लखनऊ Uttar Pradesh: लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी चहल पहल, मंत्रियों को लेकर अटकलें तेज

Uttar Pradesh: लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी चहल पहल, मंत्रियों को लेकर अटकलें तेज

Uttar Pradesh: लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी चहल पहल, मंत्रियों को लेकर अटकलें तेज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नए मंत्रिमंडल के कयासों के बीच यहां पांच कालिदास मार्ग पर मुख्यमंत्री आवास पर जाते हुए देखे गये कुछ चुनिंदा विधायकों को लेकर यह अटकलें तेज हो गईं कि शुक्रवार की शाम को वे लोग मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं.

यहां भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में शुक्रवार की शाम चार बजे शपथ ग्रहण के लिए राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने गुरुवार को भाजपा गठबंधन के विधायक दल के नेता चुने गये योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद की शपथ के लिए न्योता भेजा है. भाजपा सूत्रों ने योगी के साथ करीब 50 मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना जताई है. कुछ विधायकों को मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचने के लिए फोन किये जाने की खबरों के बाद राजनीतिक हलचल बढ़ गई और यह संभावना जताई गई कि मुख्यमंत्री आवास पर बुलाये गये विधायकों को योगी के मंत्रिमंडल में स्थान मिल सकता है. मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचने वालों में विजय लक्ष्‍मी गौतम (सलेमपुर-देवरिया) संजय सिंह गंगवार (पीलीभीत) और राकेश राठौर (सीतापुर) जैसे कुछ नये नाम शामिल हैं तो यह भी अटकलें हैं कि योगी की पिछली सरकार में कानून मंत्री रहे ब्रजेश पाठक, दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के पौत्र संदीप सिंह, जितिन प्रसाद के अलावा पूर्व नौकरशाह ए के शर्मा और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी मौका मिल सकता है.

इसके अलावा पिछली सरकार के कई मंत्रियों को दोबारा मौका मिलने की संभावना है. हालांकि उप मुख्यमंत्रियों के नाम को लेकर अभी तक कोई पुष्टि नहीं हुई है. कुछ पूर्व मंत्रियों के आवासों पर खुशी के दृश्य थे और उनके समर्थक ढोल की थाप पर नाच रहे थे और अपने नेताओं को मंत्री पद मिलने की उम्मीद में नारे लगा रहे थे. आदित्यनाथ और 47 मंत्रियों ने 19 मार्च, 2017 को भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार में शपथ ली थी. संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री सहित कुल 60 मंत्री हो सकते हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें