफी मात्रा में पाया जाता है जिससे हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

अनानास बढ़ाएगा इम्यूनिटी:
आप अनानास का सेवन करके इम्यूनिटी बढ़ा सकते है. अनानास आपकी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है. इसमें कई जरूरी खनिज और विटामिन पाए जाते हैं. अनानास में मैंगनीज भी पाया जाता है जो फलों में काफी कम होता है. 

आम बेहद गुणकारी:
अगर आप गर्मियों में आम का सेवन करेंगे तो इससे आपके शरीर को विटामिन सी मिलेगा. जिसका सेवन करके आप इम्यूनिटी बढ़ा सकते है. साथ ही आप सेहत के लिए गुणकारी साबित होता है. इसमें कई तरह के पौषक तत्व पाये जाते है. 

प्रयागराज में बारिश से गर्मी से मिली निजात, यूपी के इन जिलों में झमाझम बारिश की संभावना  

इम्यूनिटी मजबूत करने के साथ अनेक बीमारियां दूर करने में सहायक हैं ये जड़ी-बूटियां

इम्यूनिटी मजबूत करने के साथ अनेक बीमारियां दूर करने में सहायक हैं ये जड़ी-बूटियां

जयपुर: कोरोना महामारी से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सलाह दी जाती है. ऐसे में हमे कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल करने की आवश्यकता है जिससे कि हमारी इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग होने के साथ हम छोटी-मोटी सीजनल बीमारियों से भी जल्दी रिकवर हो सकें. ऐसे में हम आपको स्वास्थ्य के लिए लाभदायक कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बता रहे हैं जिसमे से अधिकतर हो हमारी रसोई में ही मिल जाती हैं. 

Rajasthan Political Crisis: ऑडियो में मेरी आवाज नहीं,किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार- गजेंद्र सिंह शेखावत 

अदरक: यह पाचन क्रिया में भी सहायक है. जी मिचलाने, उल्टी, मोशन सिकनेस आदि समस्याओं के समाधान में यह सहायक होती है. 
आंवला: ये शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बनाए रखते हैं.

तुलसी: इसका उपयोग करने से सर्दी-जुकाम, बुखार, सूखा रोग, निमोनिया, कब्ज, अतिसार जैसी समस्याओं में फायदा मिलता है. 

लौंग: शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ यह एक अच्छी एंटीऑक्सीडेंट और बैक्टीरिया को खत्म करने वाली है.

लहसुन: इसके सेवन से विटामिन ए, बी, सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व पा सकते हैं.

दालचीनी: जिन खाद्य पदार्थों में दालचीनी का प्रयोग होता है, उनमें 99.9 प्रतिशत तक कीटाणु होने की आशंका खत्म हो जाती है. 

अश्वगंधा: अश्वगंधा का इस्तेमाल त्वचा के साथ-साथ कई तरह की बीमारियों में भी लाभकारी है. 

VIDEO: माकपा विधायक बलवान पूनिया की प्रेसवार्ता, कहा- चुनी हुई सरकार गिराने का पाप कर रही भाजपा 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

जयपुर: मानसून का मौसम आ गया है. इस मौसम में अधिकांश बीमारियां अनजाने में खाने-पीने की लापरवाही की वजह से ही होती हैं. लेकिन अगर आप कुछ चीजों को अपने खान-पान में शामिल कर अपनी रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ा लें तो न सिर्फ इस मौसम की बीमारियों, बल्कि कोरोना वायरस संक्रण से भी बचा जा सकता है. ऐसे में इस बार कोरोना को ध्यान में रखते हुए आपको इस मौसम में अपने खान-पान पर पहले से भी ज्यादा ध्यान देना होगा. 

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती 

अदरक: रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए यह शानदार चीज है. अदरक विटामिन A, C, E और B-complex का एक अच्छा माध्यम है. साथ ही इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, जिंक, कैल्शियम और बीटा-कैरोटीन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. 

शहद का सेवन: सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

मौसमी फल: इन दिनों मौसमी फलों का सेवन जरूर करें. ये सभी फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं. 

काली मिर्च: खांसी, जुकाम में इसका सेवन बहुत लाभकारी होता है.

