नई दिल्ली BSNL की सेवाओं से आय 2021-22 में 17,000 करोड़ रुपये रह सकती है, 4जी से उम्मीद

BSNL की सेवाओं से आय 2021-22 में 17,000 करोड़ रुपये रह सकती है, 4जी से उम्मीद

BSNL की सेवाओं से आय 2021-22 में 17,000 करोड़ रुपये रह सकती है, 4जी से उम्मीद

नई दिल्ली: भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी के पुरवार ने कहा कि कंपनी को वित्त वर्ष 2021-22 में 17,000 करोड़ रुपये की सेवा आय अर्जित करने की उम्मीद है, जो पिछले वित्त वर्ष की तुलना में थोड़ा कम है.

उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से कॉल कनेक्ट शुल्क को हटाने के कारण आय में यह कमी होगी. पुरवार ने जोर देकर कहा कि सरकारी स्वामित्व वाली दूरसंचार कंपनी को अपना ग्राहक आधार बनाए रखने और आने वाले महीनों में शुरू होने वाली 4जी सेवाओं से अपनी पकड़ बनाए रखने का भरोसा है. उन्होंने कहा कि 5जी सेवाओं के लिए निजी दूरसंचार कंपनियों की प्रतिस्पर्धा तेज होने के बावजूद ऐसा होगा. उन्होंने कहा कि निजी परिचालकों द्वारा 5जी पेशकशों की शुरुआत से बीएसएनएल को तत्काल नुकसान नहीं होगा, क्योंकि नए जमाने की सेवाओं के लिए उपकरण अभी विकसित हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि बीएसएनएल द्वारा 4जी सेवाएं शुरू करने की तैयारी अच्छी तरह से चल रही है.

बीएसएनएल का 2022 में 4जी सेवाएं शुरू करने का लक्ष्य है. पुरवार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि हम चुनौतियों के बावजूद वित्त वर्ष 2021-22 में स्थिर आय (सेवाओं से, अन्य आय को छोड़कर) को बनाए रखने में सक्षम हैं. वित्त वर्ष 2020-21 में सेवाओं से 17,452 करोड़ रुपये की आय के मुकाबले, इस साल हम 17,000 करोड़ रुपये से अधिक की आय हासिल करेंगे. उन्होंने कहा कि इंटरकनेक्ट उपयोग शुल्क को हटाने के कारण आय में कमी हुई है. बीएसएनएल का घाटा 2019-20 में 15,500 करोड़ रुपये था, जो 2020-21 में घटकर 7,441 करोड़ रुपये रह गया था. बीएसएनएल प्रमुख ने कहा कि हमें चालू वित्त वर्ष में पिछले साल की तरह ही नुकसान की आशंका है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें