नई दिल्ली बड़ी कार्रवाई: आयकर विभाग ने लुधियाना के 2 रियल एस्टेट डेवलपरों पर की छापे मारे, नकदी और आभूषण बरामद

बड़ी कार्रवाई: आयकर विभाग ने लुधियाना के 2 रियल एस्टेट डेवलपरों पर की छापे मारे, नकदी और आभूषण बरामद

बड़ी कार्रवाई: आयकर विभाग ने लुधियाना के 2 रियल एस्टेट डेवलपरों पर की छापे मारे, नकदी और आभूषण बरामद

नई दिल्ली: आयकर विभाग ने करीब दो हफ्ते पहले पंजाब के लुधियाना के दो रियल एस्टेट डिवेलपर्स पर छापेमारी के बाद चार करोड़ रुपये से ज्यादा के आभूषण और नकदी बरामद की है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने शनिवार को बताया कि छापेमारी 16 नवंबर को दो समूहों के 40 परिसरों में की गई थी. 

सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि समूह के खिलाफ कार्रवाई के बाद संपत्तियों के लेन-देन पर बेहिसाबी नकदी की रसीद को लेकर सामने आई. उसने कहा कि कुछ संपत्तियों के लिए 'बिक्री के समझौते' (स्थानीय भाषा में बयाना के रूप में जाना जाता है) की प्रकृति के दस्तावेजी साक्ष्य जब्त किए गए हैं. "इन दस्तावेजों से संकेत मिलता है कि भूखंडों के लिए 'बिक्री के समझौते' को भूखंड के पंजीकृत बिक्री विलेख में बताए गए प्रतिफल की तुलना में बहुत अधिक राशि या दर पर किया गया है. इसने दावा किया कि कागज, कुछ संपत्ति लेनदेन के लिए धन की प्राप्ति की गणना दिखाने वाली एक्सेल शीट, सॉफ्ट डेटा, संबंधित व्यक्तियों के मोबाइल फोन से चैट आदि के रूप में "अपराध साबित करने वाले" दस्तावेज बरामद किए गए. 

जांच से पता चलता है कि प्रमुख व्यक्तियों में से एक के आवासीय घर के निर्माण पर बेहिसाबी नकदी खर्च की गई है. इसने कहा कि एक समूह में, भूमि के विक्रेताओं को किए गए भुगतान आदि के संबंध में स्रोत पर कर कटौती के प्रावधानों के अनुपालन में चूक का पता चला है. बयान में कहा गया कि छापेमारी में करीब दो करोड़ रुपये की बेहिसाबी नकदी के अलावा करीब 2.30 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा और आभूषण बरामद हुए हैं जिनकी रसीदें नहीं मिली हैं. सोर्स-भाषा
 

और पढ़ें