हल्दी: हल्दी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है. सर्दी, जुकाम या कफ की शिकायत हो तो हल्दी वाला दूध पीना लाभकारी होता है. 

लहसुन: लहसुन बड़े स्तर पर एक एंटीबायोटिक का काम करता है. यह बैक्टीरिया-रोधी, फफूंद-रोधी, परजीवी-रोधी व वायरस-रोधी है. यह बैक्टीरिया को खत्म करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. 

सूखा अनाज खाएं: मॉनसून के मौसम में सूखा और साबुत अनाज अपने भोजन में शामिल करें. इन दिनों इनके सेवन से रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है.  

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा  

सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय, तुरंत मिलेगा फायदा

सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय, तुरंत मिलेगा फायदा

जयपुर: थकान और चिंता के कारण सिरदर्द होना एक आम बीमारी है. सिरदर्द होने पर किसी काम में मन नहीं लगता. ऐसे में अगर घर में ही इसका इलाज मिल जाए तो कहना ही क्या? तो आइए आज हम आपको सिरदर्द के कई बेहद आसान और घरेलू इलाज बता रहे हैं....

Rajasthan Corona Updates: आज 199 नए संक्रमित आए सामने, कुल पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 15431 

- कई बार पेट में गैस बढ़ने के कारण सिर दर्द होता है. ऐसे में एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलकर पीने से तुरंत आराम मिलता है. 

- सामान्य खोपरे के तेल से लेकर सरसो के तेल से मालिश या मसाज करने से सिर की मांसपेशियों को आसाम मिलता है. 

- नींद पूरी नहीं होने से सिरदर्द होना बहुत सामान्य है. इसलिए पर्याप्त नींद लेने की कोशिश करें.

- चंदन का पेस्ट सिरदर्द का बहुत पुराना इलाज है. चंदन की लड़की को घिसकर पेस्ट बना लें और माथे पर लगाएं. तत्काल आराम मिलेगा.

- तुलसी को सामान्य तरीके से चबाने से भी सिरदर्द रफूचक्कर हो जाता है.

- सेब में नमक लगाकर खाने से सिरदर्द तुरंत दूर होता है. 

सांप के काटने से महिला हुई अचेत, पति के मृत सांप को अस्पताल लेकर पहुंचने से मचा हड़कंप 

छठा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: पीएम मोदी का देश के नाम संबोधन, कहा-इस बार की थीम योग एट होम, योग एट फैमिली

 छठा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: पीएम मोदी का देश के नाम संबोधन, कहा-इस बार की थीम योग एट होम, योग एट फैमिली

नई दिल्ली: आज पूरी दुनियाभर में छठा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. इस बार कोरोना की वजह से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस बिना लोगों के बड़े जमावड़े के डिजिटल मीडिया मंचों पर मनाया जा रहा है.देश के अलग-अलग हिस्सों में योग का आयोजन हो रहा है. पहली बार डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए योग हो रहा है. योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के नाम संबोधन दिया. पीएम मोदी ने कहा कि इस बार की थीम योग एट होम, योग एट फैमिली है, जो दूरियों को खत्म करे वही योग है. जो हमें जोड़े, साथ लाए वही योग है. योग से पूरे घर में ऊर्जा का संचार होता है. 

21 जून को सूर्य ग्रहण के तहत अंबाजी मंदिर के दर्शन समय में बदलाव 

कोरोनाकाल में सेहत के लिए योग जरूर कीजिए:
पीएम मोदी ने कहा कि कोरोनाकाल में सेहत के लिए योग जरूर कीजिए. आप प्राणायाम से कोरोना से बच सकते हैं. प्राणायाम को रोज के अभ्यास में शामिल करें. कोरोना संकट में योग की ज्यादा जरूरत​ है. योग से हमें आत्मविश्वास और मनोबल मिलता है. कोरोना के मरीज भी योग का लाभ ले रहे हैं. हर परिस्थिति में अडिग रहने का नाम ही योग है. पीएम मोदी ने गीता के उपदेश उल्लेख करते हुए कहा कि भारत में कर्मयोग की भावना की प्रधानता है. पीएम मोदी ने सभी को दी योग दिवस की शुभकामनाएं दी.

Greetings on #YogaDay! Sharing my remarks on this special occasion. https://t.co/8eIrBklnLI

— Narendra Modi (@narendramodi) June 21, 2020

2015 में हुई अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत:
योग दिवस दुनियाभर में पहली बार 21 जून 2015 को मनाया गया और तबसे हर वर्ष उस दिन को योग दिवस के तौर पर मनाया जाता है, लेकिन यह पहला मौका होगा जब इसे डिजिटल तरीके से मनाया जा रहा है. इस साल की योग दिवस की थीम ‘घर पर योग और परिवार के साथ योग' है. आयुष मंत्रालय ने लेह में बड़ा कार्यक्रम करने की योजना बनाई थी लेकिन महामारी के कारण इसे रद्द कर दिया गया. 

वेब चैक इन के नाम पर कट रही जेब! एयरलाइंस सीट चुनने के नाम पर भर रही जेब, कॉर्नर और बीच वाली सीट के रेट अलग-अलग

21 जून को मनाया जाएगा योग दिवस, इस बार सोशल मीडिया के माध्यम से होगा योग

21 जून को मनाया जाएगा योग दिवस, इस बार सोशल मीडिया के माध्यम से होगा योग

डूंगरपुर: 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा, लेकिन कोरोना की वजह से योग दिवस पर कोई खास कार्यक्रम नहीं होगा. क्योंकि कोरोना की रोकथाम के लिए देशभर में लोगों के जुटने पर मनाही है. ऐसे में योग दिवस भी कोरोना की चपेट में आ गया है. इस वजह से इस बार विश्व योग दिवस पर किसी सामूहिक कार्यक्रम के बजाय सोशल मीडिया के जरिये घरों पर योग करवाया जाएगा. इसके लिए आयुर्वेद विभाग और पतंजलि योग समिति की ओर से तैयारी कर ली है. 

साल का पहला सूर्यग्रहण कल, नहीं देखें गर्भवती महिलाएं ग्रहण, जानिए कहां-कहां दिखेेगा ग्रहण 

योगा से बढ़ाए इम्यूनिटी पॉवर: 
डूंगरपुर जिले के आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी एवं सहायक नोडल अधिकारी (राष्ट्रीय आयुष मिशन) के डॉ अभयसिंह मालीवाड़ में बताया कि आज पूरे देश में कोरोना महामारी फैली हुई है, जिससे बचाव को लेकर सभी नियमों की पालना करना बहुत ही जरूरी है, लेकिन आयुर्वेद के साथ ही योगा से इम्यूनिटी पॉवर को बढ़ाकर संक्रमण से बचा जा सकता है. डॉ मालीवाड़ ने बताया कि इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर कोरोना संक्रमण की वजह से सामूहिक योगा नहीं होगा. लेकिन सोशल मीडिया के जरिये बड़े पैमाने पर घरों पर ही लोग योग का लाभ ले सकेंगे.

सोशल मीडिया के माध्यम से होगा योग:
डॉ. मालीवाड़ ने बताया कि इसके लिए पतंजलि योग समिति के राज्य संरक्षक महेंद्र कोठारी, जिला प्रभारी बाबूलाल आचार्य, कोषाध्यक्ष जयंतीलाल पंडया की ओर से योगा की अलग-अलग प्रकिया के वीडियो तैयार किये गए है. इन वीडियो को सोशल मीडिया के अलग-अलग ग्रुप में भेजा जाएगा. इसके अलावा जिला योग समिति के ग्रुप में भी इन वीडियो को शेयर किया जाएगा ताकि इन वीडियो को अधिक से अधिक लोग देखकर अपने घरों पर ही रहकर योग कर सके. इन वीडियो में योग, आसन की प्रक्रिया के बारे में  समझाते हुए इसके फायदे भी बताए गए है. इससे लोगों को घरों के बाहर निकलने की जरूरत भी नहीं रहेगी और संक्रमण का खतरा भी टल जाएगा.

खुली आंखों से नहीं देखना चाहिए सूर्यग्रहण, पहुंच सकता है आंखों को नुकसान 

Open Covid-19